संजीवनी टुडे

News

जानिए, जन्माष्टमी मनाने का महूर्त

Sanjeevni Today 12-08-2017 19:22:52

 

नई दिल्ली। जन्माष्टमी पर इस बार तिथि, वार और नक्षत्र का मिलन नहीं हो पा रहा है। इसके चलते लोग असमंजस में हैं। ज्योतिषों के अनुसार रात्रि को अष्टमी व्यापिनी तिथि में ही जन्माष्टमी का पर्व मनाना शास्त्र सम्मत है। इस हिसाब से 14 अगस्त को यह पर्व मनाया जाना चाहिए।

यह भी पढ़े: यहां पर 2 जुडवां बच्चों के भ्रूण के साथ जन्मी बच्ची!


भाद्रपद माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मध्यरात्रि रोहिणी नक्षत्र में देवकी और वासुदेव के पुत्र रूप में कृष्ण का जन्म हुआ था। भगवान कृष्ण का जन्म बुधवार, रोहिणी नक्षत्र और अष्टमी तिथि को हुआ था। जबकि इस बार बुधवार नहीं है। तिथि और नक्षत्र का मिलन भी नहीं हो पा रहा है।

तिथि व मुहूर्त 
जन्माष्टमी 2017 : 14 अगस्त
निशिथ पूजा: 12:03 से 12:47
निशिथ चरण के मध्यरात्रि के क्षण है: 12:25 बजे
15 अगस्त पराण: शाम 5:39 के बाद
अष्टमी तिथि समाप्त: 5:39

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

Watch Video

More From religion

Recommended