माँ की ममता हुई शर्मशार: अपने ही मासूम बच्चे का किया कत्ल कुदरत का करिश्मा: 14 साल बाद परिवार से मिली अयोध्या से मुंबई पहुंची पूजा मानुषी छिल्लर पर हुड्डा व खट्टर में जुबानी जंग शुरू सुरक्षित और सम्मिलित साइबर स्पेस देने के प्रति प्रतिबद्ध है भारत : सुषमा स्वराज पद्मावती विवाद: नाहरगढ़ किले पर लटकाया युवक का शव, लिखा- हम पुतले नहीं शव लटकाते है हादसा :पटरी से उत्तरी वास्को-डि-गामा-पटना एक्सप्रेस हाफिज सईद की रिहाई पर अमेरिका ने जताई नाराजगी, कहा- फिर से गिरफ्तार करो दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ाने से किसी को नहीं हुआ फायदा: केजरीवाल मिस्र में अब तक का सबसे भीषण आतंकी हमला, 235 लोगो की मौत वीडियो: वोट देने से किया मना तो दबंगो ने जलाया महिला का घर आधार कार्ड को लेकर दो बड़े फैसले, जल्द कीजिए आप भी नहीं तो सकता है बड़ा नुकसान अभिनेत्री नमिता आज अपने बॉयफ्रेंड वीरेंद्र से रचाई शादी, देखें वीडियो रेसिपी: इस प्रकार बनाएं स्वादिष्ट मैकरोनी कन्‍नौज में दूल्‍हा-दुल्‍हन ने थाने में रचाई शादी, खाईं सात जन्‍मों की कसमें, देखें वीडियो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता हैं पपीता, जानिए पद्मावती विरोध: किले में शव मिलने से बॉलीवुड में मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला मिस्र: हिंसक आतंकी हमले में 155 मरे, सैंकड़ों घायल ‘मॉनसून शूटआउट’ का नया गाना ‘अंधेरी रात’ में दिया हुआ रिलीज़ THE फैक्ट्री कार्नर ने मनाया बालदिवस कई खतरनाक बीमारियों को दूर भगाता है अमरूद, जानिए
गणतंत्र दिवस समारोह के लिए आसियान देशों को PM मोदी ने दिया न्यौता
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 14, 2017 | 09:24:33 PM
1 of 1

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को आसियान शिखर सम्मेलन में नियम आधारित क्षेत्रीय सुरक्षा ढांचा की पुरजोर वकालत की। मोदी की यह अपील हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के आक्रमक रुख ने निपटने के लिए भारत, अमेरिका और जापान जैसे बड़े देशों के बीच बढ़ते तालमेल को प्रतिबंबित करती है। आसियान शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस क्षेत्र के समक्ष आतंकवाद और उग्रवाद एक बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए क्षेत्र के देशों के हाथ मिलाने का समय आ गया है। 

यह भी पढ़े: वीडियो: छात्रा ने आत्महत्या के प्रयास से तालाब में लगाई झलांग फोटो 

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत इस क्षेत्र में नियमों पर आधारित एक सुरक्षा व्यवस्था ढांचे के लिए आसियान को अपना समर्थन जारी रखेगा। उनके इस कथन को दक्षिण चीन सागर (एसीएस) में चीन के बढ़ते सैन्य दखल के संदर्भ में देखा जा रहा है। चीन के रुख से क्षेत्र के अनेक देश चिंतित हैं। आसियान के साथ व्यापार संबंधों को मजबूत बनाने का समर्थन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, भारत और आसियान देशों के बीच समुद्री संपर्क हजारों वर्ष पूर्व स्थापित हुआ. इससे हमारा पूर्व में व्यापार संबंध रहा। हमें इसे और मजबूत बनाने के लिए साथ मिलाकर काम करना है। दस दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का संगठन आसियान क्षेत्र में एक प्रभावशाली समूह माना जाता है भारत के अलावा अमेरिका, चीन, जापान और ऑस्ट्रेलिया जैसे कई देश वार्ता भागीदार हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, भारत और आसियान मूल्य और नियति एक दूसरे से जुड़ी है। 

यह भी पढ़े: वीडियो : VIDEO : कार सहित बहे आयुष का शव 7 दिन बाद नाले में हुआ बरामद

उन्होंने कहा, हम अपने साझा मूल्यों और साझी नियति को लेकर भारत आसियान संबंधों की 25वीं वर्षगांठ संयुक्त रूप से मना रहे हैं। इस मौके पर कई गतिविधियों का आयोज किया जायेगा। मैं 25 जनवरी 2018 को भारत-आसियान स्मृति शिखर सम्मेलन में आपके स्वागत को लेकर उत्सुक हूं। मोदी ने कहा कि 125 करोड़ भारतीय 2018 के गणतंत्र दिवस में आसियान नेताओं के स्वागत की प्रतीक्षा कर रहे हैं। थाईलैंड, वियतनाम, इंडोनेशिया, मलयेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, म्यांमार, कंबोडिया, लाओस और ब्रुनेई इस दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संघ (आसियान) के सदस्य देश हैं। प्रधानमंत्री ने क्षेत्राीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (आरसीईपी) के नेताओं की बैठक में भी भाग लिया।  आरसीईपी में 10 सदस्यीय आसियान तथा छह अन्य देश भारत, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया और न्यूजीलैंड हैं। 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे!

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.