सिख विरोधी दंगों पर चार हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट दे केंद्रःसुप्रीम कोर्ट गोवाः भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई : रघुवर दास 'खुल्लम खुल्ला' की सफलता की दुआ मांगने तिरूपति पहुंचे ऋषि कपूर उप्रः भाजपा उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, 149 के नाम पर मुहर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के विरुद्ध मामला दर्ज दिल्ली विस का दो दिवसीय सत्र मंगलवार से, हंगामा के आसार भाजपा ने उत्तराखंड के लिए 64 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की सरकार की तीसरी वर्षगांठ पर 'अच्छा काम, ठोस परिणाम' विकास प्रदर्शनी हलफनामा न सौंपने पर चीफ जस्टिस नाराज, दस राज्यों के सचिव तलब नेताजी का चेहरा ही सपा की पहचान: अखिलेश इटली में छुट्टियां मना रही है श्रीदेवी अपनी फैमिली के साथ, देखें तस्वीरें 1 जुलाई से लागू होगा GST कोडवर्ड में कौन कर रहा है बात, पुलिस को मिलीं कुछ संदिग्ध फोन कॉल! आईएमएफ ने भारत की विकास दर घटाकर 6.6 फीसदी की दस हजार कांस्टेबल और ढाई हजार दारोगा की होगी बहाली : डीजीपी छत्तीसगढ़: राजनाथ ने कहा- नक्सल को खत्म करने के लिए केंद्र सरकार करेगी सहयोग जापानी वैज्ञानिकों का दावा, पृथ्वी के केन्द्र का तीसरा पदार्थ सिलिकॉन अमृतसर पूर्व सीट से लड़ेंगे सिद्धू प्रौद्योगिकी के बदलते दौर में फिल्म निर्माण एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया में तब्‍दील हो गया है: कर्नल राठौर
CYBER ATTACK ! "गूलीगन" नामक वायरस ने किये GMAIL के 10 लाख अकाउंट हैक
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 08:22:33 PM
1 of 1

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी केअकाउंट को हैक हुए अभी थोड़े दिन ही हुए है इसी बीच एक और बुरी अखबार आयी है की जीमेल के लगभग 10 लाख अकाउंट में एक वायरस की सेंध लग चुकी है जिसका नाम गुलिगन है।  दावा किया गया है कि 10 लाख से अधिक गूगल एकाउंट में सेंधमारी की गई है। 

 10 लाख से अधिक एकाउंट में सेंधमारी की
सुरक्षा फर्म चेक प्वाइंट साफ्टवेयर टेक्नोलाजीज के अनुसार एंड्रायड मालवेयर ‘गूलीगन’ ने गूगल के 10 लाख से अधिक एकाउंट में सेंधमारी की है. फर्म का कहना है कि ‘गूलीगन’ एंड्रायड मालवेयर का एक नया संस्करण है. इसके अनुसार इस सेंधमारी से जीमेल, गूगल फोटो, गूगल प्ले व गूगल डाक्स से उपयोक्ताओं की जानकारी चुराई जा सकती है.

हर रोज 13 हजार उपकरणों को अपना शिकार बना रहा
गूगल ने इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं की है. हालांकि, संस्था का दावा है कि यह आंकड़ा बढ़ रहा है क्योंकि यह मालवेयर हर रोज 13 हजार उपकरणों को अपना शिकार बना रहा है. संस्था ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है कि 57 प्रतिशत प्रभावित लोग एशिया के हैं. जबकि, अमेरिका के 19, अफ्रिका के 15 और यूरोप के 9 प्रतिशत यूजर्स शामिल हैं.

एडवेयर अपलोड कर के पैसे कमा रहा
इसके साथ ही बताया गया है कि यह मालवेयर गूगल यूजर का साला डाटा चुरा रहा है. इसके साथ ही अपनी ओर से एडवेयर अपलोड कर के पैसे कमा रहा है. यही नहीं गूगल प्ले पर पड़े एप्स को जबरन आपके नाम से रेटिंग दिलाकर उनकी हैसियत बढ़ाने का काम भी ये मालवेयर कर रहा है. सबसे ज्यादा लोग एशिया में प्रभावित है ऐसे में संभव है कि भारत में इसका असर खासा हो.

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.