चोटिल साहा को आराम, चौथे टेस्ट में भी टीम का हिस्सा बने रहेंगे पार्थिव पर्ल हार्बर पर माफी नहीं मांगेंगे जापान के PM लखनऊ रैली में मायावती ने अखिलेश पर साधा निशाना, बोलीं - अभी बबुआ है अखिलेश Lenovo के इस लैपटॉप पर मिलेगी भारी छूट LG ने भारत में लॉन्च किया 54,999 का फ्लैगशिप स्मार्टफोन तकनीकी खराबी के कारण वापस लौटा राष्ट्रपति को चेन्नई ले जा रहे विमान वनडे और टी-20 के लिए इंग्लैंड टीम घोषित, मोर्गन, हेल्स की वापसी कटरीना की इस बात से डरती है परिणीति 2017 में लॉन्च होगी मर्सिडीज बेंज की यह नई कार नोटबंदी के जनप्रभाव को कम करने के लिए 'महा वॉलेट' बना रही है महाराष्ट्र सरकार Sanjeevni Today: Top Stories of 1pm पाक में 4 कट्टर आतंकियों की मौत की सजा पर लगी मुहर 2020 तक 60 करोड़ लोग यूज़ करेंगे इंटरनेट हिरासत से बचने के लिए दरगाह में ली पनाह,फिर भी गिरफ्तार हुए यासीन मलिक पेटीएम वॉलेट बहुत जल्द बन सकता है बैंक का हिस्सा अब आप पोस्ट ऑफिस में भी कर सकेगें पासपोर्ट के लिए आवेदन अक्षय ने किया भूमि के साथ टेंपो में रोमांस गुजरात हाईकोर्ट ने रिजर्व बैंक से पूछा, किस अधिकार के तहत निकासी पर लगाई रोक सुलतानपुर में स्कूल का छज्जा गिरा, 2 दर्जन बच्चे घायल राष्ट्रपति जयललिता को आखिरी विदाई देने जाएंगे चेन्नई
एक अदद सलामी जोड़ी के लिये जूझते रहे हैं कप्तान कोहली
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 06:19:32 PM
1 of 1

नई दिल्ली। विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने भले ही अब तक खेले गये 20 टेस्ट मैचों में से 12 में जीत दर्ज की है लेकिन इसमें ओपनरों का बहुत अधिक योगदान नहीं रहा और आलम यह है कि कुछ खिलाड़ियों की चोट तो कुछ की खराब फार्म के कारण उनके कप्तानी कार्यकाल में भारत अब तक छह सलामी जोड़ियां आजमा चुका है। 

कोहली को टेस्ट टीम की कप्तानी करते हुए लगभग दो साल हो गये हैं। उन्होंने अब तक 20 टेस्ट मैचों में टीम की कमान संभाली है जिसमें भारत ने 12 में जीत दर्ज की जबकि दो में उसे हार मिली। बाकी छह मैच ड्रा छूटे। इन मैचों में अधिकतर पारियों में भारतीय सलामी जोड़ी टीम को अच्छी शुरूआत देने में नाकाम रही। कोहली की कप्तानी में भारत ने जो 35 पारियां खेली उनमें से सलामी जोड़ी ने केवल एक शतकीय और पांच अर्धशतकीय साझेदारियां निभायी। 

इनमें से मुरली विजय ने सर्वाधिक 27 पारियों में पारी का आगाज किया और इसलिए उन्होंने 40 . 73 की औसत से इस बीच 1059 रन भी बनाये। विजय ने सर्वाधिक 13 पारियों में शिखर धवन के साथ पारी की शुरूआत की लेकिन ये दोनों एक दो अवसरों को छोड़कर अधिकतर अवसरों पर टीम को अपेक्षित शुरूआत देने में नाकाम रहे। धवन और विजय ने बांग्लादेश के खिलाफ फतुल्लाह में पहले विकेट के लिये 283 रन जोड़े थे। इसके अलावा उन्होंने दो अर्धशतकीय साझेदारियां भी निभायी। 

इन सबके बावजूद इन दोनों ने एक साथ में केवल 537 रन ही बनाये हैं जिससे अनुमान लगाया जा सकता है कि बाकी दस पारियों में वे टीम को अच्छी शुरूआत नहीं दे पाये। धवन ने इस बीच 18 पारियों में पारी की शुरूआत की और उन्होंने 39 . 70 की औसत से 675 रन बनाये लेकिन चोट और खराब फार्म के कारण वह फिलहाल टीम से बाहर चल रहे हैं।

यह भी पढ़े: अगर आपको गुस्सा आता है, तो आप स्वस्थ हैं।

यह भी पढ़े: ये है एंटी डैंड्रफ कंघी, खरीदने के लिए लोगों की जमा हुई भीड़

यह भी पढ़े: यहां की महिलाओ की सुंदरता के आगे बड़ी-बड़ी हस्तियां और मॉडल्स भी है फ़ैल

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.