देश और दुनिया के इतिहास में 24 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं नाशपाती के सेवन से होते है ये फायदे तुतला कर बोलते हैं तो करे आंवले का सेवन मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए लोगो को जागरूक किया पार्षद ने सेहत विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर क्षेत्र का दौरा किया किदवई में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फैसले से इलाकावासियों की खुशी आधी-अधूरी स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा के घटिया परिणाम पर मनोहर लाल ने जताई नराजगी सुमन महाराज ने कहा- क्षमा धर्म का प्राण और अराधना का सार है शिविर में डेढ़ सौ लोगों का स्वास्थ जांचा भारत को रूस बेचना चाहता है अपना सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान मिग-35 जूनियर पाइलेटों से भरवा रही है जमानती बांड जेट एयरवेज स्मैक बेचने के आरोप में दो तस्कर गिरफ्तार विश्व पैरा एथलीट: भारत एक स्वर्ण सहित पांच पदक के साथ रही टॉप 30 से बाहर भारत सरकार ‘मेक इन इंडिया के तहत बनाएगी सुपर कंप्यूटर WWC17: भारत के सपने हुए चकनाचूर, इंग्लैंड चौथी बार बनी वर्ल्ड चैंपियन मेलबर्न के फेडरेशन चौक पर भारतीय झंडा फहराएंगी ऐश्वर्या वर्ल्ड कप फाइनल LIVE: भारतीय महिला टीम लड़खड़ाई, वेदा के बाद गोस्वामी भी लोटी, score 208/7 चार वर्षीय मासूम बच्ची को चिमटो से दागने वाली दादी गिरफ्तार
CYBER ATTACK ! "गूलीगन" नामक वायरस ने किये GMAIL के 10 लाख अकाउंट हैक
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 08:22:33 PM
1 of 1

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी केअकाउंट को हैक हुए अभी थोड़े दिन ही हुए है इसी बीच एक और बुरी अखबार आयी है की जीमेल के लगभग 10 लाख अकाउंट में एक वायरस की सेंध लग चुकी है जिसका नाम गुलिगन है।  दावा किया गया है कि 10 लाख से अधिक गूगल एकाउंट में सेंधमारी की गई है। 

 10 लाख से अधिक एकाउंट में सेंधमारी की
सुरक्षा फर्म चेक प्वाइंट साफ्टवेयर टेक्नोलाजीज के अनुसार एंड्रायड मालवेयर ‘गूलीगन’ ने गूगल के 10 लाख से अधिक एकाउंट में सेंधमारी की है. फर्म का कहना है कि ‘गूलीगन’ एंड्रायड मालवेयर का एक नया संस्करण है. इसके अनुसार इस सेंधमारी से जीमेल, गूगल फोटो, गूगल प्ले व गूगल डाक्स से उपयोक्ताओं की जानकारी चुराई जा सकती है.

हर रोज 13 हजार उपकरणों को अपना शिकार बना रहा
गूगल ने इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं की है. हालांकि, संस्था का दावा है कि यह आंकड़ा बढ़ रहा है क्योंकि यह मालवेयर हर रोज 13 हजार उपकरणों को अपना शिकार बना रहा है. संस्था ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है कि 57 प्रतिशत प्रभावित लोग एशिया के हैं. जबकि, अमेरिका के 19, अफ्रिका के 15 और यूरोप के 9 प्रतिशत यूजर्स शामिल हैं.

एडवेयर अपलोड कर के पैसे कमा रहा
इसके साथ ही बताया गया है कि यह मालवेयर गूगल यूजर का साला डाटा चुरा रहा है. इसके साथ ही अपनी ओर से एडवेयर अपलोड कर के पैसे कमा रहा है. यही नहीं गूगल प्ले पर पड़े एप्स को जबरन आपके नाम से रेटिंग दिलाकर उनकी हैसियत बढ़ाने का काम भी ये मालवेयर कर रहा है. सबसे ज्यादा लोग एशिया में प्रभावित है ऐसे में संभव है कि भारत में इसका असर खासा हो.

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.