संजीवनी टुडे

लोकसभा/ अखिलेश ने किया ट्वीट- CitizenshipBill भारत और संविधान का अपमान, NDA से अलग हुई शिवसेना बिल के पक्ष या विपक्ष में, जानिए

संजीवनी टुडे 09-12-2019 16:35:31

सोमवार को जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश किया तो काफी हंगामा हुआ। विपक्ष ने कई आरोप लगाए। मत विभाजन में 375 सदस्यों ने भाग लिया जिनमें से 82 ने विरोध में और 293 ने पक्ष में मतदान किया। सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र में सरकार गठन के मुद्दे पर एनडीए से अलग हुई शिवसेना ने भी बिल


नई दिल्ली। सोमवार को जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पेश किया तो काफी हंगामा हुआ। विपक्ष ने कई आरोप  लगाए। मत विभाजन में 375 सदस्यों ने भाग लिया जिनमें से 82 ने विरोध में और 293 ने पक्ष में मतदान किया। सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र में सरकार गठन के मुद्दे पर एनडीए से अलग हुई शिवसेना ने भी बिल पेश करने के पक्ष में वोटिंग की। वही अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है कि न किसान की आय दुगनी हुई, न गंगा साफ़ हुई, न अर्थव्यवस्था में सुधार लाए, न काला धन वापस लाए, न नौकरियां लाए, न बेटियों को बचा पाए, न विकास कर पाए, मैंने पहले कहा था: इनकी राजनीति ध्यान हटाने और समाज बांटने की है। 

यह खबर भी पढ़ें:​ 293 मत से नागरिकता संशोधन विधेयक प्रस्ताव स्वीकार; ओवैसी बोले- मूल ढांचे का उल्लंघन, इससे देश को होगा नुकसान

#CitizenshipBill भारत का और संविधान का अपमान है। एक तरफ जहां विपक्षी पार्टियां बिल का विरोध कर रही है, तो वहीं देश के कई हिस्सों में भी विधेयक के खिलाफ विरोध हो रहा है। कांग्रेस, शिवसेना, तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक, सपा, बसपा, राजद, माकपा, एआईएमआईएम, बीजद और असम में भाजपा की सहयोगी अगप विधेयक का विरोध कर रही हैं। जबकि, अकाली दल, जदयू, अन्नाद्रमुक सरकार के साथ हैं। एआईआईएमएल नेता असददुीन औवेसी ने कहा कि यह देश के धर्मनिरपेक्षता के ढांचे पर हमला है और मूल ढांचे का उल्लंघन करता है।

यह खबर भी पढ़ें:​ पाकिस्तानी क्रिकेटर जमशेद पर ब्रिटेन में चलेगा ट्रायल

इस कानून के पारित हाेने से देश का नुकसान होगा। अमित शाह ने सदन को आश्वस्त किया कि इन देशों के मुसलमान भी कानून के आधार पर नागरिकता के लिए आवेदन कर सकते हैं और उनके आवेदनों पर भी प्रक्रिया के तहत विचार किया जायेगा। इस पर कोई रोक नहीं लगेगी। जानकारी के मुताबिक़ संशोधित बिल में अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर के उन इलाकों में रहने वालों को छूट मिलेगी जो इन परमिट लाइन के दायरे में आते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended