गोरखपुर: BRD मेडिकल कॉलेज में 48 घंटों में हुई 34 और बच्चों की मौत 17 अगस्त राशिफल : जानिए कैसा रहेगा आपके लिए गुरुवार का दिन देश्‍ा और दुनिया के इतिहास में 17 अगस्‍त की महत्वपूर्ण घटनाएं मरीजों की सेवा करने में भी अपना योगदान देंगे स्वास्थ्य महकमे के कर्मचारी स्वास्थ्य केंद्र पर आठ माह से लटक हुआ है ताला सदर अस्पतालों में दवा और जांच की सुविधाओं का घोर अभाव प्रेग्नेंसी डर काे दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके शराब पीने से तबाह हो सकती है आपकी सेक्स लाइफ बार-बार जम्हाई आने के ये हो सकते है कारण AC में रहने की आदत आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक पनीर खाने का सही समय और फायदे घंटो तक गेम खेलना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक कपूर के तेल से दूर करे डैंड्रफ की समस्या आपकी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करेगा ये फेस पैक महिला सशक्तिकरण की प्रतीक हैं मिताली राज : शिवराज सिंह विश्व बैंक की टीम के सदस्यो ने की शिक्षा मंत्री देवनानी से मुलाकात 78 हजार निजी विद्यालयों के अप्रशिक्षित शिक्षकों को भी करनी होगी टीचर ट्रेनिंग प्रो कबड्डी लीग 2017: तमिल थलाइवाज और हरियाणा स्टीलर्स का मुकाबला 25-25 से रहा ड्रा बांग्लादेश में जाने ले रहा है बाढ़, 30 की मौत लाल किला पर रही राजस्थानियो की धूम, जयहिंद के साथ जय जय राजस्थान की रही गूंज...
बेंगलुरु में ट्रैफिक SI ने एम्बुलेंस के लिए राष्ट्रपति का काफिला रोका, होंगे सम्मानित
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 05:22:37 PM
1 of 1

नई दिल्ली। कर्नाटक के एक ट्रैफिक पुलिस अफसर ने प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी का काफिला रोक दिया। घटना शनिवार को बेंगलुरु के ट्रिनिटी सर्किल पर हुई। दरअसल, राष्ट्रपति का काफिला यहां से गुजरने वाला था। वीआईपी मूवमेंट के चलते सभी तरफ से ट्रैफिक रोकने का ऑर्डर था। लेकिन इस दौरान वहां तैनात एसआई निजलिंगप्पा ने देखा कि एक एम्बुलेंस गाड़ियों के बीच फंसी हुई है।

 

इसके बाद एसआई ने सूझबूझ से कुछ ऐसा फैसला लिया, लोगों के साथ उनके ही डिपार्टमेंट के अफसर भी जिसकी तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। अब बेंगलुरु पुलिस उन्हें सम्मानित करेगी। निजलिंगप्पा को लगा कि भले ही वीआईपी मूवमेंट है, लेकिन एम्बुलेंस को रास्ता दिया जाना चाहिए। उन्होंने आगे आकर दूसरी तरफ से आ रहे प्रेसिडेंट के काफिले को रोक दिया और मरीज को ले जा रही एम्बुलेंस को रास्ता दिया।

ट्रैफिक पुलिस के डिप्टी कमिश्नर अभय गोयल ने ट्वीट कर ड्यूटी के लिए एसआई के डिवोटेशन की तारीफ की। उन्होंने लिखा- ''ट्रैफिक पुलिस ने देश के प्रथम नागरिक को रोका और एम्बुलेंस को रास्ता दिया। क्या आप देंगे? बेंगलुरु के कमिश्नर प्रवीण सूद ने एसआई को सम्मानित करने की बात कही है। सोशल मीडिया पर निजलिंगप्पा की तारीफों के बीच एक साहब ने लिखा कि एम्बुलेंस को रास्ता दिया ही जाना चाहिए।

 इसलिए इसे उपलब्धि नहीं माना जाना चाहिए, तो एक शख्स ने भारतीय जनमानस का हवाला देते हुए कहा कि एक भारतीय पुलिसवाले का यह फैसला करना बहुत बड़ी उपलब्धि है, जिसके लिए उन्हें प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। आईपीएस एसोसिएशन ने भी निजलिंगप्पा की इस उपलब्धि की खुलकर तारीफ की, और इसे अन्य पुलिस वालों के लिए अनुकरणीय उदाहरण बताया। 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.