loading...
केंद्र सरकार ने पशु बाजारों में हत्या के लिए मवेशियों की बिक्री पर लगाया प्रतिबंध कश्मीर: बड़ी कामयाबी, 24 घंटों में सेना ने ढेर किए 10 आतंकी श्वेता तिवारी के फैंस के लिए बुरी खबर, श्वेता तिवारी की मौत बादल के लिए मकान बनवाएं और उसे बस्ता दिलवाकर उसकी पढ़ाई की भी व्यवस्था करें: राहुल गांधी दूरदर्शन बनाएगा मोदी सरकार की योजनाओ पर 14 लघु फिल्मे AIR INDIA का स्वामित्व जल्द निजी हाथों में, कर्ज के चलते हुआ बदलाव सीके खन्ना ने गेंदबाजी कर दिखाया अपना जलवा, दिल्ली स्पो‌र्ट्स पर की जीत दर्ज चैंपियंस ट्रॉफी: भारत और न्यूजीलैंड के अभ्यास मैच में नहीं आया नजर ये बल्लेबाज वसुंधरा राजे को "डिजिटल लीडर ऑफ द ईयर अवॉर्ड"से किया सम्मानित महिला के गले पर झपट्टा मार स्कूटी सवार दो बदमाश ने तोड़ी चेन,CCTV में कैद अजीत आगरकर बने एमसीए चयन समिति के नये अध्यक्ष 759 प्राथमिक कृषि ऋण सहकारी समितियों का होगा कम्प्यूटीकरण ब्रिटानिया का मुनाफा 5.9 फीसदी बढ़ा, 22 रुपए प्रति शेयर के लाभांश की घोषणा भारत ने श्रीलंका भेजी राहत सामग्री के साथ मेडिकल और इमर्जेंसी टीम ट्रेविस हेड ने दिया बड़ा बयान, कहा- विश्व कप के अनुभव से होगा चैंपियंस ट्रॉफी में फायदा पाक बजट : रक्षा क्षेत्र में अब 920 अरब रुपये करेगा खर्च सुदिरमन कप बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे चीन और दक्षिण कोरिया इस गांव में सही तरिके से चोरी करना ही सबसे बड़ी योग्यता,जानिए.... VIDEO: अगर अब तक नहीं देखी है तो अब देख लिजिए आईपीएल पार्टीज के ये अजीब तस्वीरें! दरिंदगी: 7 साल की बच्ची का अपहरण के बाद किया दुष्कर्म, हालत गंभीर
आतंकवाद पर होगी हॉर्ट ऑफ एशिया सम्मेलन में PAK की घेराबंदी
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 09:28:20 AM
1 of 1

नई दिल्ली। पंजाब के अमृतसर में होने वाले ‘हॉर्ट ऑफ एशिया’ सम्मेलन में भारत और अफगानिस्तान आतंकवाद पर पाकिस्तान को असरदार ढंग से घेरने का प्रयास करेंगे वहीं ईरान के चाबहार बंदरगाह परियोजना में रूस और पश्चिम एवं मध्य एशियाई देशों को शामिल करने के बारे में भी बात करेंगे।  अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण को लेकर इस्तांबुल प्रक्रिया के तहत स्थापित हॉर्ट ऑफ एशिया सम्मेलन के छठवें सत्र की थीम सुरक्षा एवं समृद्धि है।

पीएम मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति करेंगे उद्घाटन


यह सम्मेलन तीन और चार दिसम्बर को अमृतसर में आयोजित किया जाएगा जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी संयुक्त रूप से करेंगे। मंत्रीस्तरीय बैठक में अफगानिस्तान की ओर से वहां के विदेश मंत्री हिकमत खलील करजई शामिल होंगे।


सम्मेलन में सरताज अजीज भी होंगे शामिल


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज भी इस सम्मेलन में भाग लेंगे। सम्मेलन के विवरण को साझा करने के लिए आज यहां विदेश मंत्रालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में भारत में अफगानिस्तान के राजदूत शाइदा मोहम्मद अब्दाली ने कहा कि न केवल अफगानिस्तान और भारत बल्कि इस पूरे क्षेत्र की समृद्धि के रास्ते की सबसे बड़ी चुनौती आतंकवाद है। 

सम्मेलन में उठाया जाएगा अतंकवाद का मुद्दा


आगामी सम्मेलन में आतंकवाद निरोधक क्षेत्रीय फ्रेमवर्क  को मंजूरी दिलाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि पिछले साल इस्लामाबाद में हुए पांचवें सम्मेलन में यह फ्रेमवर्क बनाने पर सहमति बनी थी। काफी मशक्कत के बाद तैयार इसके मसौदे को विभिन्न सदस्य देशों को विचार के लिए भेजा गया था और पूरी उम्मीद है कि इस सम्मेलन में इसे मंजूरी मिल जाएगी।


भारत और अफगानिस्तान दोनों ही हैं आतंकवाद से पीड़ित


यह पूछे जाने पर कि भारत और अफगानिस्तान दोनों ही देश सीमापार आतंकवाद से बुरी तरह से पीड़ित हैं और सबको पता है कि आतंकवाद कहां से आता है। वैसे भी दक्षेस आतंकवाद निरोधक फ्रेमवर्क और अन्य ढांचे भी पहले से अस्तित्व में हैं जिनसे आतंकवाद के स्रोत पर कोई लगाम नहीं लग पायी तो ऐसे में इस फ्रेमवर्क से पाकिस्तान पर बाध्यकारी दबाव कैसे बनाया जा सकेगा। अब्दाली ने कहा कि असल सवाल दरअसल यही है। फ्रेमवर्क के मसौदे पर आखिरी दौर की बातचीत जारी है। हमें उम्मीद है कि इस फ्रेमवर्क से प्रभावी ढंग से आतंकवाद के स्रोत पर लगाम लग सके। 

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े : इस शख्स को फरारी कलेक्ट करने का है शौक, खरीद रखी हैं 330 करोड़ की कारें!

यह भी पढ़े :पति ने यौन संबंध बनाने से किया इन्कार, तो पत्नी ने किया ये...

यह भी पढ़े :इतने बड़े खतरनाक हादसे के बाद भी बच निकले ये दोनों बाप-बेटे, VIDEO



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.