संजीवनी टुडे

News

क्या आपको पता है अंतिम संस्कार के समय मटकी में जल भरकर चिता की परिक्रमा क्यों लगाई जाती है ?

Sanjeevni Today 13-08-2017 16:59:06

डेस्क। आप कभी न कभी किसी के अंतिम संस्कार में गए होंगे। लेकिन क्या आपने कभी यह गौर किया कि मटकी में जल भरकर चिता की परिक्रमा क्यों की जाती है। हम  आपको बताते है।  इस बारे में इस पुराण में लिखा है कि ऐसा करने से उस व्यक्ति की आत्मा उसके शरीर से मोह भंग हो जाती है लेकिन इसके पीछे एक और रहस्य है ?इसके बारे में कहा जाता है की हमारा जीवन इस मटके के समान मृत होता है जैसे भरा पानी हमारा समय होता है इसका मतलब यह होता है यह आयु रुपी पानी हर पल टपकता रहता है और अन्त में समाप्त हो जाता है।

यह भी पढ़े: ये लड़की जिस सामान को छू लेती है उसमे लग जाती है आग
लेकिन क्या आपने कभी यह भी गौर किया कि भारत में हिंदुओं में अंतिम संस्कार सूर्यास्त से पहले ही क्यों किया जाता है? इसी विषय के बारे में पुराण में अंतिम संस्कार से सम्बंधित कई बाते बताई गई हैं आज हम उन बातो के बारे में आपको बतायेंगे।

इस बारे में गरुड़ पुराण में विस्तार से बताया गया है ,इस पुराण के अनुसार किसी भी व्यक्ति का सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार नहीं किया जाता है अगर किसी की मौत रात को हुई है तो उसका दाह संस्कार दुसरे दिन ही किया जाता है इस बारे में माना जाता है कि सूर्यास्त के बाद मृतक का अंतिम संस्कार करने से उस व्यक्ति की आत्मा को परलोक में कष्ट भोगना पड़ता है और अगले जन्म में उसके किसी भी अंग में दोष हो सकता है। इस कारण सूर्यास्त के बाद दाह संस्कार नहीं किया जाता है। 

 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

Watch Video

More From religion

Recommended