प्रधानमंत्री कौन से धन से चुनाव जीते, यह बताने से कतरा क्यों रहे हैं - गहलोत शिक्षक ने की छात्रा से छेड़खानी 'कहानी 2' के सेट पर विद्या बालन को हो गया था इनसे प्यार सुब्रमण्यम स्वामी को अयोध्या मसले में पक्षकार मानने से मुस्लिम बोर्ड का इन्कार विदेश में नौकरियां आउटसोर्स करने वाली कंपनियों पर 35 फीसदी कर लगाने की ट्रंप ने दी चेतावनी.. राहिल शरीफ बने बहुराष्ट्रीय इस्लामी आतंकवाद विरोधी बल के प्रमुख दक्षिण अफ्रीका ने पहली गोल्फ टेस्ट श्रृंखला में भारत को हराया.. जाधवपुर विश्वविद्यालय के मुख्य छात्रावास में फांसी पर लटका मिला छात्र चंद्रबाबू नायडू की रिश्तेदार दस लाख के पुराने नोटों के साथ पकड़ी गई जर्मन कोच: भारत हाकी विश्व कप में खिताब का प्रबल दावेदार.. महेश भट्ट की बेटी को है यह बीमारी... लूट की योजना बनाते चार गिरफ्तार सम्मेलन में भारत और अफगानिस्तान ने आतंक के मुद्दे पर पाक को घेरा.. सरताज अजीज को स्वर्ण मंदिर मे घुसने से मना किया तीन बार प्यार हुआ, उन्हें बदले में प्यार करने वाली कोई नहीं मिली: करन जौहर जयललिता को पड़ा दिल का दौरा शरीफ हैं ट्रंप से मिलने को इच्छुक, अगले महीने कर सकते हैं अमेरिका यात्रा जेल से पैरोल पर आने के बाद वापस न जाने का आरोपी गिरफ्तार मोदी के बाद अब केजरीवाल भी करेंगे परिवर्तन रैली इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे से पहले धोनी के लिये कोई मैच नहीं?
वैश्विक मामलों पर मोदी पर किताब का विमोचन
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 12:32:34 AM
1 of 1

लंदन। यहां भारतीय उच्चायोग में विदेश नीति और वैश्विक मामलों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण पर एक किताब का विमोचन किया गया ।

‘द मोदी डाक्ट्रिन : न्यू पेरडाइम इन इंडियाज फॉरेन पॉलिसी’ मोदी नीत भाजपा सरकार के दौरान विश्व के साथ भारत के संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने वाले लेखकों के लेखों का संग्रह है । कल इस दौरान विषय पर पैनल चर्चा भी हुई ।

सूत्रों के अनुसार- भाजपा के विदेश मामलों के विभाग के प्रमुख और किताब के संपादकों में से एक विजय चौथईवाले ने कहा, प्रत्येक अध्याय अपने-अपने क्षेत्र के विशेषज्ञों और विश्लेषकों द्वारा लिखा गया है जिससे किताब में असाधारण विश्वसनीयता और निष्पक्षता आती है । पैनल चर्चा का संचालन मनोज लाडवा ने किया जिन्होंने 2014 में मोदी के चुनाव प्रचार अभियान के अनुसंधान, विश्लेषण और संदेश प्रभाग का नेतृत्व किया था ।

चर्चा में उद्योगपति एवं भाजपा के पश्चिम बंगाल के नेता शिशिर बाजौरिया तथा लंदन में इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर स्ट्रेटेजिक स्टडीज में दक्षिण एशिया मामलों के वरिष्ठ फेलो राहुल रॉय चौधरी भी शामिल थे । वे सभी इस बात से सहमत नजर आए कि मोदी सरकार के तहत भारत की कूटनीति को एक तेज धार मिली है जिससे देश ‘‘कूटनीतिक सर्वोच्च शक्ति’’ बनाने की दिशा में आगे बढ़ सकता है ।

ब्रिटेन में कार्यवाहक भारतीय उच्चायुक्त निदेश पटनायक ने कहा, ‘‘महत्व इससे ही पता चल जाता है कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने यूरोप से बाहर अपनी पहली द्विपक्षीय यात्रा के लिए भारत को चुना । भारत के पास प्रधानमंत्री मोदी के रूप में सर्वश्रेष्ठ दूत हैं ।

 

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: यहां पर तैयार किया जा रहा है दुनिया का सबसे ऊंचा धार्मिक स्थल

यह भी पढ़े: कहीँ गधे पर तो कही बीच पर है लाइब्रेरी ... पढ़िए कुछ अजीब लाइब्रेरी

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.