संघर्ष और आपदाओं से प्रभावित लोगों के लिए UNO ने मांगी 22.2 अरब डॉलर की वैश्विक मदद स्टार स्क्रीन अवार्ड में बिग बी, आलिया को मिले शीर्ष सम्मान! तीन छात्रों ने की जूनियर्स की रैगिगं, प्रशासन ने छात्रों को किया निष्कासित केजरीवाल 20 दिसम्बर को भोपाल में करेंगे विशाल परिवर्तन रैली चाय वाला राजू रातों रात बना करोड़पति बद्रीनाथ की दुल्हनिया करेगी, माधुरी के तम्मा तम्मा पर डांस! सोना गिरा, चांदी मे आया सुधार आईएस ने बगदादी का उत्तराधिकारी चुनने को बैठक की! प्रवर्तन निदेशालय ने मनीलांड्रिंग मामले में दो बैंक अधिकारियों को किया गिरफ्तार फरहान अख्तर ने अक्षय के साथ फिल्म में काम करने से किया मना! भारतीय ऊर्जा कंपनियों से प्रधानमंत्री का बहुराष्ट्रीय कंपनी बनने का आहवान 'क्रैक' मैं अक्षय कुमार के साथ नज़र आएंगी ये एक्ट्रेस! मोदी एक बार फिर टाइम पर्सन ऑफ़ द ईयर नोटबंदी के बाद बैंकों में लौटे 3.4 % जाली नोट नोटबंदी की हिमाकत कर रहे लोगों को जनता सिखाएगी सबक : अखिलेश जल्दी ही लॉजी स्टेपवे का नया संस्करण लॉन्च करेगी Renault दिल्ली सरकार की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में 12 दिसंबर को होगी सुनवाई विषय पर तत्काल चर्चा शुरू की जाए: राजनाथ सिंह आलिया को मिला सर्वश्रेष्ठ एक्ट्रेस का पुरस्कार बारातियों से भरी बस ट्रक में घुसी, तीन की मौत
सावधान ! फर्जी फोन कॉल से रहें सतर्क
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 09:56:14 AM
1 of 1

नई दिल्ली। नोटबंदी की घोषणा के बाद सायबर सेल की राडार पर नेट बैंकिंग, एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड एवं क्रेडिट कार्ड सहित ऑनलाइन पैसों का लेनदेन करने वाले आ गए हैं। अगर आप ऑनलाइन ट्रांजेक्शन यानी नेटबैंकिंग या डेबिट-क्रेडिट कार्ड से लेन-देन करते हैं तो सावधान हो जाएं। इन दिनों बैंकों और एटीएम में कैश की समस्या के चलते उपभोक्ताओं से एटीएम बंद या खराब होने संबंधी पूछताछ के लिए फर्जी कॉल या मैसेज भेजे जा रहे हैं। शातिर लोग कार्ड का क्लोन बनाकर भी फ्रॉड कर सकते हैं।

बदमाशों द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग के तहत फ्रॉड रजिस्टर्ड नंबर पर आए ओटीपी की जानकारी भी लोगों से हासिल करने की कोशिश की जा रही है। इसके लिए ये बदमाश आपको किसी लैंडलाइन से अपने आपको एटीएम सर्विस सेंटर या किसी बैंक का अधिकारी बताकर आपसे अकाउंट नंबर एवं डेबिट-क्रेटिट कार्ड का पिन नंबर मांगने की कोशिश करते हैं। सायबर सेल के मुताबिक, ऐसे फर्जी फोन कॉल से सतर्क रहने की जरूरत है।

वसई निवासी कविता पाठक का कहना है कि पिछले दिनों उनके फोन पर कॉल आया, जिसमें कॉलर ने खुद को एटीएम सर्विस सेंटर का मैनेजर बताते हुए पूछा कि उनके पास कौन सी बैंक का एटीएम कार्ड है। उसने कहा कि अभी एटीएम के सॉफ्टवेयर में बदलाव के कारण पिन बदल गए हैं। इस वजह से एटीएम से पैसा निकालने में दिक्कतें होंगी। आप पुराने नंबर को बदल कर नए पिन नंबर ले सकते हैं। इसलिए पुराने पिन नंबर की जानकारी चाहिए।

कांदिवली निवासी विनोद बताते हैं कि उनके पास आए कॉल में एटीएम कार्ड ब्लॉक होने की जानकारी दी गई। एटीएम कार्ड वापस शुरू करने के लिए अकाउंट नंबर एवं ओटीपी की जानकारी पूछी गई लेकिन जानकारी होने की वजह से उन्होंने सामने वाले को अपने कार्ड का नंबर नहीं बताया। इसके बाद उसने कॉल काट दिया। वहीं, सत्य प्रकाश का कहना था कि उन्होंने एटीएम नंबर दे दिया, जिसके चलते उनके अकाउंट से 5 हजार रुपये की निकासी हो गई। हालांकि, उन्होंने संबंधित बैंक से ठगी संबंधी मैसेज मिलते ही तुरंत कार्ड ब्लॉक करवा दिए।

एटीएम पर भीड़-भाड़ होने की वजह से एटीएम केबिन में 8 से 10 लोग घुस जाते हैं। इसलिए मशीन में कार्ड डालने के बाद पिन नंबर दबाते वक्त बेहद सावधानी बरतें। कोई आपके पिन और कार्ड के कुछ अंकों की जानकारी हासिल कर आपको चूना भी लगा सकता है। आरबीआई के मुताबिक, किसी भी बैंक के अधिकारी या बैंक कर्मचारी बैंक खाते और एटीएम कार्ड से जुड़ी कोई भी जानकारी ग्राहकों से फोन पर नहीं पूछती है। ऐसे में अगर कोई फोन आए तो सर्तक हो जाएं और बैंक से जुड़ी कोई भी जानकारी सामने वाले को नहीं दें।

यह भी पढ़े: चीन की विष कन्‍याएं ISIS और ब्रिटेन के लिए बन रही खतरा ...जानिए कौन है ये

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े:1 करोड़ में नीलम हुई ये 8 लाइन की कविता, 74 साल पहले लिखी गयी

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



0 comments

Most Read
Latest News
loading...
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.