'साथ निभाना साथिया' की गोपी बहू ने सेलिब्रेट किया अपना 30 वां जन्मदिन शरियत में दखलअंदाजी कर रहा सुप्रीम कोर्ट: दारुल उलूम BSE की 200 कंपनियों के कारोबार पर लगाई रोक बैडमिंटन: मिश्रित युगल में रंकीरेड्डी-मनीषा की जोड़ी दूसरे दौर में बाहर 14 साल छोटी लड़की के साथ शादी करेंगे 'दिया और बाती हम' के 'सूरज सा' आज बैंक रहें हड़ताल पर, 35 हजार करोड़ का लेनदेन ठप 200 CEO में बोले मोदी - 'न्यू इंडिया' के लिए एक सैनिक बने पुजारा-हरमनप्रीत सहित 17 खिलाड़ियों को करेंगे राष्ट्रपति अर्जुन अवार्ड से सम्मानित चुनावों में होता है ऐसा माहौल जिसके वजह से सामने आते है बागी वाड्रा के बीकानेर जमीन डील मामले की सीबीआई जांच, बोला कांग्रेस पर हमला सोहा ने योगा करते दिखाया अपना बेबी बंप, फैंस ने किया ऐसा कमेंट स्पॉन्सर नाइकी किट से नाखुश टीम इंडिया, BCCI से की शिकायत चीन में सितंबर से दौड़ेगी दुनिया की सबसे तेज बुलेट ट्रेन हिरण शिकार मामले की अगली सुनवाई 30 अगस्त को 'TripleTalaq': इस प्रथा का 35 साल पहले फिल्म के जरिये इस लेखिका ने किया था विरोध लाहौर में वर्ल्ड इलेवन की कमान संभाल सकते है अमला-फाफ डु प्लेसी पीएम मोदी: 9,500 से अधिक सड़क परियोजनाओं का करेंगे शुभारंभ ट्रिपल तलाक: SC के फैसले पर इन बॉलीवुड हस्तियों ने दिया अपना रिएक्शन तीन तलाक पर बोले आजम खां - धार्मिक आस्थाओं से खिलवाड़ न हो यदि प्रेमी से झगड़ा या गुस्सा हो तो कभी भी ना करें ऐसा...!
नॉर्थ कोरिया की कैद से रिहा हुए अमेरिकी छात्र की मौत, डोनाल्ड ट्रंप ने साधा निशाना
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 10:05:53 AM
1 of 1

 

प्योंगयांग। नॉर्थ कोरिया की कैद से कोमा की हालत में रिहा हुए अमेरिकी कॉलेज छात्र की मौत हो गई है। इनके ऊपर आरोप था कि उन्होंने नोर्थ कोरिया का प्रोपेगेंडा पोस्टर चोरी करने की कोशिश की थी। इसके लिए उन्हें 15 साल की सजा सुनाई गई थी। बता दें कि मंगलवार 13 जून को इन्हें रिहा किया गया था। बता दें कि यूनिवर्सिटी ऑफ वर्जिनिया के छात्र को 17 महीने तक जेल में रखा गया और पिछले हफ्ते इलाज के लिए उत्तरी कोरिया से लाया गया था। इनकी उम्र 22 साल थी। और इनका नाम ऑटो वॉर्मवियर था। मौत की सूचना इनके परिवार के द्वारा दी गई। यूसी हेल्थ सिस्टम द्वारा जारी एक बयान में उसके परिवार ने कहा गया है, 'दुख के साथ हमें बताना पड़ रहा है, कि हमारे बेटे ऑटो वॉर्मबियर की 2.20 बजे मौत हो गई।' वह अपने घर पर पहुच चुका था जब उसकी मौत हुई थी। 

 

छात्र के परिवार ने इलाज के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ सिनसनैटी मेडिकल सेंटर को धन्यवाद कहा। उन्होंने कहा कि 'दुर्भाग्यपूर्ण रूप से उत्तरी कोरिया के हाथों मेरे बेटे को जिस दर्दनाक व्यवहार से गुजरना पड़ा, उससे हम जो दुखद अनुभव का सामना कर रहे हैं, उसके सिवा कोई और नतीजा संभव नहीं हुआ।' डॉक्टरों ने बताया कि जब वह लौटा तो वह ब्रेन डैमेज का शिकार था। इसका पता नहीं लग पाया कि यह कैसे हुआ। बता दें कि उत्तरी कोरिया वॉशिंगटन और दक्षिणी कोरिया पर अपनी सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए जासूसों को भेजने का आरोप लगाता है।

ऑटो वॉर्मवियर के साथ कब क्या हुआ
30 दिसंबर 2015 - वॉर्मवियर टूर ग्रुप के साथ बीजिंग से प्योंगयांग की यात्र के लिए गए थे। 2 जनवरी 2016 - उसे प्योंगयांग अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया गया है। उस महीने बाद में, उत्तर कोरिया ने घोषणा की कि यह एक "शत्रुतापूर्ण कृत्य" है। 16 मार्च 2016 - वॉर्मवियर के भपर प्योंगयांग में मुकदमा चला, जहां उन्होंने एक प्रचार पोस्टर चुराने की बात कबूल की। जहां उसे 15 साल की सजा सुनाई गई।

ऐसा बताया जा रहा है कि इसके तुरंत बाद एक कोमा में चले गए थे। जून 2017 - अमेरिकी अधिकारियों और श्री वॉर्मवियर के माता-पिता को उनकी स्थिति के बारे में बताया गया था।13 जून 2017 - वह उत्तर कोरिया से रिहा हुआ है और अमेरिका के लिए लाए गए। डॉक्टरों का कहना है कि वो ब्रेन डैमेज के शिकार थे। 19 जून 2017 - वार्मबियर की मौत हो गई। 

तीन अमेरिकी अभी भी है जेल में
टिलरसन ने कहा कि राज्य विभाग अन्य तीन अमेरिकी नागरिकों की रिहाई के लिए उत्तरी कोरिया के साथ बात करने की कोशिश कर रहा है। किम हाक सोंग प्योंगयांग विश्वविद्यालय के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग में काम करते थे. हालांकि मई महीने की शुरुआत में उन्हें दुश्मनों के लिए काम करने के आरोपों में जांच के लिए हिरासत में ले लिया गया।

टोनी किम, जो अपने कोरियाई नाम किम सोंग-डुक के नाम से भी जानें जाते है, को प्योंगयांग हवाई अड्डे से 22 अप्रैल को हिरासत में लिया गया था। वह भी विश्वविद्यालय में पढ़ाया करते थे। इनके ऊपर उन सरकार के तख्तापलट के लिए आपराधिक कार्यों में शामिल होने का आरोप था। दक्षिण कोरिया में जन्में अमेरिकी नागरिक किम दांग चुल को अप्रैल 2016 में जासूसी का दोषी ठहराए गया। उन्हें 10 साल की कैद ए बामुशक्कत की सजा सुनाई गई थी। 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.