संजीवनी टुडे

News

टाटा संस पर न्यायाधिकरण के आदेश को भंग करने का आरोप

Sanjeevni Today 12-01-2017 14:35:40

नई दिल्ली l आज गुरुवार को सायरस मिस्त्री के परिवार के स्वामित्व वाली दो निवेश कंपनियों ने  राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में टाटा संस और रतन टाटा सहित उसके निदेशकों के खिलाफ मानहानि की याचिका दायर की। याचिका में इल्जाम लगाया गया है कि उन्हें टाटा संस के निदेशक मंडल से हटाने की पहल करके टाटा न्यायाधिकरण के आदेश को भंग कर रही है।

 

 इसके अतिरिक्त कंपनी ने टाटा, और टाटा संस के अन्य निदेशकों और सर रतन टाटा ट्रस्ट और सर दोराबजी ट्रस्ट के न्यासियों को दंड देने की भी मांग की है।  ट्रस्टियों में एन. ए. सूनावाला, आर. के. कृष्णकुमार और आर. वेंकटरमण शामिल हैं। याचिका में सायरस इंवेस्टमेंट लिमिटेड और स्टर्लिंग इंवेस्टमेंट ने न्यायाधिकरण से टाटा संस के जरिये 6 फरवरी या अन्य किसी तिथि या उस वक्त किसी तरह के कारोबार करने के लिए बुलाई गई असाधारण आम बैैठक पर रोक का आदेश जारी करने की अपील की है।

 मिस्त्री की आेर दायर की गई इस याचिका पर प्रतिक्रिया देते हुए टाटा समूह के एक प्रवक्ता ने कहा, किसी तरह की मानहानि नहीं की गई है। कंपनी ने इनके लिए 6 महीने की अधिकतम कारावास की सजा और 2000 रुपए जुर्माना अथवा दोनों देने की अपील की है। हम अपना जवाब एनसीएलटी में दाखिल करेंगे।

यह भी पढ़े : भूल से मां के प्रेमी के बगल में जाकर सो गई बेटी फिर क्या हुआ जानिए...

यह भी पढ़े : पति ग्रुप सैक्स करने पर करता था मजबूर, नहीं मानी तो...!

यह भी पढ़े : बेटे की खातिर मां ने "निगला" सांप का जहर... फिर भी नहीं बचा उसकी सकी मौत!
यह भी पढ़े : लड़की ने शादी का रिश्ता तोडा, तो युवक ने ब्लेड से अपना ही प्राइवेट पार्ट काट डाला

Watch Video

More From business