loading...
एलेन बॉर्डर मेडल: लगातार दूसरी बार सर्वश्रेष्ठ ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बने डेविड वॉर्नर टीम इंडिया में चयन बहुत बड़ी ख़ुशी बात, फिर भी निराश हैं परवेज रसूल, जानिए क्यों? भाजपा ने किया 'डिजी युवा' अभियान का शुभारंभ कश्मीर में आतंकी ठिकानों का भंडाफोड़ दिल्ली के लिए शुरू हुआ शाहरुख खान का रेल सफर भतीजे की गला रेत कर हत्या राष्ट्रपति ने किया करौली के सोनू का सम्मान मेरी एक बेहद यादगार गजल नक्श लायलपुरी ने लिखी थी: लता मंगेशकर गेंहू उपार्जन में गड़बड़ी करने वालों पर करें कड़ी कार्रवाई : शिवराज मिश्रित मार्शल आर्ट्स लीग से जुड़े टाइगर श्रॉफ सोशल मीडिया पर छा गए अमिताभ बच्चन प्रधानमंत्री ने 25 बच्चों को वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया किंग्स इलेवन पंजाब के रणनीतिकार होंगे सहवाग गोरखपुर: रेलवे स्टेशन उड़ाने की धमकी से मचा हड़कंप भाजपा को उत्तर प्रदेश में मिलेगा दो-तिहाई बहुमत : अमित शाह सलमान के बरी होने पर डेजी ने जताई ख़ुशी देश और समाज के लिए कार्य करें स्वयंसेवक : मोहन भागवत यूपी चुनाव: अखिलेश-राहुल मिलकर करेंगे 14 रैलियां दहेज के लिए विवाहिता की गला दबा कर हत्या टीम इंडिया के खिलाफ आक्रामक अंदाज में खेलना होगा: स्मिथ
पाकिस्तान ने हॉकी विश्व कप से बाहर होने का जिम्मेदार भारत को ठहराया
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 11:59:25 AM
1 of 1

कराची। अंतरराष्ट्रीय हाकी महासंघ (एफआईएच) का जूनियर विश्व कप से पाकिस्तान की टीम को बाहर करने का फैसला पीएचएफ को नागवार गुजरा और उसके सचिव शाहबाज अहमद ने इस कदम को हास्यास्पद करार दिया। अहमद ने कहा कि यह हमारे लिए बड़ा झटका है क्योंकि हम लखनउ में होने वाले टूर्नामैंट के लिए वीजा जारी करने के लिए भारतीय उच्चायोग को मनाने की अपनी तरफ से सर्वश्रेष्ठ कोशिश कर रहे थे। 

एफआईएच ने सोमवार को पाकिस्तान को 8 से 18 दिसंबर के बीच होने वाले विश्व कप के 16 भागीदार देशों की सूची से हटा दिया। उसका कहना था कि पाकिस्तान हाकी महासंघ ने वीजा के लिए देर से अपील की और यहां तक कि समयसीमा तक भागीदारी संबंधी जरूरतें पूरी नहीं की थी। एफआईएच ने इस टूर्नामैंट में पाकिस्तान के स्थान पर मलेशिया को शामिल किया है। पूर्व पाकिस्तानी कप्तान शाहबाज ने कहा कि पीएचएफ ने भारतीय उच्चायोग को 24 अक्तूबर को ही वीजा के लिये आवेदन कर दिया था जबकि एफआईएच की टीमों की प्रविष्ठियां हासिल करने की अंतिम तिथि 28 नवंबर थी। 

उन्होंने कहा कि हम वीजा जारी होने तक होटल बुक नहीं कर सकते और यात्रा की अन्य व्यवस्थाएं नहीं कर सकते थे। हमें आज तक भी वीजा नहीं मिले हैं। शाहबाज ने कहा कि हमें इस टूर्नामैंट के लिए सरकार से पैसा मिला है और इसलिए पैसों से जुड़ी कोई दिक्कत नहीं थी। यह दुखद लेकिन अटपटा फैसला है क्योंकि एक भारतीय नरिंदर बत्रा के एफआईएच अध्यक्ष बनने के बाद इतना कड़ा फैसला किया गया। 

यह भी पढ़े: अचानक यह युवक रोड पर करने लगा ऐसी हरकत, जिसे देख लोग पड़ गए अचम्बे में, VIDEO

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: इस मंदिर में देवी मां को चढ़ाई जाती हैं हथकड़ी और बेड़ियां!

यह भी पढ़े: VIDEO: इस शख्स ने सड़क पर खड़ी लड़की पर कर दिया रोड से हमला, जानें वजह



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.