loading...
Shocking: मिर्गी से बढ़ता हैं मौत का खतरा..! गजब: महिलाओं के मुकाबले पुरुष होते हैं सीखने में आगे..! भारत से होगी अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी संस्थान की शुरुआत दिल्ली: सभी 272 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगी जद यु दिल्ली: सभी 272 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगी जद यु काला दिवस रहा जाटों के शक्ति प्रदर्शन का दूसरा नमूना व्हाट्सएप्प के प्रयोग ने लौटा दी महिला की जान..! जानिए! नैमिषारण्य में 84 कोसी परिक्रमा का ऐतिहासिक महत्व बिना नंबर बताये रिचार्ज कराने की सुविधा देगा VODAFONE..! शादी का झांसा देकर युवती से यौन शोषण, मुकदमा दर्ज अखिलेश का वादा, चुनाव के बाद रोज पत्रकारों से मिलेंगे कलिंगा लांसर्स ने जीता एचआईएल के पांचवें संस्करण का खिताब रामजस कॉलेज में हुई हिंसा की जांच के लिए पैनल गठित PICS: सनी लियोनी अपने फिगर को लेकर हुई सतर्क.. करना चाहती है ये काम अशोक गहलोत ने कोटा विवाद को लेकर की भाजपा की निंदा, घटना के लिए बताया जिम्मेदार मारुति सुजुकी इंडिया ने रिट्ज की घरेलू व अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बिक्री रोकी स्कूल टेम्पो चालक ने नाबालिग छात्रा को बनाया दुष्कर्म का शिकार, मामला दर्ज मोटरस्पोर्ट्स : पहले दिन असगर अली और मुस्तफा को बढ़त सपा का काम नहीं, अखिलेश का झूठ बोलता है: स्मृति ईरानी बॉलीवुड की इस एक्ट्रेस ने शादी की बात पर तोड़ी चुप्पी
आनंद को कप्तानी से हटाना गलत, 30 सालों से सर्वश्रेठ कप्तान: विजय
sanjeevnitoday.com | Thursday, January 12, 2017 | 04:33:26 PM
1 of 1

नई दिल्ली। टेनिस खिलाड़ी विजय अमृतराज ने कहा कि आनंद अमृतराज पिछले तीन दशक में देश के सर्वश्रेष्ठ कप्तान थे और जीतते हुए कप्तान को हटाना प्रचलन के खिलाफ है। डेविस कप में स्वयं भी भारत के कप्तान रहे विजय ने कहा कि आनंद काफी प्रतिबद्ध थे और उनके दिए नतीजों पर कोई सवाल नहीं उठा सकता।

 

दो बार विंबलडन और अमेरिकी ओपन के एकल क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाले विजय ने दिए एक साक्षात्कार में कहा, मैं प्रत्येक चीज की जटिलता पर ध्यान नहीं देता लेकिन मुझे पता है कि 1987-88 से आनंद से बेहतर कोई कप्तान नहीं है। उन्होंने कहा, मैं ऐसा सिर्फ इसलिए नहीं कह रहा कि वह मेरा भाई है।

लेकिन इसलिए कह रहा हूं क्योंकि अतीत का शायद ही भारत का कोई खिलाड़ी उसकी क्षमता का है जिसने 20 साल तक शीर्ष स्तर पर डेविस कप खेला हो और सभी ग्रैंडस्लैम के एकल में खेला हो और कुछ शीर्ष खिलाडिय़ों को हराया हो और खेल के लिए जुनून बरकार हो तथा नियमित तौर पर फ्यूचर्स, चैलेंजर और एटीपी 250 प्रतियोगिता पर ध्यान देता हो।  

विजय को जब यह बताया गया कि एआईटीए ने नतीजों पर सवाल नहीं उठाया बल्कि टीम में अनुशासन बरकार रखने में विफल रहे के लिए उन्हें बर्खास्त किया तो उन्होंने कहा, अन्य कोई मुद्दा मुझे नहीं पता। मैं वही देखता हूं जो मैंने समाचार पत्रों में पढ़ा। इसलिए मेरे नजरिये से आनंद शानदार कप्तान था।

यह भी पढ़े: यहां हेलीकॉप्टर की मदद से हवाई अड्डे की सीमा में घास चर रही भैंसों की तलाश!

यह भी पढ़े: यहां मन्नत पूरी होने पर नवजात शिशुओं को पूर्णा नदी में तैराने की है परंपरा!

यह भी पढ़े: क्राइम ! प्रेमी नौकर के साथ बेड पर थी बहु तभी आ गयी सास और फिर...प्राइवेट पार्ट

यह भी पढ़े: सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ मौके पर मिले कंडोम के पैकेट



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.