जापान ओपन: सिंधु-साइना हारी, श्रीकांत और प्रणय क्वार्टर फ़ाइनल में UNICEF के प्रोग्राम में 2,89,780 रुपये का व्हाइट गाउन पहनकर पहुंची PC बनारस बना अपराध का ठिकाना भारत ने AUS से 14 साल पहले का किया हिसाब चुकता, कुलदीप ने ली हैट्रिक सुकमा में पुलिस मुठभेड़ में नक्सल कमांडर भीमा को किया ढेर साउथ अफ्रीका दौरे पर भारतीय टीम 4 नहीं बल्कि 3 टेस्ट खेलेगी क्राइम मनोविज्ञान विधि से जांच करना चाहती है पुलिस , सुनंदा पुष्कर मामला LIVE: भारत ने दूसरा वनडे में ऑस्ट्रेलिया को चटाई धूल, सीरीज में 2-0 की बढ़त मोदी सरकार केश लेश की और भ्रष्टाचार गुजरे जमाने की बात: अरुण जेटली LIVE: ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट गिरे, भारत जीत की और अग्रसर सात साल की मासूम बच्ची के साथ युवक ने किया दुष्कर्म अपेक्स बैंक को मोदी ने किया उत्कृष्ट सहकारी बैंक सेवा के लिए सम्मानित किया यूपी का ATM ठग दौसा में हुआ गिरफ्तार LIVE: भारत के कुलदीप ने मारी हैट्रिक, score 148 रन 8 विकेट इन बॉलीवुड सितारों ने ऐसे दी फैंस को नवरात्रि की शुभकामना परमाणु प्रतिबंध संधि पर 50 देशो ने किये हस्ताक्षर, कई देशो ने नकारा उत्तर प्रदेश व लखनऊ में भारी बारिश की संभावना,मौसम विभाग LIVE: दोनों मैचों में मैक्सवेल को चहल ने भेजा पेवेलियन, स्कोर 100 के पार उधमपुर में नाबालिक लड़की के साथ किया दुष्कर्म आरोपी गिरफ्तार LIVE: भारत को मिली तीसरी सफलता, ट्रेविस हेड लौटे score 85/3
...तो वजह से 14 सितंबर को मनाया जाता है हिन्दी दिवस
sanjeevnitoday.com | Thursday, September 14, 2017 | 09:03:58 AM
1 of 1

नई दिल्ली। आज हिंदी दिवस हैं। हर साल 14 सितंबर को देश में हिन्दी दिवस मनाया जाता है। इस दिन स्कूल, कालेजों और विश्वविद्यालयों में मात्र भाषा हिन्दी को बढ़ावा देने के लिए संगोष्ठी और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। 

 

- हिंदी विश्व में दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। अंग्रेजी से भी ज्यादा। हिंदी शब्‍द मूल रूप से फारसी से उत्‍पन्‍न हुआ है। 20 देशों में हिंदी भाषा का इस्तेमाल किया जाता है। करीब 50 करोड़ लोग हिंदी का इस्तेमाल करते हैं। 

यह भी पढ़े: पति को बनाना है अपना गुलाम तो ये है सबसे बेहतर तरीके

- पहली बार 1953 में हिन्दी दिवस मनाया गया था। 14 सितंबर 1949 में सबसे पहले हिंदी को राजभाषा का दर्जा मिला था। तब से हर साल इस दिन हिंदी दिवस के तौर पर मनाया जाता है। 

- साल 1947 में जब अंग्रेजी हुकूमत से भारत आजाद हुआ तो देश के सामने भाषा को लेकर सबसे बड़ा सवाल खड़ा था।

- 1946 में आजाद भारत का संविधान तैयार करने के लिए संविधान का गठन हुआ। लेकिन भारत की कौन सी राष्ट्रभाषा चुनी जाएगी ये मुद्दा खड़ा था तब हिंदी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की भाषा चुना गया।

यह भी पढ़े: शरीर के इस अंग को दुबारा ना छुए नहीं तो

- संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिंदी को अंग्रजों के साथ राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था। 

- 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी।

 

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.