संजीवनी टुडे

News

पत्थरबाज फिर बने जाकिर मूसा के अंगरक्षक, भागने में हुआ कामयाब

Sanjeevni Today 12-08-2017 17:25:59

 

नई दिल्ली। शुक्रवार देर शाम आतंकी जाकिर मूसा के पैतृक गांव दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके के नोरपोरा गांव में घेरेबंदी और तलाशी अभियान (कासो) शुरू होते ही हिंसा भड़क उठी। लोग सड़कों पर उतर आए और प्रदर्शन शुरू कर दिया। सुरक्षा बलों पर पथराव के बाद स्थिति को काबू में करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए। काफी देर तक यहां टकराव की स्थिति बनी रही। पत्थरबाजी और लोगों के प्रदर्शन के कुछ देर बाद जिस घर में जाकिर मूसा और उसके साथियों के छिपे होने की खबर थी वहां से गोलीबारी बंद हो गई। जिसके बाद सुरक्षा बलों ने आसपास के चार गांवों में घेराबंदी कर तलाशी शुरू कर दी। 

सुरक्षा बलों ने की थी चार गांवों की घेराबंदी 
सुरक्षाबलों ने हालांकि अपनी ओर से पुख्ता तैयारी कर रखी थी। अगर आतंकवादी घर से भागकर निकलने की कोशिश करते तो उन्हें मारने के लिए सुरक्षा बलों ने चार गांवों की घेराबंदी कर रखी थी। इसमें पीर मोहल्ला, शाह मोहल्ला, डागरपुरा और नूरापुरा शामिल थे। 

यह भी पढ़े: इस कैदी की अंतिम इच्छा जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

पुलिस ने कहा कि नूरपुरा में घेराबंदी जारी रहनी चाहिए, हालांकि इस बीच रिपोर्ट्स हैं कि मूसा सुरक्षाबलों को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गया है लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि प्रशासन ने अभी तक नहीं की है। सुरक्षा बलों ने सूर्यास्त के बाद अपना ऑपरेशन रद्द कर दिया था। शनिवार सुबह सुरक्षा बल अपना ऑपरेशन दोबारा शुरू कर सकते हैं। एक अन्य पुलिस सूत्र ने बताया कि सुरक्षा बलों को उस घर में कुल तीन आतंकवादियों के छुपे होने का संदेह था।

कौन है जाकिर मूसा 
आपको बता दे कि बुरहान वानी के मारे जाने के बाद मोस्ट वांटेड जाकिर मूसा ने जुलाई 2016 में उसकी जगह ली थी। इसके बाद उसने हिज्बुल मुजाहिद्दीन को छोड़कर अपना अलग आतंकी संगठन बनाया ताकि कश्मीर में खलीफ का गठन किया जा सके। अलकायदा ने जाकिर मूसा को अपना पहला कमांडर नियुक्त किया था। 

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

Watch Video

More From national

Recommended