loading...
paytm ने किया ‘डिजिटल सोने’ की शुरुआत के लिए MMTC-PAMP के साथ गठबंधन प्लेन हाईजैक को लेकर यात्री ने PM किया ट्वीट, जयपुर में मचा हड़कंप सहारा प्रमुख का पैरोल 19 जून तक बढ़ा, वक्त पर 1,500 करोड़ रुपए भुगतान नहीं किया तो होगी जेल बंगाल में शाह की चुनौती पर बोलीं ममता, कहा- दिल्ली पर कब्जा करेगी तृणमूल वाड्रा ने गलत तरीके से कमाया 50.50 करोड़ रुपये का मुनाफा: ढींगरा कमिशन मेरी प्रॉपर्टी से रॉबर्ट वाड्रा का कोई लेने देना नहीं है: प्रियंका गाँधी चौथी तिमाही में मारुति सुजुकी के शुद्ध लाभ में हुई बढ़ोतरी फिर 8 महीने बाद आतंकी हमला, इन जवानों ने मार गिराया दो आतंकियों को यूनाइटेड एयरलाइंस ने कन्फर्म सीट छोड़ने वाले यात्रियों के लिए हर्जाने का किया ऐलान नोटबंदी से पहले RBI ने 500 और 2000 रुपए के नए नोटों का उचित स्टॉक जुटा लिया था: गवर्नर फिर 8 महीने बाद आतंकी हमला, इन जवानों ने मार गिराया दो आतंकियों को नींबू के छिलकों को फेंकने से पहले जान लो ये फायदे बाथरूम में करते हैं स्मार्टफोन का यूज तो हो जायें सावधान! सुबह उठने के 60 सेकंड्स के अन्दर खाली पेट पीना चाहिए पानी आखिर कौन बने सनी लियोनी के चाहते क्रिकेटर अगर बच्चे के पास आती हैं कामुक तस्वीरें तो माता-पिता को जाएगा अलर्ट मैं ढंग से झूठ नहीं बोल पाती हूं: एमा वाटसन "मैं कॉमेडियन नहीं":सुनील ग्रोवर ये है दुनिया का एक ऐसा देश, जहां मौत पर है पाबंदी नरगिस फाखरी कर रही है एक पाकिस्तानी एक्टर को डेट!
BRICS: चीन की वजह से PM मोदी के अरमान नाकामयाब!
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 11:22:43 AM
1 of 1

नई दिल्ली। गोवा में रविवार को 8वां ब्रिक्स सम्मेलन संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए उसे आतंकवाद की 'जन्मभूमि' करार दिया। लेकिन चीन की वजह से मोदी की रणनीति पूरी तरह से कामयाब नहीं हो पाई।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा ठंडे बस्ते में
चीन की मौजूदगी में सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा ठंडे बस्ते में ही जाना था, लेकिन भारत को उम्मीद थी कि भारत में सक्रिय लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद जैसे आंतकी संगठनों का जिक्र किया जाएगा। समिट सेक्रटरी (इकनॉमिक रिलेशंस) और इंडिया ब्रिक्स टीम की अगुवाई कर रहे अमर सिन्हा ने बताया कि घोषणापत्र में ब्रिक्स देशों के बीच इन आतंकी संगठनों के जिक्र को लेकर आम सहमति नहीं बन सकी। अमर सिन्हा ने माना कि गोवा घोषणा पत्र में सीमा पार आतंकवाद जुमले और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी गुटों को शामिल करने पर सहमति नहीं बन सकी क्योंकि साउथ अफ्रीका और ब्राजील इस तरह की आतंकवादी गतिविधियों को नहीं झेल रहे हैं।

उरी आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा 
गोवा घोषणा पत्र में सीमा पार आतंकवाद का जिक्र नहीं किया गया, लेकिन ब्रिक्स के 4 अन्य सदस्यों- रूस, चीन, ब्राजील और साउथ अफ्रीका ने कड़े शब्दों में उरी आतंकी हमले की निंदा की। इन देशों ने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय, दोनों स्तरों पर आतंकवाद के खिलाफ पार्टनरशिप को मजबूत करने पर सहमति जताई।

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: फेसबुक पर ऑनलाइन दोस्ती .. और फिर इस तरह दे डाला खुनी वारदात को अंजाम!

यह भी पढ़े: OMG! इस गांव में लड़कियां अपने मां-बाप के सामने बनाती है शारीरिक संबंध



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.