Live INDvsENG : तीसरे दिन लंच तक भारत ने 2 विकेट के नुकसान पर बनाए 247 रन Boys Attention ! सीख ले ये वाले काम वरना छोड़ के चली जाएगी आपकी GF नोटबंदी: केंद्र सरकार ने SC से कहा- 10 से 15 दिनों में खत्‍म होंगी समस्‍याएं OMG ! अचानक से महिला के पेट में हुआ दर्द और दे दिया घोड़े के बच्चे को जन्म, पति अभी भी सदमे में ऐसा क्या किया इस एक्ट्रेस ने, जिससे बचने के लिये अर्जुन छिपे टायलेट में Girls Attention ! लिपिस्टिक लगाकर होंठों पर जीभ फेरना भी है जानलेवा... जाने क्यों अखिलेश यादव ने सपा नेता जावेद को बनाया सिंचाई विभाग का सलाहकार किसान महासम्मेलन आज, शामिल होंगे सीएम शिवराज मारुति सुजुकी ने UK में लॉन्च की यह नयी कार आज गुजरात मे डेयरी प्लांट का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी हिंद महासागर में भारत दबदबा बढ़ाने मॉरीशस जाएंगे पर्रिकर नोट बंदी के बाद ऐसे चल रहा है जिस्मफरोशी का धंधा! Live INDvsENG: मुरली विजय ने ठोका 8वां शतक, कोहली की धुंआधार पारी लाइट फ्लाईवेट में वापसी करेंगी एमसी मैरीकाम उत्तर भारत में छाया कोहरे का कहर 73 ट्रेन रद्द पश्चिम बंगाल में सेना की तैनाती पर पर्रिकर की चिट्ठी पर ममता का तीखा जवाब पाक ने फिर की नापाक हरकत, घुसपैठ की कोशिश को BSF ने किया नाकाम सोनिया मेरे तलाक के लिए जिम्मेदार नहीं हैं: कोमल पीवी सिंधू के साथ मुकाबले का बेसर्बी से इंतजार कर रही हैं कैरोलिना मारिन लावा ने लॉन्च किया मेटल बॉडी से बना फीचर फोन, कीमत 2,000
BRICS: चीन की वजह से PM मोदी के अरमान नाकामयाब!
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 11:22:43 AM
1 of 1

नई दिल्ली। गोवा में रविवार को 8वां ब्रिक्स सम्मेलन संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए उसे आतंकवाद की 'जन्मभूमि' करार दिया। लेकिन चीन की वजह से मोदी की रणनीति पूरी तरह से कामयाब नहीं हो पाई।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा ठंडे बस्ते में
चीन की मौजूदगी में सीमा पार आतंकवाद का मुद्दा ठंडे बस्ते में ही जाना था, लेकिन भारत को उम्मीद थी कि भारत में सक्रिय लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद जैसे आंतकी संगठनों का जिक्र किया जाएगा। समिट सेक्रटरी (इकनॉमिक रिलेशंस) और इंडिया ब्रिक्स टीम की अगुवाई कर रहे अमर सिन्हा ने बताया कि घोषणापत्र में ब्रिक्स देशों के बीच इन आतंकी संगठनों के जिक्र को लेकर आम सहमति नहीं बन सकी। अमर सिन्हा ने माना कि गोवा घोषणा पत्र में सीमा पार आतंकवाद जुमले और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी गुटों को शामिल करने पर सहमति नहीं बन सकी क्योंकि साउथ अफ्रीका और ब्राजील इस तरह की आतंकवादी गतिविधियों को नहीं झेल रहे हैं।

उरी आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा 
गोवा घोषणा पत्र में सीमा पार आतंकवाद का जिक्र नहीं किया गया, लेकिन ब्रिक्स के 4 अन्य सदस्यों- रूस, चीन, ब्राजील और साउथ अफ्रीका ने कड़े शब्दों में उरी आतंकी हमले की निंदा की। इन देशों ने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय, दोनों स्तरों पर आतंकवाद के खिलाफ पार्टनरशिप को मजबूत करने पर सहमति जताई।

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: फेसबुक पर ऑनलाइन दोस्ती .. और फिर इस तरह दे डाला खुनी वारदात को अंजाम!

यह भी पढ़े: OMG! इस गांव में लड़कियां अपने मां-बाप के सामने बनाती है शारीरिक संबंध



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.