loading...
तीन तलाक़ मसले पर AIMPLB ने हलफनामा दायर किया, कहा तीन तलाक़ बंद हो कश्मीरी युवक को जीप पर बांधने वाले प्रकरण की जांच करेगी जम्मू-कश्मीर सरकार चैंपियंस ट्रॉफी में इन दिग्गज खिलाड़ियों पर रहेगी खास नजर चांदनी चौक में 80 दुकानें जलकर हुई खाक आग बुझाने आई स्पेशल क्रेन पर चढ़ी विधायक,लगे मुर्दाबाद के नारे 'गदर-एक प्रेमकथा' के सामने कुछ भी नहीं 'बाहुबली 2': अनिल शर्मा स्पिनफैड की चार यूनिटें होगी बंद, 1,099 अधिकारी-कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृति के लिए स्वीकृति प्रदान की उदारवादी हसन रूहानी की जीत कितनी फायदेमंद है भारत-ईरान रिश्तों के लिए मुंबई इंडियंस की जीत पर फिदा हुए ट्रिपल एच ने बधाई के रूप में दिया यह तोहफा देर रात रेस्टोरेंट पर छापा सदिंग्ध अवस्था में मिले तीन युवक व चार युवतिया को किया गिरफ्तार भारतीय सेना के तीस सेकंड और PAK सेना की चौकियां तबाहः प्रियंका की 'बेबॉच' को भारतीय सेंसर बोर्ड ने 'A' सर्टिफिकेट के साथ दी हरी झंडी IPL10 : इस खिलाडी ने चुकाई पूरी कीमत, फाइनल खेलते तो बदल.... तारा शाहदेव केस:सास और पति ने धर्म परिवर्तन नहीं करने पर किया शारीरिक शोषण 2030 तक सड़कों पर दौड़ेगी इलैक्ट्रिक गाड़ियां, पेट्रोल-डीजल की गाड़ियां होगी बंद पाकिस्तान को डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया बड़ा झटका, आर्थिक मदद को कर्ज में तब्दील करने का रखा प्रस्ताव राजस्थान आवासन मण्डल की गणित आर्यभट्ट की भी समझ से बाहर, जाने क्या है मामला ! मुंबई की विजेता नीता अंबानी ने दी ग्रैंड पाटी, पहुंचे कई सितारे 'सचिन ए बिलीयन ड्रीम्स' के लिए सचिन को बॉलीवुड सितारों ने दी शुभकामनाएं क्या वजह है अफ्रीकी देशों से पीएम मोदी की इतनी नजदीकी बढ़ाने की ? लूट के पैसो से क़र्ज़ चुकाने जा रहे आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
भूजल उपयोग को लेकर बनेगा सख्त कानून : उमा भारती
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 02:16:10 PM
1 of 1

नई दिल्ली। केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने आज कहा कि उनका मंत्रालय चाहता है कि भूजल के उपयोग संबंधित सख्त कानून बने और दिशा में काम भी कर रहा है जिससे इसके दुरुपयोग को रोका जा सके। दिल्ली में आयोजित भूजल मंथन-2 कार्यक्रम में बोलते हुए उमा भारती ने कहा कि हर काम के लिए जमीनी जल का उपयोग करना सही नहीं है। वह चाहती हैं कि एक ऐसा कानून बने कि जिसमें इसके प्रयोग संबंधित दिशा निर्देश हों। उन्होंने कहा की साफ पानी, जमीनी पानी और उपचारित पानी तीनों को अलग-अलग कर देखा जाना चाहिए और किस काम में कौन सा पानी उपयोग में आएगा इसको लेकर कानून होना चाहिए। 

इसके दुरुपयोग पर सख्त दंड के प्रावधान होने चाहिए। केन्द्रीय भूजल बोर्ड की ओर से आयोजित भूजल मंथन-2 के उद्‌घाटन अवसर पर उमा भारती ने कहा कि भूजल संरक्षण के लिए कृषि, पर्यावरण, ग्रामीण विकास और जल संसाधन मंत्रालय को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा इज़रायल 62 प्रतिशत उपचारित जल का उपयोग करता है| दूसरी ओर हम अपने साफ पानी को ही सोख रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूरे देश को इस स्थिति से निपटने के लिए मिलकर काम करना होगा| हम एक देश हैं और हमें एक-दूसरे की चिंता करनी होगी।


इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रकृति ने हमें बहुत कुछ दिया है हम अपने स्वार्थ के कारण इनका दोहन और शोषण कर रहे हैं। इसके चलते संसाधनों का संकट पैदा हुआ है जिसके लिए इंसान जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि भूजल प्रबंधन आज संकट के दौर से गुजर रहा है। आबादी बढ़ने की तुलना में भूजल नहीं बढ़ रहा। इससे एक असंतुलन पैदा हो रहा है। जल ही जीवन है और ऐसी परिस्थिति में भूजल संरक्षण जरूरी है| उन्होंने आशा जताई कि इस मंथन से जो सुझाव आएंगे वे उपयोगी होंगे। 

उन्होंने कहा कि स्वच्छता की दिशा में बढ़ते हुए हमे इस बात पर भी विचार करना होगा कि शौचालय के लिए बने पॉट में पानी का उपयोग कैसे कम हो। हमारी संस्कृति में एक लौटे से हाथ धोने का प्रावधान है जबकि आज वाश बेसिन में हम ज्यादा पानी खर्च रहे हैं। इस दिशा में भी प्रयास होने चाहिए। इस दौरान सेमिनार वॉल्यूम और मेरा भूजल एप का विमोचन किया गया। केन्द्रीय भूजल बोर्ड के डीजी केबी बिस्वास ने कहा कि इस भूजल मंथन का उद्देश्य भूजल संरक्षण की दिशा में काम काम करना और उसके स्तर को बढ़ाने की दिशा में काम करना है। 

यह  भी पढ़े : अनोखा पार्क- यहां आप ''न्यूड'' घूम सकते है।

यह भी पढ़े : पिता जमीन पर और माँ-बेटे बेड पर कर रहे थे रोमांस...पिता ने उठकर देखा तो

यह भी पढ़े: यहां दुल्हन उधार मांगकर पहनती है पुराने अंडरगारमेंट्स 

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.