संजीवनी टुडे

News

बीटेक छात्र अभिनव ने किया कुछ ऐसा... जिससे पूरा देश रह गया सन्न

Sanjeevni Today 01-12-2016 10:37:15

नई दिल्ली। पंजाब के मोहाली में 2000 के नकली नोट छापने का अब-तक का सबसे बड़ा खुलासा हुआ है। जिसमें आर्मी फैमिली से संबंध रखने वाले 21 साल के बीटेक छात्र अभिनव वर्मा और उसकी 20 साल की कजिन विशाखा वर्मा ने 2000 के करीब तीन करोड़ रुपए कीमत के नोट स्कैन करके छापे। जिसके बाद लोगों से पुराने नोट लेकर बदले में नकली नोट थमा दिए। इस तरह उन्होंने कुल 2 करोड़ रुपए मार्केट में चला दिए। इस काम के लिए उन्होंने 30% कमीशन भी लिया।

मोहाली पुलिस ने अभिनव और उसकी कजिन विशाखा को मंगलवार रात मोहाली के जगतपुरा में पकड़ लिया। उस समय ये लालबत्ती लगी ऑडी कार में 42 लाख रुपए के जाली नोट लेकर जा रहे थे। इस पैसे का इस्तेमाल ब्लैकमनी को व्हाइट करने में होना था।

लुधियाना निवासी बिचौलिया सुमन नागपाल भी गाड़ी में बैठा था, जो ग्राहक लेकर आ रहा था। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने चंडीगढ़ इंडस्ट्रियल एरिया स्थित इनके ऑफिस से 20 लाख की जाली करंसी सहित, कंप्यूटर, स्कैनर व अन्य सामान भी कब्जे में ले लिया है।

इसमें अभी दो ओर लोग शामिल हैं, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। खास बात है कि जाली नोट कांड का मास्टरमाइंड अभिनव पीएम नरेंद्र मोदी के 'मेक इन इंडिया' प्रोजेक्ट का हिस्सा बनने वालों की लिस्ट में है।

अभिनव ने ब्लाइंड लोगों के लिए एक ऐसी टेक्नीक डेवलप की थी, जिससे उन्हें स्टिक का सहारा नहीं लेना पड़ता। अभिनव ने एक ऐसा उपकरण तैयार किया है, जिसको दृष्टिहीन अंगूठी की तरह पहन सकते हैं। इससे सामने कोई भी चीज आने पर सैंसर आवाज करता है। इसकी खोज के लिए इसका नाम 'मेक इन इंडिया' में चल रहा है। वह लिम्का बुक ऑफ रिकार्ड में नाम दर्ज कराने की तैयारी कर रहा था।

यह भी पढ़े: आखिर, क्यों ये युवक कर रहा है इस शख्स की पिटाई, WATCH VIDEO

यह भी पढ़े: जुर्म के बदले सजा नही शराब मिलती है, पीछे है एक अजीब वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: दामाद से परेशान ! सास को रात को गंदे वाले मैसेज करता था दामाद, फिर एक रात सास ने.... ये तो

Watch Video

More From national

Recommended