ट्रक की चपेट में आने से छात्रा की मौत वाह रे किस्मत : अब कुत्ते भी करेंगे बस में सफर... आस्ट्रेलियन ओपन: पेस और आंद्रे सा डबल्स के पहले ही मैच में हारकर बाहर जानिए! आखिर पूजा करते वक्त क्यों जलाते हैं अगरबत्ती? मासूम से गैंगरेप मामले में 3 दोषियों को फांसी की सजा बाप रे! शवों रखते है अपने पास, करते है कई सालो तक सेवा... JIO यूजर्स को 31 मार्च के बाद भी मिलेगा हैप्पी न्यू ईयर ऑफर, ये होंगे प्लान... पीपल्स च्वाइस अवॉर्ड्स में स्टनिंग लुक में दिखी प्रियंका... राष्ट्रीय जांच एजेंसी को आरोपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की जमानत से कोई ऐतराज़ नहीं ओबामा को उम्मीद, कोई हिन्दू भी हो सकता है अमेरिका का राष्ट्रपति जयराम और सायना मलेशिया मास्टर्स बैडमिंटन के क्वार्टर फाइनल में एक दम बोल्ड और आशिकाना अंदाज में दिखें कंगना-शाहिद... दिल्ली पुलिस के आयुक्त आलोक कुमार वर्मा नए सीबीआई प्रमुख नियुक्त हरियाणा हैमर्स को हरा पंजाब रॉयल्स बना पीडब्ल्यूएल 2 का चैंपियन भारत का चीन को जवाब, 'गिफ्ट के तौर पर नहीं चाहते एनएसजी सदस्यता' बच्चे को दिया जन्म,पर समझ नई आता पुरुष हैं या महिला स्टार प्लस पर 'कोई लौटकर आया है' जसवंतनगर से ही चुनाव लड़ेंगे शिवपाल शाहरुख खान के बिजनेस पार्टनर पर रेप का आरोप महानदी और उसकी सहायक नदियों पर विचार-विमर्श के लिए समिति गठित
बड़ी खबर : अमेरिकी सरकार ने कहा भारत के साथ संबंध होंगे मजबूत
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 10:40:53 PM
1 of 1

वाशिंगटन। सूत्रों के अनुसार  पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ के भारत के कदम का समर्थन करते हुए अमेरिका के प्रभावशाली नीति निर्माताओं के एक समूह और पूर्व रक्षा अधिकारियों ने आज कहा कि इस्लामी चरमपंथ का मुकाबला करने के लिए भारत के साथ संबंध मजबूत करना मौजूदा और अगले प्रशासन के लिए शीर्ष प्राथमिकता होनी चाहिए।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

समूह ने ट्रम्प, हिलेरी प्रचार अभियान और ओबामा प्रशासन को लिखे एक खुले पत्र में कहा है कि अमेरिका हिंद प्रशांत क्षेत्र को फिर से संतुलित करने का काम जारी रखे हुए हैं ऐसे में वाशिंगटन और नयी दिल्ली के बीच रणनीतिक, आर्थिक और सैन्य साझेदारी बढ़ाना सबसे अधिक अहमियत रखता है। पत्र में कहा गया है कि दुनिया के दो सबसे बड़े दो लोकतंत्रों में रक्षा सहयोग बढ़ाना चीन की बढ़ती सक्रियता से पैदा होने वाली चुनौतियों के खिलाफ एकजुट होकर खड़े होना अमेरिका के अगले राष्ट्रपति के लिए एजेंडा में शीर्ष पर होना चाहिए। 

एशिया..प्रशांत मुद्दों पर ट्रम्प के प्रचार अभियान के सलाहकार पुनीत आहलूवालिया और कांग्रेस में पूर्व वरिष्ठ सलाहकार एलेक्जेंडर ग्रे द्वारा यह पहल की गई। इस पत्र के जरिए ओबामा प्रशासन, राष्ट्रपति चुनाव के दोनों उम्मीदवारों को क्षेत्र को दी जाने वाली पूरी विदेशी सहायता की समीक्षा करने की अपील की गई है। इसका यह मकसद है कि अमेरिकी कर दाताओं के डॉलर का इस्तेमाल अमेरिकी नागरिकों पर हमले और क्षेत्र में लोकतांत्रिक साझेदारों पर नहीं हो सके।

इसने कहा है कि कांग्रेस में व्यापक अनुभव होने के नाते हम भारत के लोगों के साथ अपनी एकजुटता जाहिर करते हैं क्योंकि वे अपने देश और मूल्यों को हिंसक इस्लामवाद से बचाना चाहते हैं। पत्र में कहा गया है कि भारत सरकार और नागरिकों को निशाना बना कर किए गए हमलों में हाल में तेजी आने पर नयी दिल्ली अपनी संप्रभुता और लोगों को बचाने के लिए सक्रिय कदम उठा रहा है। इसमें कहा गया है, ‘‘हम सभी अमेरिकी लोगों से भारत में अपने दोस्तों के साथ खड़े होने का अनुरोध करते हैं क्योंकि वे लोग आतंकवाद के खिलाफ खुद की रक्षा कर रहे हैं। साथ ही वे एक अधिक शांतिपूर्ण और समृद्ध हिंद प्रशांत क्षेत्र बनाने के लिए अमेरिका के साथ काम कर सकें।’’

यह भी पढ़े : भागदौड़ भरी जिंदगी मे यूं लगाएं सेक्स लाइफ में तड़का...!

यह भी पढ़े : मजेदार! जानकर होगी हैरानी.. गर्लफ्रेंड के दूर जाते ही लड़के जरूर करते है यह हरकत

यह भी पढ़े : जब महिला ने एक साथ दिया 4 बच्चों को जन्म

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.