आखिर क्या हुआ भारत के विराट को, बरसे अंपायर पर.. ये शो वापस लाएगा मशहूर ITEM GIRL राखी सावंत ! शिक्षा आर्थिक संवृद्धि की पहली शर्त : मनमोहन सिंह निम्मो का पहला लुक जारी, जरूर देखे जूनियर और सीनियर हाकी में एकरूपता चाहते हैं कोच IPL 2017 में नहीं होंगे KKR के गेंदबाजी कोच वसीम अकरम केरल के CM को हुई असुविधा के लिए MP के शीर्ष अधिकारियों को खेद शशिकला को संभालनी चाहिए अन्नाद्रमुक की कमान : पन्नीरसेल्वम HOCKEY: इंग्लैंड भी नही रोक सका भारत का विजयी अभियान, 5-3 से परास्त BIRTHDAY PARTY: स्टनिंग लुक में नजर आई नव्या पिस्टल दिखाकर महिला से मारपीट और गैंगरेप पर्रिकर ने मॉरीशस को पूर्ण सहयोग का दिया आश्वासन ऐसा क्या कारण था जो कटप्पा ने बाहुबली को मारा तेलंगाना में करीब 82 लाख रूपये के नए नोट जब्त पंजाब: बेरवाला गांव के जंगल में मिली मिसाइल,मचा हड़कंम एयर इंडिया फंसे यात्रियों को निकालने के लिए आज रात दो उड़ानें करेगी संचालित नहीं मिली एम्बुलेंस, मजबूरन हाथ रिक्शे से लाना पड़ा शव life Ok शो ‘बहू हमारी रजनीकांत’ बंद नहीं होगा भारत को तीन साल में मिलेगी राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप: वायुसेनाध्यक्ष खेल मंत्री ने सोनीपत में नए कुश्ती हाल का उद्घाटन किया..
भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बन सकते हैं विराट
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 11:33:02 AM
1 of 1

नई दिल्ली। महेंद्रसिंह धोनी अभी भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं, लेकिन यदि पहले 20 टेस्ट मैचों में नेतृत्व की बात की जाए तो विदेशी धरती पर विराट का रिकॉर्ड उनसे बेहतर है। 28 वर्षीय विराट अपने उम्दा प्रदर्शन से टीम के प्रेरणास्त्रोत भी बने रहते हैं जिसके चलते टीम के प्रदर्शन में निरंतर सुधार हो रहा है। टीम इंडिया को अभी इस सत्र में अपने घर में सात टेस्ट मैच और खेलने है टीम के अपने घर में प्रदर्शन को देखते हुए कप्तानी के मामले में विराट का रिकॉर्ड तेजी से और बेहतर होने का अनुमान है।

युवा टीम इंडिया द्वारा पिछले दो वर्षों में किए जा रहे प्रदर्शन को देखते हुए विराट के अगले कुछ वर्षों में महेंद्रसिंह धोनी को पीछे छोड़कर भारत का सबसे सफल टेस्ट कप्तान बनने की उम्मीद है। मोहाली टेस्ट के बाद विराट के नेतृत्व में खेले 20 टेस्ट मैचों में से भारत ने 12 में जीत दर्ज की जबकि 2 मैच हारे और 6 ड्रॉ रहे। धोनी के नेतृत्व में भी भारत का शुरुआती 20 मैचों में रिकॉर्ड विराट के समान ही रहा था, लेकिन विदेशी धरती पर टीम का प्रदर्शन विराट के नेतृत्व में बेहतर रहा है।

धोनी के नेतृत्व में उस वक्त टीम ने 1 मैच जीता था जबकि 1 ड्रॉ रहा था, इसके विपरीत विराट की अगुआई में टीम ने 2 मैच जीते, 1 हारा जबकि 3 मैच ड्रॉ रहे। यदि भारत के टेस्ट कप्तानों के शुरुआती 20 मैचों के प्रदर्शन पर नजर डाले तो विराट और धोनी 12 जीत, 2 हार और 6 ड्रॉ के साथ संयुक्त रूप से सबसे आगे हैं। इसके बाद सौरव गांगुली के नेतृत्व में टीम ने 10 मैच जीते, 5 हारे जबकि 5 ड्रॉ रहे। इसी प्रकार राहुल द्रविड़ की अगुआई में टीम ने 6 मैच जीते, 6 ड्रॉ रहे जबकि 8 में टीम को हार झेलनी पड़ी। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर का कप्तानी का रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा, उनके नेतृत्व में शुरुआती 20 टेस्ट मैचों में टीम मात्र 4 जीत दर्ज कर पाई जबकि उसे 4 में हार का सामना करना पड़ा।

अभी आंकड़ों के लिहाज से देखा जाए तो धोनी भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान है। उनके नेतृत्व में टीम ने 60 मैचों में से 27 में जीत दर्ज की, 18 मैच हारे तथा 15 ड्रॉ रहे। सौरव गांगुली ने 49 टेस्ट में टीम की कमान संभाली, जिनमें से भारत ने 21 मैच जीते, 13 हारे जबकि 15 ड्रॉ रहे। मोहम्मद अजहरूद्दीन तीसरे क्रम पर है, उनकी अगुआई में टीम ने 47 मैचों में से 14 जीते, 14 हारे जबकि 19 ड्रॉ रहे। विराट के नेतृत्व में टीम 12 जीत दर्ज कर चुकी है और आने वाले समय में भारतीय फैंस अपनी टीम को सफलता की नई इबारत लिखते हुए देखेंगे।

 

यह भी पढ़े: VIDEO: जब बीच सड़क पर गाने पर अचानक ही ये लड़का-लड़की करने लगे DANCE!

यह भी पढ़े : रोज-रोज होता था पेट दर्द, चेक करवाया तो निकला कंडोम, डाक्टर भी चौंक गये

यह भी पढ़े: फूड आइटम की बिक्री दुगनी हो जाती है जब ये मॉडल छोटे कपडे पहन कर करती है दुकानदारी..!

यह भी पढ़े: चमत्कारी पहाड़ ! आज भी खुद ब खुद ऊपर की और चलने लगती है गाड़िया ... छुपी है रहस्यमहि ताकत



0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.