loading...
अगले चार साल तक इंडियन सुपर सीरिज टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा भारत Healthy Tips: वजन कम करने के ये तरीके भूलकर भी ना अपनाएं, पढ़िए ताजा शोध! आज का राशिफल (28 मार्च 2017, मंगलवार) Tips: जानिए गर्मियों के दौरान तेज धूप में मुहांसों से बचने के आसान उपाय! Intex ने लॉन्च किया Aqua 4G mini हैंडसेट, जानें कीमत और खासियत! सर्दी में गर्म और गर्मी में ठंडा रहता हैं इस कुंड का पानी! पिंजरे में रहने को मजबूर यहाँ के लोग, जानें वजह! Hanging Temple: हवा में झूलते खम्भे पर टिका हैं यह मंदिर, जानें इतिहास! छत्तीसगढ़: 2 हजार साल पुराने शिवलिंग से आती हैं तुलसी के पत्तों की खुश्बू, जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ! Mystery: इस रहस्यमयी खजाने को पाने के चक्कर में कइयों ने गवाई जान! हाईटेक भिखारी: क्रेडिट और डेबिट कार्ड से भीख लेता हैं यह भिखारी! OMG: दो रुपये के पीछे हुई हाथापाई, वृद्ध ने गवाई जान! ‘कृत्रिम दिल’ की बदौलत 555 दिनों तक जीते रहे ब्रिटेन के लार्किन! गोलगप्पे का स्वाद बढ़ाने के लिए कर डाला ये हैरान कर देने वाला काम! OMG: TV का रिमोट चुराने पर हो गयी 22 साल की जेल! ये हैं भारत के 7 करोड़पति भिखारी, जानें रोज की कमाई? सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र के पुत्र रोहिताश्व ने करवाया था इस किले का निर्माण, दीवारों से खून.. जानें इतिहास भारत में मुस्लिम दूसरा सबसे बड़ा बहुसंख्यक: आजाद VIDEO: इस फिल्म में रॉ एजेंट की भूमिका निभायेंगे सुशांत सिंह डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती, 65 रुपये के स्तर पर आया
10 लाख Google अकाउंट पर मंडरा रहा है खतरा, एंड्रॉइड में 'गूलीगन' मालवेयर का असर
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 12:02:43 PM
1 of 1

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन Google से जुड़े 10 लाख अकाउंट्स की सिक्योरिटी पर खतरा मंडरा रहा है। इसकी वजह एंड्रॉइड मालवेयर के नए वर्जन गूलीगन (Gooligan) है। ऑनलाइन सि‍क्‍युरि‍टी कंपनी चेक प्वाइंट सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजीज के मुताबि‍क गूलीगन ने गूगल के 10 लाख से ज्यादा अकाउंट्स का पर्सनल डाटा चुरा लिया है। इस बारे में गूगल ने भी बयान जारी कर कहा है कि उन्हें इसके बारे में जानकारी है और वो इसे लेकर सख्त कदम उठा रहे हैं। 


क्या है मामला

चेक प्‍वाइंट के हेड ऑफ मोबाइल प्रोडक्‍ट्स माइकल शोलोव के मुताबिक गूलीगन ने 10 लाख गूगल अकाउंट में सेंधमारी कर पर्सनल डि‍टेल चोरी की हैं। ये काफी खतरनाक है और यह नेक्‍स्‍ट स्टेज के साइबर अटैक्‍स को दिखलाता है। इससे जीमेल, गूगल फोटो, गूगल प्ले व गूगल डॉक्स से यूजर्स की जानकारी चुराई जा सकती है। माइकल ने बताया कि पिछले एक साल में हैकर्स ने अपनी स्ट्रेटजी को पूरी तरह बदल दिया है। अब हैकर्स पर्सनल कम्प्यूटर्स की जगह मोबाइल डिवाइसेज को टार्गेट कर रहे हैं। 


क्या कर रहा है Gooligan मालवेयर

चेक प्‍वाइंट की रि‍पोर्ट में बताया गया है कि ये मालवेयर रोजना 13,000 डि‍वाइसेस पर असर डाल रहा है। अब तक गूलीगन एंड्रॉइड 4 (जेली बीन, कि‍टकैट) और 5 (लॉलीपॉप) को टारगेट कर रहा है। मार्केट में मौजूद कुल एंड्रॉइड डि‍वाइसेस में इनकी हि‍स्‍सेदारी करीब 74% है। इसमें से 40% डि‍वाइसेस एशि‍या में और करीब 12 फीसदी यूरोप में हैं। इस रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स डि‍वाइसेस पर कंट्रोल करने के बाद गलत तरीके से रेवेन्‍यू जुटाते हैं। वे गूगल प्‍ले से ऐप्‍स इंस्‍टॉल करते हैं और डि‍वाइस के असल मालि‍क की ओर से रेटिंग देते हैं।  रि‍पोर्ट में यह भी कहा गया है कि गूलीगन रोजाना करीब 30 हजार ऐप्‍स इंस्‍टॉल कर रहा है। इन्फेक्शन तब शुरू होता है जब यूजर गूलीगन प्रभावि‍त ऐप डाउनलोड और इंस्‍टॉल करता है। चेक प्‍वाइंट ने कहा कि उन्‍होंने गूगल सि‍क्‍युरि‍टी टीम को इस कैंपेन की जानकारी दी है।   

 
गूगल का क्या कहना है

गूगल के डायरेक्‍टर (एंड्रॉइड सि‍क्‍युरि‍टी) एड्रि‍यन लूडविंग ने कहा, ''हम चेक प्‍वाइंट की पार्टनरशि‍प की सराहना करते हैं और मि‍लकर इस मामले पर एक्‍शन लेंगे। मालवेयर की घोस्‍ट पुश फैमि‍ली से अपने यूजर्स को सुरक्षा देने के लि‍ए कंपनी की ओर से कई कदम उठाए गए हैं और पूरे एंड्रॉइड ईको-सि‍स्‍टम की सि‍क्‍युरि‍टी को सुधारा गया है।

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े : इस शख्स को फरारी कलेक्ट करने का है शौक, खरीद रखी हैं 330 करोड़ की कारें!

यह भी पढ़े :पति ने यौन संबंध बनाने से किया इन्कार, तो पत्नी ने किया ये...

यह भी पढ़े :इतने बड़े खतरनाक हादसे के बाद भी बच निकले ये दोनों बाप-बेटे, VIDEO



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.