loading...
पांच साल बाद 30 रुपए प्रति लीटर की दर से बिकेगा पेट्रोल सहारनपुर में अगर दोषियों को आड़े हाथ नहीं लिया गया तो जाम कर देंगे दिल्ली: भीम सेना सीनियर सैकण्डरी कला वर्ग का परीक्षा परिणाम शनिवार को बेहद खूबसूरत दिखने वाली इस हसीना ने रची थी खौफनाक साजिश, मिली फांसी की सजा यहां हर महीने लगभग 25 जानवरों की हो जाती है मौत, जानिए वजह अब चुनाव में नामांकन के लिए कर सकते है ऑनलाइन आवेदन भारत में लश्कर के 21 आतंकियों के आने की खबर, हाई अलर्ट जारी एक साथ आईं इतनी लाशें, 40 क्विंटल लकड़ी और एक हजार से ज्यादा कंडे से जल उठा श्मशान नारायण मूर्ति ने आईटी सेक्टर में कर्मचारियों को नौकरी से हटाए जाने पर जताया दुख किसान कृषि के साथ पशुपालन कर 12 मास पाएं रोजगार : जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री केजरीवाल कभी भी सत्येंद्र जैन से पल्ला झाड़ सकते है: कपिल मिश्रा आंध्र प्रदेश में दिनदहाड़े शख्‍स की हत्या, विडियो बनाते रहे लोग पर्यटन का दूसरा नाम आकर्षण: यूनुस खान सहारा समूह अपने तीन विदेशी होटलों की बिक्री के लिए कर रहा है बातचीत अनोखी परम्परा: यहां पर गोरा बच्चा पैदा करने पर किया जाता है ये काम... चैंपियंस ट्रॉफी 2017 : भारत के क्रिकेट योद्धा पहुचें इंग्लैंड, पहली जंग 1 जून से भारतीय लापता सुखोई-30 विमान का मिला मलबा, 2 पायलट थे सवार बेटे ने वृद्ध मां का गला घोंटकर की हत्या आज से भारत में बनी मर्सिडीज कारें हो जाएगी 7 लाख रुपए सस्ती यहां की इस अनोखी परम्परा के बारें में जानकर आप रह जाएंगे दंग
शुंगलू रिपोर्ट पर जल्दबाजी में कोई कार्रवाई नहीं की जाए: SC
sanjeevnitoday.com | Monday, November 28, 2016 | 02:25:01 PM
1 of 1

नई दिल्ली। आप सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय से कहा कि शीर्ष अदालत में लंबित दिल्ली-केंद्र के बीच विवाद पर कोई फैसला आने तक शुंगलू समिति की रिपोर्ट पर कोई ‘‘जल्दबाजी में कार्रवाई’’ नहीं की जानी चाहिए। न्यायमूर्ति ए के सिकरी और ए एम सप्रे की पीठ ने कहा कि शुंगलू समिति के पहलू पर पांच दिसंबर को विचार किया जाएगा। इसी दिन मामले पर विस्तृत सुनवाई होनी है।

दिल्ली सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल सुब्रमण्यम ने कहा कि शुंगलू समिति ने अपनी रिपोर्ट उप राज्यपाल को सौंपी है और इस रिपोर्ट को लेकर कई आशंकाएं हैं। उन्होंने कहा की शुंगलू समिति की रिपोर्ट पर रोक लगायी जाये ताकि इस पर जल्दबाजी में कोई कार्रवाई नहीं की जा सके। 

केंद्र की ओर से सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने कहा कि रिपोर्ट कल ही जमा की गई है और इसमें क्या है यह किसी को नहीं पता है। पीठ ने कहा कि सभी मुद्दों पर पांच दिसंबर को विचार किया जाएगा। उपराज्यपाल नजीब जंग ने आप सरकार के फैसलों से संबंधित 400 फाइलों की जांच के लिए शुंगलू समिति का गठन 30 अगस्त को किया था। समिति के अध्यक्ष पूर्व नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक वी के शुंगलू थे।

 इसमें दो अन्य सदस्यों में पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी और पूर्व मुख्य सर्तकता आयुक्त प्रदीप कुमार शामिल थे। उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ दिल्ली सरकार की अपील पर सुनवाई से 15 नवंबर को शीर्ष अदालत के एक न्यायाधीश ने खुद को अलग कर लिया था। उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में उप राज्यपाल को प्रशासनिक प्रमुख बताते हुये कहा था कि सभी प्रशासनिक फैसलों में उनकी पूर्व अनुमति जरूरी है।

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 

 
 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.