संजीवनी टुडे

''राहुल सावरकर'' वाला बयान भाजपा-शिवसेना दोनों को नहीं आया रास, कुछ इस तरह राहुल गांधी को घेरा

संजीवनी टुडे 14-12-2019 22:04:23

दिल्ली के रामलीला मैदान में हुई भारत बचाओ रैली में राहुल गांधी ने भाजपा को कई मुद्दों पर घेरा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी सहित कई बड़े नेता इस रैली में शामिल हुए और समर्थकों को सम्बोधित किया। राहुल गांधी यहां पार्टी की ओर से यहां रामलीला मैदान में आयोजित ‘भारत बचाओ रैली’ को संबोधित कर


नई दिल्ली। दिल्ली के रामलीला मैदान में हुई भारत बचाओ रैली में राहुल गांधी ने भाजपा को कई मुद्दों पर घेरा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रियंका गांधी, सोनिया गांधी सहित कई बड़े नेता इस रैली में शामिल हुए और समर्थकों को सम्बोधित किया। राहुल गांधी यहां पार्टी की ओर से यहां रामलीला मैदान में आयोजित ‘भारत बचाओ रैली’ को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, “कल संसद में भाजपा के नेता मुझसे माफी की मांग कर रहे थे। लेकिन मैं उन्हें बता देना चाहता हूं कि मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मैं राहुल गांधी हूं। मैं माफी नहीं मागूंगा।” राहुल गाँधी के इस बयान के बाद विपक्ष सहित गठबंधन की सरकार शिवसेना ने भी इस पर ऐतराज जताया हैं। 

यह खबर भी पढ़ें: Citizenship Law: भारी विरोध-प्रदर्शन के बीच अमित शाह ने बिल पर दिया ये बड़ा बयान, कहा- यह मुसलमान विरोधी........

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि हम महात्मा गांधी और पंडित नेहरू का सम्मान करते हैं। कृपया वीर सावरकर का अपमान न करें। वही अब देवेंद्र फडणवीस ने इस बयान की निंदा की हैं। पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर से दिया गया बयान पूरी तरह से निंदनीय है। राहुल गांधी सावरकर के नाखून के बराबर भी नहीं हैं और खुद को 'गांधी' समझने की गलती उन्हें नहीं करनी चाहिए। उन्होने आगे कहा, केवल आखरी नाम गांधी होने से कोई महात्मा गांधी नहीं बन जाता है सावरकर ने अपनी जीवन की आहुति मातृभूमि के लिए दी। सब कुछ त्याग किया। 

उनके खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना, देश के लिए सब कुछ त्याग करने वाले तमाम देशभक्तों का अपमान है। इसके लिए राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। इस बयान के बाद भाजपा ने भी पलटवार किया हैं। बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने कहा- उधार का सरनेम लेने से कोई गांधी नहीं होता। वीर सावरकर तो सच्चे देशभक्त थे...उधार का सरनेम लेने से कोई गांधी नहीं होता, कोई देशभक्त नहीं बनता..देशभक्त होने के लिए रगों में शुद्ध हिंदुस्तानी रक्त चाहिए।

यह खबर भी पढ़ें: ''भारत बचाओ रैली'' में क्या बोले CM अशोक गहलोत?

वेश बदलकर बहुतों ने हिंदुस्तान को लूटा है अब यह नहीं होगा। यह तीनों कौन है ??क्या यह तीनों देश के आम नागरिक हैं?? उन्होनें आगे कहा, वीर सावरकर तो सच्चे देशभक्त थे। उधार का सरनेम लेने से कोई गांधी नहीं होता, कोई देशभक्त नहीं बनता। देशभक्त होने के लिए रगों में शुद्ध हिंदुस्तानी खून चाहिए। गिरिराज इतने में ही नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि वेश बदलकर बहुतों ने हिंदुस्तान को लूटा है अब यह नहीं होगा। यह तीनों कौन है ? क्या यह तीनों देश के आम नागरिक हैं?  

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended