संजीवनी टुडे

News

पीसीपीएनडीटी की डिकॉय कार्यवाही में छोलाछाप सहित दो दलाल गिरफ्तार

Sanjeevni Today 19-06-2017 06:48:19

 

जयपुर। राज्य पीसीपीएनडीटी दल ने पीसीपीएनडीटी अधिनियम के तहत् की 75वीं डिकायॅ कार्यवाही में श्रीगंगानगर-हनुमानगढ़ जिलों के एक गिरोह पर शिकंजा कसते हुए छोलाछाप डॉक्टर सुरजीत सिंह एवं दलाल सतनाम सिंह नामक गिरोह सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है तथा फरार तीसरे सदस्य की तलाश की जा रही है। ये लोग गर्भस्थ शिशु का भू्रण लिंग परीक्षण करने के नाम पर ठगी करते पाये गयें।  

 

पीसीपीएनडीटी के राज्य प्राधिकारी एवं मिशन निदेशक एनएचएम नवीन जैन के निर्देश पर पीबीआई थाना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं परियोजना निदेशक पीसीपीएनडीटी रघुवीर सिंह के नेतृत्व में पीसीपीएनडीटी की राज्य एवं श्रीगंगानगर की टीमों के संयुक्त प्रयास से यह कार्यवाही की गयी है। 

सिंह ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि भू्रण लिंग जांच सहित गर्भपात कराने के गैर-कानूनी कार्य में श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ का एक गिरोह सक्रिय है। सूचना की त्वरित पुष्टि कराने के बाद डिकॉय टीमें गठित की गयी एवं बोगस ग्राहक के भेजकर दलाल अमृतपाल से संपर्क साधा गया, जिसने भ्रूण लिंग जांच करवाने के लिए 40 हजार रुपए मांगे और दोनों जिलों सहित कहीं भी आस-पास जांच करवाने का विश्वास दिलाया। 

परियोजना निदेशक ने बताया कि दलाल ने शनिवार की दोपहर डिकॉय गर्भवती को एक गांव में बुलाया फिर हनुमानगढ़ जंक्शन पहुंचने को कहा। यहां दलाल ने स्वास्तिक हॉस्पिटल में सामान्य जांच करवाई और उसके बाद महिला को बोम्बे हॉस्पिटल बुलाया। दलाल ने महिला को कई बार इधर-उधर के हॉस्पिटलों में घुमाया और किसी के साथ नहीं होने की संतुष्टि होने पर ही उसने तय की गई राशि बोम्बे हॉस्पिटल की लैब में गर्भवती महिला के सहयोगी से ले ली। 

इसके बाद शाम सात बजे तीसरे दलाल सुरजीत सिंह के जरिए भांभू हॉस्पिटल में नियमित सोनोग्राफी करवाई जिसने महिला को शिशु के लिंग की जानकारी दी। इस दौरान इशारा पाते ही टीम ने 38 वर्षीय सुरजीत पुत्र रेशम सिंह निवासी अमरपुरा थेड़ी तथा सतनाम सिंह को मौके पर ही पकड़ लिया, तीसरा दलाल अमृतपाल पहले ही पैसों का बंटवारा कर जा चुका था, जिसकी तलाश में उसके घर एवं अन्य ठिकानों पर दबिश दी, वह अभी फरार है। उन्होंने बताया कि इस मामले में बोम्बे हॉस्पिटल संचालक एवं भांभू हॉस्पिटल संचालक से पूछताछ की गई है। पूछताछ में दलालों ने बताया कि वे लंबे अर्से से यह धंधा कर रहे हैं और अपने स्तर पर ही लिंग के बारे में बताकर वे 30 से 40 हजार  रुपए में सौदा तय करते रहे हैं, लोग उनकी बातों में आसानी से गुमराह हो जाते हैं।

Watch Video

More From national

Recommended