loading...
loading...
loading...
भारत में क्रिकेट खेल साथ साथ धर्म भी प्रशासन की सख्ती के बावजूद फिर अवैध रूप से गर्भपात संकल्प कैंप में बच्चों को गुरुबाणी, गुरु इतिहास और रहित मर्यादा बारे जानकारी दी पेय पदार्थ के नाम पर दुकानदार परोस रहे है जहर भारत और विश्व के इतिहास में 27 जून की प्रमुख घटनाएं रेशा देवी ने कहा- युवाओं को नशे से दूर करने के लिए धर्म के साथ जोड़े दार्जिलिंग: भारी बारिश और बंद के माहौल में मुस्लिमो ने मनाया ईद-उल-फितर रमन शर्मा ने कहा- अापातकाल देश के इतिहास में काला दिन खाना खजाना प्रतियोगिता में महिलाओं ने दिखाया उत्साह कंडबाड़ी में NGO परिवर्तन द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन बालड़ी रक्षक योजना ने तोडा दम स्वास्थ्य को लेकर महिलाओं का उदासीन रवैया इफ्तार पार्टी है नौटंकी, इसकी हमे क्या जरूरत: गिरिराज सिंह 2018 से बदल सकता है वित्त वर्ष, इस साल नवंबर में पेश हो सकता है बजट WWC 2017: ऑस्ट्रेलिया का विजयी आगाज, इंडीज को दी 8 विकेट से शिकस्त दिल्ली के नामी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी के वेयर हाउस में 37 लाख रुपये की लूट 3 जुलाई को भोपाल में होगा ग्लोबल स्किल पार्क का शिलान्यास: चौहान मोदी के सपोर्ट में न्यूड होने वाली हॉट एक्ट्रेस ने थामा एनसीपी का दामन बैंक मैनेजर पिता 6 माह से कर रहा था अपनी बेटी के साथ ऐसा शर्मनाक काम ... भोपाल में पंचायती राज मंत्रियों का सम्मेलन 27 जून को होगा आयोजित
बांग्लादेश अपनी सरजमीं का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं होने देगा: शेख हसीना
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 11:07:37 AM
1 of 1

ढाका। आतंकवाद के खिलाफ ‘बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करने’ की नीति का संकल्प लेते हुए बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने आज भारत को भरोसा दिलाया कि बांग्लादेश किसी भी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिए अपनी सरजमीं का इस्तेमाल नहीं होने देगा।  

बांग्लादेश के दौरे पर पहुंचे रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज हसीना से उनके आधिकारिक निवास गणभवन में मुुलाकात की और दोनों देशों के बीच सैन्य एवं सुरक्षा संबंधों को मजबूत बनाने के कदमों पर चर्चा की। हसीना ने पर्रिकर से कहा कि हम किसी भी तरह के आतंकवाद और चरमपंथ को बर्दाश्त नहीं करेंगे और हम अपनी सरजमीं का इस्तेमाल किसी देश के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिये नहीं होने देंगे।  

हसीना के प्रेस सचिव अहसनुल करीम के मुताबिक, प्रधानमंत्री ने मुक्ति संग्राम में भारतीय सशस्त्र बलों के योगदान को याद किया और पर्रिकर से कहा कि वह अपने आगामी भारत दौरे पर उन भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगी जिन्होंने 1971 के मुक्ति संग्राम में अपना बलिदान दिया। पर्रिकर ने कहा कि एक मित्र देश के तौर पर हमारी नैतिक जिम्मेदारी थी कि हम मुक्ति संग्राम में बांग्लादेश की सहायता करें और हमने सहयोग किया। मुलाकात के बाद पर्रिकर ने हसीना को उस हेलीकॉप्टर की एक प्रतिकृति सौंपी जिसका इस्तेमाल बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम के वक्त हुआ था। उन्होंने उस युद्ध में भाग लेने वाले जवानों की तस्वीरें भी सौंपीं। 

यह भी पढ़े : 3 तलाक के विरोध में जज को लिख डाला खून से खत

यह भी पढ़े : पर्दा प्रथा ! भारत में इस तरह शुरुआत हुई पर्दा प्रथा की, बड़ी दिलचस्प है वजह

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.