भारतीय पहलवान का पहला दिन खराब, पहले ही दौर में हारे एफआईआर की प्रति अब मिलेगी ऑनलाईन, जानिए कैसे बूढादीत में स्थित प्राचीन सूर्य मंदिर को बनाया निशाना, आरोपियों को पकड़ा कैसे रूक पायेंगे रेल हादसे ? कपिल शर्मा ने सिद्धू के साथ मनमुटाव पर अपनी तोड़ी चुप्पी संदेश ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें बड़ी लीग में खेलना चाहिए: कांस्टेनटाइन काश कि रेल बजट तकनीक केन्द्रित होता राजस्थान ने लॉन्च की 'हैलो इंग्लिश प्रिमियम' एप, अंग्रेजी ज्ञान को बनाएगी बेहतर अतिक्रमण हटाने गए नगर परिषद के कर्मचारियों पर चले लात घूसे एटीपी रैंकिंग में एंडी मरे को पछाड़ नडाल टॉप पर "फिल्मों का बदलता ट्रेंड " सरकार ने बढ़ाई भीम कैशबैक योजना की अवधि, मार्च तक मिलेगा कैशबैक तीन तलाक मुद्दे पर कल सुप्रीम कोर्ट लेगा अहम फैसला मिताली राज का करारा जवाब, कहा- मैंने मैदान पर पसीना बहाया एक्सकेवेटर मशीन की चपेट में आने से गई मासूम की जान राष्ट्रपति ने किया लेह का दौरा, दिल्‍ली से बाहर उनकी प्रथम यात्रा इंडीज क्रिकेट बोर्ड ने दी पाक दौरे को मंजूरी, खेलेंगे T20 इंटरनेशनल मैच विपक्ष की एकता में मायावती ने डाली फुट, लालू की रैली में नहीं होगी शामिल बाइक सवार दो बदमाशों ने महज 57 सैकंड में उड़ाए 57 लाख गर्ल्स टॉयलेट में रिकॉर्डिंग के लिए छिपाया मोबाइल, कोई और नहीं बल्कि स्कूल का ही चौकीदार
बांग्लादेश अपनी सरजमीं का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होने देगा: शेख हसीना
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 11:07:37 AM
1 of 1

ढाका। आतंकवाद के खिलाफ ‘बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करने’ की नीति का संकल्प लेते हुए बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने आज भारत को भरोसा दिलाया कि बांग्लादेश किसी भी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिए अपनी सरजमीं का इस्तेमाल नहीं होने देगा।  

बांग्लादेश के दौरे पर पहुंचे रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज हसीना से उनके आधिकारिक निवास गणभवन में मुुलाकात की और दोनों देशों के बीच सैन्य एवं सुरक्षा संबंधों को मजबूत बनाने के कदमों पर चर्चा की। हसीना ने पर्रिकर से कहा कि हम किसी भी तरह के आतंकवाद और चरमपंथ को बर्दाश्त नहीं करेंगे और हम अपनी सरजमीं का इस्तेमाल किसी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिये नहीं होने देंगे।  

हसीना के प्रेस सचिव अहसनुल करीम के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने मुक्ति संग्राम में भारतीय सशस्त्र बलों के योगदान को याद किया और पर्रिकर से कहा कि वह अपने आगामी भारत दौरे पर उन भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगी जिन्होंने 1971 के मुक्ति संग्राम में अपना बलिदान दिया। पर्रिकर ने कहा कि एक मित्र देश के तौर पर हमारी नैतिक जिम्मेदारी थी कि हम मुक्ति संग्राम में बांग्लादेश की सहायता करें और हमने सहयोग किया। मुलाकात के बाद पर्रिकर ने हसीना को उस हेलीकॉप्टर की एक प्रतिकृति सौंपी जिसका इस्तेमाल बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के वक्त हुआ था। उन्होंने उस युद्ध में भाग लेने वाले जवानों की तस्वीरें भी सौंपीं। 

यह भी पढ़े : 3 तलाक के विरोध में जज को लिख डाला खून से खत

यह भी पढ़े : पर्दा प्रथा ! भारत में इस तरह शुरुआत हुई पर्दा प्रथा की, बड़ी दिलचस्प है वजह

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.