संजीवनी टुडे

News

Pak को किनारे लगाने के बाद अब चीन को पटखनी देने की तैयारी में भारत

Sanjeevni Today 06-12-2017 13:10:52

नई दिल्ली। पाक के कब्जे वाले कश्मीर से होते हुए चीन ने वन बेल्ट-वन रोड प्रोजेक्ट पर काम कर भारत को दबाव में लाने की कोशिश की। मगर, अब चीन को रूस के साथ मिलकर भारत करारा जवाब देने की तैयारी कर रहा है। 

यह भी पढ़े: ज़हीर-सागरिका की रिसेप्शन पार्टी में कैसे विराट-अनुष्का ने लगाए ठुमके, देखें वीडियो

गौरतलब है कि, भारत और अफगानिस्तान के बीच चाबहर पोर्ट के पहले फेज की शुरुआत बीते रविवार को हो गई थी। अब नजरें इंटरनेशनल नॉर्थ साउथ ट्रांसपोर्ट कॉरिडोर के प्रोजेक्ट पर हैं। इसकी शुरुआत साल 2000 में भारत, ईरान और रूस ने की थी, इसके साथ ही इस योजना का एक ड्राई रन साल 2014 में हो चुका है।

यह भी पढ़े: इस बाबा ने मोदी के खिलाफ लगाए ऐसे नारे जिन्हे सुनकर रह जाएंगे दंग, देखे वीडियो

क्या होगा प्रोजेक्ट से लाभ
विदेश मामलों के विशेषज्ञ ए सतोब्दन इस प्रोजेक्ट के कई लाभ गिनाते हैं। जानकारी के मुताबिक, इस परियोजना में ईरान के चाबहार बंदरगाह की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। अध्ययन के मुताबिक, इंटरनेशनल उत्तर-दक्षिण परिवहन कोरिडोर (आईएनएसटीसी) के अमल में आने पर माल को पहुंचाने के समय और लागत में करीब 40 प्रतिशत की कमी आएगी।

भारत, ईरान और रूस ने सितंबर 2000 में आईएनएसटीसी समझौते पर हस्ताक्षर किए थे जो ईरान और सेंट पीटर्सबर्ग के माध्यम से कैस्पियन समुद्र तक हिंद महासागर और फारस की खाड़ी को जोड़ने वाला सबसे छोटा मल्टी-मॉडल परिवहन मार्ग प्रदान करने के लिए एक गलियारे का निर्माण करने के लिए समझौता किया था। 

पीएम मोदी को है परियोजना से खासी आस
साल 2015 में उफा में एससीओ शिखर सम्मेलन का मौका था। तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि, हम अपने क्षेत्र में परिवहन एवं संचार नेटवर्क को बेहतर बनाने को आशान्वित हैं। इस दिशा में वृहद नेटवर्क बना सकते हैं जो यूरेशिया के उत्तरी कोने से एशिया के दक्षिणी छोर तक फैला हो। 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !  

Watch Video

More From world

Recommended