म्यामां रोहिंग्या को वापस लेने के लिए सकारात्मक कदम उठाएगा: राजनाथ लोकसभा उपचुनावः अजमेर से पायलट और अलवर से जितेंद्र सिंह को कांग्रेस दे सकती है मौका J&K: रामबन में SSB कैंप पर हमले में शामिल 2 हमलावर गिरफ्तार पेटीएम मॉल `मेरा कैशबैक सेल' में खरीद पर आकर्षक इनाम आज सिनेमाघरों में 'हसीना पारकर' सहित दस्तक देंगी ये चार फिल्मे नेपाल चीन के साथ 13 और एंट्री प्वाइंट्स खोलेगा पेट्रोल-डीज़ल पर लगने वाला वैट बिलकुल भी कम नहीं होगा: जयंत मलैया Video: ढिंचैक पूजा का नया गाना 'बापू दे दे थोड़ा कैश' हुआ रिलीज साइबर अपराध रोकने के लिए यह कदम उठाएगी सरकार: गृह मंत्री पाकिस्तान की गोलाबारी का भारतीय जवानो ने दिया मुंहतोड़ जवाब इकबाल कासकर का बड़ा खुलासा- फिलहाल पाकिस्तान में है दाऊद इब्राहिम! पीएम मोदी आज वाराणसी दौरे पर, कई विकास परियोजनाओं की करेंगे शुरूआत राम रहीम के बाद अब फलाहारी बाबा पर दुष्कर्म का अपराध दर्ज कीकू शारदा: पहले से भी ज्यादा दमदार तरीके से होगी 'द कपिल शर्मा' की वापसी विद्रोह और आतंकवाद के अभियान का पाकिस्तान लगातार हो रहा है शिकार: खकान अब्बासी ...तो हैटट्रिक से पहले कुलदीप ने इस खिलाडी से पूछा था 'कैसी गेंद डालूं' सोना 250 रुपये और चांदी 600 रुपये फिसली अपराधों को जड़ से समाप्त करने के लिए एक्शन प्लान तैयार करें अधिकारी: आराधना शुक्ला बनर्जी सरकार को जोर का झटका, मोहर्रम के दिन भी होगा दुर्गा विसर्जन डीपीसी: विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए शिक्षकों को दिलाएंगे शपथ हम पर दर्ज नहीं है अपराध
राष्ट्रीयता की आत्मा है हिंदी, जन-मन की विश्व भाषा बने: वासुदेव देवनानी
sanjeevnitoday.com | Thursday, September 14, 2017 | 07:58:22 PM
1 of 1

जयपुर। शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि हिंदी राष्ट्रीयता की आत्मा है। उन्होंने कहा कि यह हिंदी ही है जिसने देश को एकता के सूत्र में बांधे रखा है। उन्होंने भाषा को व्यक्ति की पहचान बताते हुए हिंदी में विज्ञान, तकनीकी, कृषि पर अधिकाधिक लेखन पर जोर दिया। 

यह भी पढ़े: एक ऐसी महिला जिसे देख आप भी रह जाएंगे हैरान

देवनानी गुरूवार को जवाहर कला केन्द्र में भाषा एवं पुस्तकालय विभाग की ओर से आयोजित राज्य स्तरीय हिंदी दिवस समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हिंदी भारत का गौरव है और जरूरत इस बात की भी है कि इसे बोलचाल की सीमाओं तक नहीं बांधकर विश्व भाषा बनाने का प्रयास किया जाए। उन्होंने हिंदी भाषा के 11 स्वर और 33 व्यंजनाें की चर्चा करते हुए कहा कि यह ऎसी भाषा है जो जैसी बोली जाती है, वैसी ही लिखी जाती है। उन्होंने विश्व पटल पर हिंदी को आगे बढ़ाने, जन-जन के मन में हिंदी का प्रसार करने पर जोर दिया।

शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि विश्व के 176 विश्वविद्यालयों में हिंदी पढ़ाई जाती है। विश्वभर की कंपनियां अपने उत्पादाें का विज्ञापन हिंदी में करती हैं और इसकी संपन्नता इसी से है कि जातीयता की संकीर्णता से परे इसने देश में अनेकता में एकता को बनाए रखा है। उन्होनें कहा कि राज्य सरकार ने हिंदी की 16 लाख राष्ट्रीयता के भावों की पुस्तकें पुस्तकालयों में पाठकों तक पहुंचाई है। सरकार का प्रयास है कि हिंदी भाषा जन-जन के आचरण का अंग बने।

यह भी पढ़े: 100 मीटर दूर से सांप को सूंघकर पकड़ लेता है ये सपेरा!

इस अवसर पर राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राकेश कोठारी ने हिंदी के विकास की चर्चा करते हुए कहा कि हिंदी व्याकरिणक दृष्टि से ही नहीं बल्कि भारतीय संस्कृति और परम्पराओं के पोषण की वृहद भाषा है। उन्होंने कहा कि हिंदी का शब्द संसार विपुल और समृद्ध है।कोटा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. पी.के. दशोरा ने हिंदी को भारत की संस्कृति बताते हुए कहा कि इसी से देश की नई पीढ़ी को संस्कारित किया जा सकता है।

‘भाषा परिचय’ का लोकार्पण: 
समारोह में शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने भाषा एव पुस्तकालय विभाग की डॉ. ममता शर्मा के संपादन में प्रकाशित पत्रिका ‘भाषा परिचय’ के विशेष अंक का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि हिंदी से जुड़े विभिन्न आयामों पर पत्रिका में बेहतरीन सामग्री प्रकाशित हुई है। 

हिंदी सेवा पुरस्कार:

राज्य स्तरीय समारोह में हिंदी साहित्य में उत्कृष्ट लेखन के अंतर्गत कहानी संग्रह कायाकल्प के लिए डॉ. शारदा शर्मा को, विज्ञान लेखन के अंतर्गत प्रकाशित पुस्तक ‘जल चिकित्सा’ के लिए डॉ. दुर्गादत्त ओझा को तथा पत्रकारिता की श्रेष्ठ कृति ‘विज्ञापन सिद्धान्त एवं व्यवहार’ के लिए प्रो. रमेश जैन को ‘हिंदी सेवा पुरस्कार - 2015- के तहत 51-51 हजार रुपये का पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.