संजीवनी टुडे

News

डस्टबिन और प्लास्टिक कैरी बैग पर प्रतिबंध की होगी समीक्षा: अशोक लाहोटी

Sanjeevni Today 18-06-2017 21:23:01

जयपुर। महापौर डॉ. अशोक लाहोटी ने रविवार को नगर निगम जयपुर मुख्यालय स्थित सभासद भवन में दुकानों के अंदर व बाहर एक-एक डस्टबिन रखने और प्लास्टिक कैरी बैग के पूर्ण प्रतिबंध के लिए नगर निगम जयपुर द्वारा चलाए जा रहे अभियान की समीक्षा बैठक की। बैठक में महापौर डॉ. अशोक लाहोटी ने प्रत्येक जोन के अधिकारियों से बात की और ग्राउंड रिपोर्ट ली। साथ ही अधिकारियों से अभियान को और बेहतर बनाने के लिए भी सुझाव भी लिए। 

उन्होंने हर जोन में कचरा समय पर उठवाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि लोगों को कचरा डस्टबिन में ही डालने के लिए प्रेरित करें। आयुक्त रवि जैन ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पूरे दिन बाजारों में सफाई नजर आनी चाहिए। महापौर डॉ. अशोक लाहोटी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि 8 जोन में 8 कियोस्क तय करें। हर दिन अलग-अलग स्थान पर कियोस्क लगाएं और लोगों को जागरुक करने के लिए कपड़े के थैले मुफ्त में बांटें। 

उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने जोन की दुकानों की वीडियोग्राफी करवाकर दुकानदारों को होडिर्ंग का बिल भिजवाया जाए। डॉ. लाहोटी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिकारी अपने साथ कपड़े के थैले रखें और जो भी राहगीर प्लास्टिक कैरी बैग इस्तेमाल करते हुए मिले, उससे प्लास्टिक कैरी बैग लें और कपड़े के थैले में सामान रखकर लौटा दें। 

उन्होंने अधिकारियों से कहा कि डस्टबिन रखने के बाद कचरा उठाना सुनिश्चित करें। उन्होंने रात को कचरा उठवाना सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। आयुक्त जैन ने अधिकारियों को कहा कि व्यापार मंडलों को प्रेरित किया जाए कि वे बाजारों को प्लास्टिक कैरी बैग फ्री मार्केट घोषित करें। उन्होंने अच्छा काम करने वाले व्यापार मंडलों को पुरस्कृत करने के लिए भी कहा। 

महापौर ने जोन स्तर पर बेहतर काम करने वाले मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक और वार्ड स्तर पर बेहतर काम करने वाले स्वास्थ्य निरीक्षक को पुरस्कृत करने की कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। महापौर ने माह के तीसरे मंगलवार यानी 20 जून को होने वाली महापौर जन सुनवाई की व्यवस्थाओं के बारे में भी चर्चा की और बताया कि महापौर जन सुनवाई अब महीने के पहले और तीसरे मंगलवार को प्रातः 8.30  से 11.30 तक होगी। पूर्व में यह सुनवाई सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक की गई थी। 

Watch Video

More From national

Recommended