loading...
loading...
loading...
राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीरा कुमार ने किया नामांकन #ToiletEkPremKatha का पहला गाना HansMatPagli रिलीज इन अजीबोगरीब रेस्टोरेंट के बारें में सुनकर आपको भी आ जाएंगी हंसी मुंबई ब्लास्ट के दोषी मुस्तफा डोसा की हार्ट अटैक से मौत बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी के ममेरे भाई-भाभी की सड़क हादसे में मौत इस रेस्टोरेंट के बंद होने की वजह जानकर आप चौंक जाएंगे Video: सेंसर बोर्ड ने दी 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' के इस ट्रेलर को रिलीज़ की इजाजत आनंदपाल का शव लेने से परिजनों ने किया इंकार, अब पुलिस की निगरानी में होगा अंतिम संस्कार 31 अंक की बढ़ोतरी के साथ सैंसेक्स 30,989 अंक पर GST लॉन्च की तैयारी को लेकर संसद में आज होगा मेगा रिहर्सल इस पति ने अपनी पत्नी के साथ जो किया उसे सुनकर आप रह जाएंगे दंग मानसून मेगा सेल में Spice Jet दे रहा 699 रुपए में हवाई यात्रा करने का मौका श्वेता तिवारी की बेटी का ये हॉट फोटोशूट देख आप भी कहेंगे WOW GST को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल, 29 जून को होगी सुनवाई 'साथ निभाना साथिया' की गोपी बहु की तबियत ख़राब, हॉस्पिटल में हुइ एडमिट आपत्तिजनक हालत में पुलिस ने 35 लड़के-लड़कियों को किया गिरफ्तार नियम उल्लंघन मामले को लेकर 'लसिथ मलिंगा' पर लगा 6 महीने का प्रतिबंध 'द कपिल शर्मा शो' में कपिल का साथ देने आ रही है भारती सिंह पुजारी ने लड़की की आबरू को तार-तार करने की वारदात को दिया अंजाम 7वां वेतन आयोग: सरकारी कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोत्तरी पर 28 जून को लिया जा सकता है फैसला
अमृतसर में स्थित है सिखों की भक्ति और आस्था का केंद्र धार्मिक गुरुद्वारा
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 03:37:09 AM
1 of 1

अमृतसर। पंजाब के अमृतसर में सिखों की भक्ति और आस्था का केंद्र धार्मिक गुरुद्वारा स्थित है। जिसे श्री हरमंदिर साहिब, श्री दरबार साहिब और विशेष रूप से स्वर्ण मंदिर के नाम से जाना जाता है। यहां सभी धर्मों के लोग अपना सिर झुकाते हैं। 


स्वर्ण मंदिर की स्थापना 1574 में चौथे सिख गुरु रामदासजी ने की थी। पांचवे सिख गुरु अर्जुन ने हरमंदिर साहिब को डिज़ाइन किया। माना जाता है कि 19वीं शताब्दी में अफगान हमलावरों ने इस मंदिर को पूरी तरह नष्ट कर दिया था। तब महाराजा रणजीत सिंह ने इसे दोबारा बनवाया था और सोने की परत से सजाया था। धार्मिक महत्वता होने के बावजूद भी स्वर्ण मंदिर के बारे में कुछ ऐसी बाते हैं, जिनसे कई लोग अनजान हैं।


इसकी सबसे रोचक बात यह है कि यह मंदिर सफ़ेद मार्बल से बना हुआ है और जिसे असली सोने से ढका गया है। जिसके कारण इसे स्वर्ण मंदिर भी कहा जाता है।

स्वर्ण मंदिर के निर्माण के लिए मुस्लिम शासक अकबर ने जमीन दान की थी। 

मंदिर की नींव सूफी संत साईं मियां मीर ने रखी थी। 

महाराजा रणजीत सिंह ने स्वर्ण मंदिर के निर्माण के लगभग 2 शताब्दी बाद यहां की दीवारों पर सोना चढ़वाया था।

ब्रिटिश सरकार ने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान जीत के लिए यहां अखंड पाठ करवाया था।

अहमद शाह अब्दाली के सेनापति जहां खान ने इस मंदिर पर हमला किया था। सिख सेना ने इसके जवाब में उसकी पूरी सेना को खत्म कर दिया था। 

चारों दिशाओं से इस मंदिर में प्रवेश कर सकते हैं क्योंकि चारों दिशाओं में इस मंदिर के प्रवेश द्वार बने हुए हैं। मंदिर में चार द्वार चारों धर्म की एकता के रूप में बनाए गए थे। 

यहां दुनिया का सबसे बड़ा लंगर लगाया जाता है। यहां प्रतिदिन 50,000 लोग लंगर ग्रहण करते हैं। 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.