loading...
loading...
loading...
GST में ज्वैलरी खरीदना और बेचना हो जाएगा महंगा टैंपो मे जा रही लड़की के साथ अपराधियों ने किया कुछ ऐसा, जानिए... आज ही के दिन वेस्टइंडीज को हराकर वर्ल्ड चैंपियन बना था भारत सुनील ग्रोवर की प्रशंसा में सलमान ने कही ये बड़ी बात US में प्रधानमंत्री के सामने उठाया जाएगा साइबर कानून का मुद्दा PM मोदी ने 'मन की बात' में रथ यात्रा और रमजान की शुभकामनाएं दीं रिकांगपिओ में आत्महत्या मामले में SP शिमला DW नेगी की बढ़ेगी मुश्किलें ...तो इस तरह मारा गया कुख्यात बदमाश आनंदपाल काजोल और धनुष को 'एक साथ- एक ही फिल्म' में देखना सबसे बड़ी बात: सौंदर्य रजनीकांत अपनी पारी के इंतजार में कुछ ऐसा कर रही थीं कैप्‍टन मिताली राज Airtel दे रहा है अपने पोस्टपेड यूजर्स को 30 GB 4जी डेटा फ्री एक छोटी से गलती ने लेली जुनैद की जान, अल्लाह- ऐसा और किसी के साथ ना हो कंम्पनियों के नाम पर ठगी करने वाला आरोपी गिरफ्तार B'day Special: करिश्मा कपूर के जन्मदिन पर जानिए, इनसे जुडी कुछ दिलचस्प बातें पाकिस्तान: तेल के टैंकर में आग लगने से 100 लोगों की झुलसकर मौत बागवानी मिशन के तहत केन्द्र ने 109.29 करोड़ रुपए की वार्षिक कार्ययोजना को दी मंजूरी 'श्वेत पत्र' जारी कर योगी सरकार विपक्ष पर साधेगी निशाना इस तरह से बनाये ब्रेड डोसा PM मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम के जरिए लोगो को करेंगे संबोधित ऑनलाइन फर्जी साइट से नौकरी के नाम पर ठगी, मामला दर्ज
BRICS: चीन की वजह से PM मोदी के अरमान नाकामयाब!
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 11:22:43 AM
1 of 1

नई दिल्ली। गोवा में रविवार को 8वां ब्रिक्स सम्मेलन संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए उसे आतंकवाद की 'जन्मभूमि' करार दिया। लेकिन चीन की वजह से मोदी की रणनीति पूरी तरह से कामयाब नहीं हो पाई।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा ठंडे बस्ते में
चीन की मौजूदगी में सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा ठंडे बस्ते में ही जाना था, लेकिन भारत को उम्मीद थी कि भारत में सक्रिय लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद जैसे आंतकी संगठनों का जिक्र किया जाएगा। समिट सेक्रटरी (इकनॉमिक रिलेशंस) और इंडिया ब्रिक्स टीम की अगुवाई कर रहे अमर सिन्हा ने बताया कि घोषणापत्र में ब्रिक्स देशों के बीच इन आतंकी संगठनों के जिक्र को लेकर आम सहमति नहीं बन सकी। अमर सिन्हा ने माना कि गोवा घोषणा पत्र में सीमा पार आतंकवाद जुमले और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी गुटों को शामिल करने पर सहमति नहीं बन सकी क्योंकि साउथ अफ्रीका और ब्राजील इस तरह की आतंकवादी गतिविधियों को नहीं झेल रहे हैं।

उरी आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा 
गोवा घोषणा पत्र में सीमा पार आतंकवाद का जिक्र नहीं किया गया, लेकिन ब्रिक्स के 4 अन्य सदस्यों- रूस, चीन, ब्राजील और साउथ अफ्रीका ने कड़े शब्दों में उरी आतंकी हमले की निंदा की। इन देशों ने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय, दोनों स्तरों पर आतंकवाद के खिलाफ पार्टनरशिप को मजबूत करने पर सहमति जताई।

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: फेसबुक पर ऑनलाइन दोस्ती .. और फिर इस तरह दे डाला खुनी वारदात को अंजाम!

यह भी पढ़े: OMG! इस गांव में लड़कियां अपने मां-बाप के सामने बनाती है शारीरिक संबंध



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.