संजीवनी टुडे

News

वर्ल्ड शूटिंग: भारतीय महिला रुबीना फ्रांसिस ने भारत को दिलाया स्वर्ण पदक

संजीवनी टुडे 11-11-2017 21:28:40

World shooting Indian lady Rubina Francis gives gold medal to India

नई दिल्ली। अपनी नि:शक्त बेटी को अंतरराष्ट्रीय शूटर बनाने के लिए मोटर मैकेनिक पिता ने हर वो काम किया, जो उनकी हद में और हद के बाहर थे। प्रदेश की महिला खिलाड़ियों ने एक बार फिर से दुनिया के सामने मध्य प्रदेश का नाम रोशन किया है। मध्य प्रदेश शूटिंग अकादमी की महिला खिलाड़ी रुबीना फ्रांसिस ने भारत के लिए स्वर्ण पदक हासिल किया है। रुबीना फ्रांसिस ने ये उपलब्धि थाइलैंड में खेले जा रहे वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट वर्ल्ड कप में हासिल की है। 

यह भी पढ़े: वीडियो : वीडियो: दरवाजा तोड़ राम रहीम के BEDROOM में घुसी पुलिस, नजारा देख रह गई हैरान

प्रदेश सरकार एव खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया की खेल एवं खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने की कोशिशें रंग लाती नजर आ रही हैं। इसकी एक बानगी नजर आई है 10 नवम्बर से बैंकाक, थाइलैंड में खेले जा रहे वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट वर्ल्ड कप में। प्रदेश की रुबीना फ्रांसिस सहित भारत की ओर से पूजा अग्रवाल और सोनिया शर्मा के कुल 1070 अंकों के साथ भारत इस प्रतियोगिता के 10 मीटर एयर पिस्टल शूटिंग इवेंट में पहले स्थान पर रहा।

रुबीना फ्रांसिस को 355 अंक मिले, वहीं पूजा अग्रवाल को 358 और सोनिया शर्मा को 357 अंक इस प्रतियोगिता में प्राप्त हुए। इसमें मेजबान थाईलैंड 1048 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहा, इंडिविजुअल इवेंट में रुबीना सातवें स्थान और रही। रुबीना मध्यप्रदेश शूटिंग अकादमी में शूटिंग कोच वेदप्रकाश पिलानिया से प्रशिक्षण प्राप्त करतीं हैं। रूबीना की इस स्वर्णिम सफलता पर प्रदेश की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने प्रसन्नता व्यक्त की है।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के जबलपुर की रहने वालीं रूबीना दोनों पैरों से निशक्त हैं, जिन्हें इसी साल जुलाई में मध्य प्रदेश शूटिंग अकादमी के लिए चयनित किया गया था। रूबीना भारत में निशक्त खिलाड़ियों में पहली रैंकिंग पर हैं। जिसके बाद उनका चयन भारत सरकार की टारगेट ओलिम्पिक पोडियम योजना के तहत किया गया है। इस योजना के तहत देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को 50 हज़ार रु प्रति माह छात्रवृत्ति दी जाती है।

यह भी पढ़े: वीडियो : VIDEO : कार सहित बहे आयुष का शव 7 दिन बाद नाले में हुआ बरामद

अतिक्रमण दस्ते ने तोड़ी दुकान तो घर-घर जाकर सुधारने लगे बाइकें
रुबीना के पिता साइमन फ्रांसिस मोटर मैकेनिक हैं, वे अपने घर के पास ही एक छोटी-सी दुकान में गाड़ियां सुधारने का काम करते थे, लेकिन एक दिन अचानक नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते ने उनकी दुकान तोड़ दी। ऐसे में उन्होंने घर-घर जाकर गाड़ियां सुधारने का काम शुरू किया, बेटी की उपलब्धि के बाद वे बताते हैं कि जब भी बेटी को पैसों की जरूरत पड़ी तो मैंने घर के खर्चों में कटौती कर उसकी पुरती की। बेटी ने मेरी मेहनत को साकार कर दिया है।

 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From sports

loading...
Trending Now
Recommended