loading...
Airtel: ग्राहकों के लिए रोमिंग चार्जेज खत्म करने की तैयारी में POK में मुख्य न्यायाधीश का फरमान, 'अदालती कर्मचारियों का नमाज पढ़ने पर ही बढ़ेगा वेतन' अजहरूद्दीन ने भारतीय टीम को लेकर दिया बड़ा ये बयान, कहा... बेहतर फ्रंट कैमरा से लैस ये हैं टॉप 5 बजट स्मार्टफोन्स, कीमत 7000 रुपये से भी कम, जानिए! ...तो अब ये भूमिका निभाना चाहते हैं विवेक कमजोरी रुख के साथ हुई एशियाई बाजारों की शुरुआत शराबबंदी के बाद महागठबंधन सरकार का पहला बजट आज, बुनकरों के लिए हो सकता है बड़ा ऐलान विजय हजारे ट्राफी में ईडन गार्डन्स पर धोनी ने खेली आकर्षक शतकीय पारी ओलांद ने ट्रंप को बातों-बातों में सुनाई खरी-खोटी फिल्म 'इत्तफाक' में जल्द नजर आएंगी ये जोड़ी अमेजन इंडिया पर माइक्रोमैक्स के हैंडसेट्स पर जबरदस्त ऑफर,जानिए! राज्य में इस्पात संयंत्र की स्थापना के लिए सौर ऊर्जा संयंत्र लगाएगी आर्सेलर-मित्तल व्हाइट हाउस स्थित ओवल ऑफिस में पहली बार ट्रंप से मिले भारतीय राजदूत सरना ISIS में शामिल भारतीय युवक की ड्रोन हमले में मौत 'किक 2' एमी जैक्सन नहीं बल्कि नजर आएंगी ये एक्ट्रेस रिलायंस जियो यूजर ने इस सेवा को समय रहते सब्सक्राइब नहीं किया तो ये होगा! 28 फरवरी को रहेंगी सभी बैंको की हड़ताल अखिलेश ने मोदी पर साधा निशाना- PM कब करेंगे काम की बात चुनाव विशेष: पूर्वांचल को अलग राज्य का दर्जा दिलवाएगी मायावती आज का राशिफल (27 फरवरी 2017,सोमवार)
वैश्विक मामलों पर मोदी पर किताब का विमोचन
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 12:32:34 AM
1 of 1

लंदन। यहां भारतीय उच्चायोग में विदेश नीति और वैश्विक मामलों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण पर एक किताब का विमोचन किया गया ।

‘द मोदी डाक्ट्रिन : न्यू पेरडाइम इन इंडियाज फॉरेन पॉलिसी’ मोदी नीत भाजपा सरकार के दौरान विश्व के साथ भारत के संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने वाले लेखकों के लेखों का संग्रह है । कल इस दौरान विषय पर पैनल चर्चा भी हुई ।

सूत्रों के अनुसार- भाजपा के विदेश मामलों के विभाग के प्रमुख और किताब के संपादकों में से एक विजय चौथईवाले ने कहा, प्रत्येक अध्याय अपने-अपने क्षेत्र के विशेषज्ञों और विश्लेषकों द्वारा लिखा गया है जिससे किताब में असाधारण विश्वसनीयता और निष्पक्षता आती है । पैनल चर्चा का संचालन मनोज लाडवा ने किया जिन्होंने 2014 में मोदी के चुनाव प्रचार अभियान के अनुसंधान, विश्लेषण और संदेश प्रभाग का नेतृत्व किया था ।

चर्चा में उद्योगपति एवं भाजपा के पश्चिम बंगाल के नेता शिशिर बाजौरिया तथा लंदन में इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर स्ट्रेटेजिक स्टडीज में दक्षिण एशिया मामलों के वरिष्ठ फेलो राहुल रॉय चौधरी भी शामिल थे । वे सभी इस बात से सहमत नजर आए कि मोदी सरकार के तहत भारत की कूटनीति को एक तेज धार मिली है जिससे देश ‘‘कूटनीतिक सर्वोच्च शक्ति’’ बनाने की दिशा में आगे बढ़ सकता है ।

ब्रिटेन में कार्यवाहक भारतीय उच्चायुक्त निदेश पटनायक ने कहा, ‘‘महत्व इससे ही पता चल जाता है कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने यूरोप से बाहर अपनी पहली द्विपक्षीय यात्रा के लिए भारत को चुना । भारत के पास प्रधानमंत्री मोदी के रूप में सर्वश्रेष्ठ दूत हैं ।

 

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: यहां पर तैयार किया जा रहा है दुनिया का सबसे ऊंचा धार्मिक स्थल

यह भी पढ़े: कहीँ गधे पर तो कही बीच पर है लाइब्रेरी ... पढ़िए कुछ अजीब लाइब्रेरी

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.