देश और दुनिया के इतिहास में 18 अक्टूबर की महत्वपूर्ण घटनाएं राशिफल : 18 अक्टूबर : कैसा रहेगा आपके लिए बुधवार का दिन, जानने के लिए क्लिक करें दूध से स्किन की समस्याओं को करें दूर शराब की लत से छुटकारा पाने के असरदार तरीके... देश के प्रत्येक जिले में आयुर्वेदिक अस्पताल खोलने की तैयारी कर रही है सरकार: मोदी चोटी काटने की घटनाओं की साजिश रचने वालो को नंगा करना बेहद जरूरी: फारूक अब्दुल्ला हरियाणवी गायिका एवं डांसर हर्षिता दहिया की गोली मारकर हत्या यूपी में खुलेंगे 500 ई-प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरकार ने सातवां वेतन आयोग लागू कर राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात दी सुरेश खन्ना ने कहा- ताजमहल को राष्ट्रीय धरोहर मानती है सरकार ब्रिटेन में आतंकी हमलों के बाद घृणा अपराध में 29 फीसदी का इजाफा B' Day special: टीम इंडिया ने हार्दिक पंड्या का 24वां जन्मदिन मनाया, शेयर की फोटो मानगढ़ धाम को क्यों कहा जाता जलियावाला बाग? पढ़िए पूरी कहानी ईरान मैक्सिको को हराकर U-17 फुटबॉल विश्व कप के अंतिम आठ में पहुंचे बांसवाड़ा के मानगढ़ धाम में बनेगा राष्ट्रीय जनजाति संग्रहालय 'ताजमहल भारत मां के सपूतों के खून-पसीने से बना है': CM योगी दिल्ली में एयर क्वालिटी खतरनाक स्तर पर, डीजल जनरेटर तक को करना पड़ा बैन न्यूजीलैंड को बोर्ड इलेवन ने अभ्यास मैच 30 रनों से धोया मुख्यमंत्री ने दिया राज्य कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा, राज्य कर्मचारियों के लिए 7वां वेतन आयोग लागू BCCI की अपील पर केरल हाईकोर्ट ने श्रीसंत पर जारी रखा आजीवन बैन
सौरव गांगुली ने 15 साल बाद किया ट्रेन से सफर, अपने प्रतिमा के साथ शेयर की फोटो
sanjeevnitoday.com | Sunday, July 16, 2017 | 06:08:08 PM
1 of 1

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने 15 सालों में पहली बार आज ट्रेन से सफर तय किया है। गांगुली ने ये यात्रा एक खास मकसद से किया है, उन्होंने ट्रेन का सफर तय किया वो भी आज बालुरघाट में अपनी 8 फीट उंची प्रतिमा का अनावरण करने के लिए। गागुंली ने आज सुबह मालदा में पदाटिक एक्सप्रेस ली, जब वो रेलवे स्टेशन पर पहुंचे तो दादा के फैंस उनका बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे। इसके बाद गांगुली बालुरघाट के लिए वापिस रवाना हो गए।

सौरव गांगुली ने कहा है कि, 'मैंने 2001 के बाद पहली बार ट्रेन में सफर किया है। यह करीब 15 साल बाद ऐसा हुआ, इसके बाद उन्होंने बालुरघाट में अपनी प्रतिमा के साथ फोटो लेकर ट्वीट पर शेयर किया, 'यह मेरी तरह ही दिखाई देता है'।

सौरभ गांगुली की यह प्रतिमा 2003 में ऑस्ट्रेलिया में खेले गए ब्रिसबेन टेस्ट की याद दिलाती है। इस टेस्ट में गांगुली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेंचुरी जड़ी थी और शतक बनाने के बाद इस अंदाज में बल्ला उठाकर दर्शकों का अभिवादन किया था।

बता दें कि फैन्स सौरव को दादा के नाम से भी बुलाते हैं उनका पुराना नाम सौरव चंडीदास गांगुली था। उनका जन्मदिन 8 जुलाई 1972 को बंगाल के एक छोटे से परिवार में हुआ था, दादा भारत के सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं। 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.