माँ की ममता हुई शर्मशार: अपने ही मासूम बच्चे का किया कत्ल कुदरत का करिश्मा: 14 साल बाद परिवार से मिली अयोध्या से मुंबई पहुंची पूजा मानुषी छिल्लर पर हुड्डा व खट्टर में जुबानी जंग शुरू सुरक्षित और सम्मिलित साइबर स्पेस देने के प्रति प्रतिबद्ध है भारत : सुषमा स्वराज पद्मावती विवाद: नाहरगढ़ किले पर लटकाया युवक का शव, लिखा- हम पुतले नहीं शव लटकाते है हादसा :पटरी से उत्तरी वास्को-डि-गामा-पटना एक्सप्रेस हाफिज सईद की रिहाई पर अमेरिका ने जताई नाराजगी, कहा- फिर से गिरफ्तार करो दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ाने से किसी को नहीं हुआ फायदा: केजरीवाल मिस्र में अब तक का सबसे भीषण आतंकी हमला, 235 लोगो की मौत वीडियो: वोट देने से किया मना तो दबंगो ने जलाया महिला का घर आधार कार्ड को लेकर दो बड़े फैसले, जल्द कीजिए आप भी नहीं तो सकता है बड़ा नुकसान अभिनेत्री नमिता आज अपने बॉयफ्रेंड वीरेंद्र से रचाई शादी, देखें वीडियो रेसिपी: इस प्रकार बनाएं स्वादिष्ट मैकरोनी कन्‍नौज में दूल्‍हा-दुल्‍हन ने थाने में रचाई शादी, खाईं सात जन्‍मों की कसमें, देखें वीडियो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता हैं पपीता, जानिए पद्मावती विरोध: किले में शव मिलने से बॉलीवुड में मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला मिस्र: हिंसक आतंकी हमले में 155 मरे, सैंकड़ों घायल ‘मॉनसून शूटआउट’ का नया गाना ‘अंधेरी रात’ में दिया हुआ रिलीज़ THE फैक्ट्री कार्नर ने मनाया बालदिवस कई खतरनाक बीमारियों को दूर भगाता है अमरूद, जानिए
गुजरात पर बोझ हैं जेटली, देशवासियों को उनका इस्तीफा मांगने का अधिकार: यशवंत सिन्हा
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 15, 2017 | 04:47:01 AM
1 of 1

अहमदाबाद। वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) में त्रुटियां बताते हुए और इसके लिए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की आलोचना करते हुए वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने आज कहा कि देशवासियों का यह मांग करना उचित होगा कि जेटली उन्हें हुई कठिनाइयों के लिए पद छोड़ें। उन्होंने यह भी कहा कि जेटली गुजरात की जनता पर बोझ लगते हैं।  जेटली गुजरात से राज्यसभा के सदस्य हैं।

मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना कर रहे सिन्हा ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में यह आरोप भी लगाया कि सभी पहलुओं पर विचार किये बिना जीएसटी को लागू कर दिया गया।

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री सिन्हा ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था को नोटबंदी और जीएसटी के रूप में एक के बाद एक दो झटके लगे।

सिन्हा को ‘लोकशाही बचाओ आंदोलन’ से जुड़े कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी तथा जीएसटी के प्रभाव और अर्थव्यवस्था की मौजूदा स्थिति के बारे में विचार व्यक्त करने के लिए गुजरात आमंत्रित किया था।

सिन्हा ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा, ‘‘हमारे वित्त मंत्री गुजरात से नहीं हैं और वह यहां से राज्यसभा में चुने गये हैं। वह गुजरात की जनता पर बोझ हैं। अगर उन्हें यहां से नहीं चुना जाता तो एक गुजराती को मौका मिलता।’’ उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री केवल एक व्यवस्था में विश्वास करते हैं कि ‘‘चित्त भी मेरी, पट्ट भी मेरी’’।

सिन्हा ने कहा कि अगर जीएसटी की दरें तय करते समय उचित तरीके से ध्यान दिया जाता तो इस तरह की विसंगतियां और अराजकता से बचा जा सकता था।

यह भी पढ़े: VIDEO : कार सहित बहे आयुष का शव 7 दिन बाद नाले में हुआ बरामद

उन्होंने कहा, ‘‘वह देश में गहराई तक दोषपूर्ण कर प्रणाली लागू करने का श्रेय नहीं ले सकते और इस देश की जनता को भलीभांति इस मांग को उठाने का अधिकार है कि उन्हें अपना पद छोड़ देना चाहिए।’’ जेटली ने कुछ दिन पहले कहा था कि सिन्हा 80 साल की उम्र में काम की तलाश कर रहे हैं। इस पर सिन्हा ने कहा कि वह अब भी तंदुरुस्त हैं और उन लोगों की तरह नहीं हैं जो बैठकर भाषण देते हैं। उनका इशारा संसद में बजट भाषण के बीच में जेटली के बैठ जाने की तरफ था।

उन्होंने किसी का नाम लिये बिना कहा कि कुछ लोगों ने उनके और उनके बेटे केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा के बीच दरार पैदा करने की कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.