जन्मदिन पर बेटे के साथ ताल से ताल मिलती नजर आई संजय दत्त की पत्नी मान्यता धोखाधड़ी कर 73 लाख रुपये हड़पे महिला विश्वकप 2017 : क्या मिताली राज की शेरनियां ला पायेगी विश्व कप? फिल्मों की दुनिया में आने के लिए करीना की 'जब वी मेट' ने किया आकर्षित: अनुष्‍का 30 किलो गांजे के साथ दो तस्करो को किया गिरफ्तार राशिफल : 23 जुलाई : कैसा रहेगा आपके लिए रविवार का दिन, जानने के लिए क्लिक करें देश और दुनिया के इतिहास के 23 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं युवक ने की महिला से छेड़छाड़, मामला दर्ज छेड़छाड़ की रिपोर्ट न लिखने पर इंस्पेक्टर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज सफेद हाथी साबित हो रहा है औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य निदेशालय स्वास्थ्य विभाग की देखरेख में हो बच्चों का टीकाकरण रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा- झारखंड राज्य को स्वास्थ्य के क्षेत्र में नंबर वन बनाएंगे समाज में संकुचित सोच ही नारी की सबसे बड़ी दुश्मन: गीता सहारण नागरिकों को खुद को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने की जरूरत स्वास्थ्य विभाग ने तीन निजी अस्पतालों पर छापा मारा शांति मानवता का मुख्य धर्म व युवा देश की रीढ़ की हड्डी हैं स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर के खिलाफ लगाए मुर्दाबाद के नारे स्वास्थ्य विभाग ने फूड प्वाइज¨नग की आशंका जताई पाक ने सीमा पर फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, 2 जवान शहीद वीडियो: योग टीचर पर कहर बनकर टुटा नारियल का पेड़, हुई मौत
नोटबंदी की वजह से अर्थव्यवस्था को पहुंचेगा नुकसान: अरुण जेटली
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 09:20:51 AM
1 of 1

नई दिल्ली। अरुण जेटली ने कहा है कि 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने का फैसला लिया  है  और गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स (GST) भारत के लिए गेमचेंजर साबित होंगे। इसके साथ ही उन्होंने उन शंकाओ  को भी खारिज किया कि  नोटबंदी की वजह से अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचेगा अतः सरकार की योजना अगले साल एक अप्रैल से GST लागू करने की है। भुवनेश्वर में जेटली जी  ने  ‘इंडियन इकॉनमी-द न्यू नॉर्म’ नाम से आयोजित एक   सेमिनार में  कहा कि (GST और नोटबंदी) दोनों ही पासा पलटने वाली चाल  साबित होगी । ऐसा इसलिए कि जीएसटी का मनना कि इससे  केंद्र को अधिक राजस्व जुटाने में सहायता  मिलेगी, वहीं राज्यों को भी अधिक राजस्व प्राप्त होगा।

 


यह एक योग्य  टैक्स संबंधी व्यवस्था है। इससे जो  कामियां है उसे  दूर करने में मदद मिलेगी। इस प्रणाली से ओडिशा जैसे अधिक खपत वाले राज्यों को भी निश्चित रूप से मुनाफा  होगा। नोटबंदी के फैसले की तारीफ करते हुए जेटली ने कहा कि छुपी हुई करेंसी बाहर आना बड़ी बात है। नोटबंदी के कारण देश  भर में मौजूद  ईमानदारो  को काफी  फायदा मिल रहा है। वित्त मंत्री ने इस दौरान नोटबंदी के फैसले मे बाधा डाल रहे नेताओं और इससे जुड़ी खबरें दिखाने पर मीडिया पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि  देश मे सब कुछ बदला सिवाय नेता  और मीडिया वाले नहीं बदले। हमारे  पत्रकार हर घटना  का सिर्फ अयोग्य  पहलू ही सामने लाते हैं। 

 

उसके पीछे मौजूद सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि को अनदेखा  करते हैं। देश मे मची नोटबंदी की  हायतोबा को  लेकर   जेटली ने कहा कि जहां तक करेंसी में किए गए बदलाव की बात है, नोटबंदी की यह प्रक्रिया जैसे ही एक बार पूरी होगी और अर्थव्यवस्था अपनी पूरी गति से आगे बढ़ने लगेगी, उसके बाद सकल घरेलू उत्पादक   (जीडीपी) के आकार में उल्लेखनीय बढ़ोतरी होगी और कर आधार भी बढ़ेगा। वित्त मंत्री ने कहा कि नोटबंदी के बाद बैंकों में जमा के रूप में अधिक पैसा पहुंचेगा जिसका  के भले के लिए प्रयोग  होगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के मौजूदा प्रयास चुनौतीपूर्ण व्यवस्थालगते हैं लेकिन दीर्घकाल में ये अर्थव्यवस्था के लिए फायदेमंद होंगे। 

 

सरकार के एकाएक नोटबंदी के फैसले से दिल्ली के   कई दशकों में सबसे बड़े टैक्‍स सुधार GST के अमल पर खतरा मंडराने लगा है। पश्चिम बंगाल के वित्‍त मंत्री अमित मित्रा ने  इस बारे में अवगत किया है। मित्रा  GST काउंसिल में शामिल हैं जो कि इस टैक्‍स की दरें और स्‍कोप पर मसौदा तैयार कर रही है। उन्होंने बुधवार को एक इंटरव्यू में कहा अब इस टैक्‍स को  अगले साल अप्रैल मे लागू होने की संभावनाएं कम हो गई हैं। नोटबंदी के फैसले से देश में अचानक धन संबंधी की स्थिति पैदा हो गई है। इससे ( GST)  के विचार   से पहले ही राज्यों के राजस्व का अधिक नुकसान होगा। गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स( GST) तमाम केंद्रीय और राज्‍य करों की जगह लागू होना है। इसके अमल में आने के बाद पूरा देश एक बाजार में बदल जाएगा। इससे राज्यों के टैक्स हटने से उन्हें भारी नुकसान का सामना करना पड़ेगा  साथ  ही   केंद्र को इसकी भरपाई अगले पांच साल तक करनी पड़ेगी ।

यह भी पढ़े : 3 तलाक के विरोध में जज को लिख डाला खून से खत

यह भी पढ़े : पर्दा प्रथा ! भारत में इस तरह शुरुआत हुई पर्दा प्रथा की, बड़ी दिलचस्प है वजह

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.