loading...
दो लाख रुपए से अधिक की नकद खरीद पर देना होगा, 100 प्रतिशत जुर्माना चौथे टेस्ट में कोहली की जगह खेल सकता है ये बल्लेबाज स्कूल में डायरेक्टर और टीचर कर रहे थे रोमांस, फिर ऐसे आई सच्चाई सामने... आईपीएल-2017: पुणे टीम ने विश्व के नंबर-1 गेंदबाज़ को किया शामिल, मचा सकता है तहलका फिल्म 'सैराट' की एक्ट्रेस रिंकू राजगुरु के साथ हुई छेड़छाड़ आतंकवादी संगठन आईएस ने ली लंदन हमले की जिम्मेदारी, अब तक आठ गिरफ्तार मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने धौलपुर का दौरा किया भोपाल अपहरण मामले में 14 आरोपी गिरफ्तार महिला हॉकी राउंड-2: रानी का लक्ष्य विश्व लीग में टीम को शीर्ष पर पहुंचाना एयर इंडिया ने मैनेजर से मारपीट करने वाले शिवसेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ को किया ब्लैकलिस्ट सिद्धि विनायक मंदिर में विद्या के साथ हुआ ये शर्मनाक इंसिडेंट, यूं दिया करारा जवाब लडकी के अपहरण के आरोप में दो लोग गिरफ्तार ऑफिस में आजम की तस्वीर देखकर भड़के यूपी के नए मंत्री मोहसिन रजा , PM और CM की फोटो लगाने का दिया आदेश सोनाक्षी सिन्हा पूछना चाहती है 'सुल्तान' से ये सवाल भोपाल में दिनदहाड़े युवक का अपहरण एयर एशिया 15 अप्रैल को रांची से हवाई सेवा करेगी शुरू यूपी के नए स्वास्थ्य मंत्री का ऐलान, एम्बुलेंस से हटेगा 'समाजवादी' शब्द गुजरात लॉयन्स टीम के मालिक को IPL का बेसब्री से इंतजार, जाने क्या है वजह? वर्षा से क्षतिग्रस्त सड़कों व भवनों के लिए 13 करोड़ 77 लाख की मदद : कटारिया कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर 8 घंटे रेलिंग से लटकती रही लाश, लेकिन किसी की भी नहीं पड़ी नजर
शुंगलू रिपोर्ट पर जल्दबाजी में कोई कार्रवाई नहीं की जाए: SC
sanjeevnitoday.com | Monday, November 28, 2016 | 02:25:01 PM
1 of 1

नई दिल्ली। आप सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय से कहा कि शीर्ष अदालत में लंबित दिल्ली-केंद्र के बीच विवाद पर कोई फैसला आने तक शुंगलू समिति की रिपोर्ट पर कोई ‘‘जल्दबाजी में कार्रवाई’’ नहीं की जानी चाहिए। न्यायमूर्ति ए के सिकरी और ए एम सप्रे की पीठ ने कहा कि शुंगलू समिति के पहलू पर पांच दिसंबर को विचार किया जाएगा। इसी दिन मामले पर विस्तृत सुनवाई होनी है।

दिल्ली सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल सुब्रमण्यम ने कहा कि शुंगलू समिति ने अपनी रिपोर्ट उप राज्यपाल को सौंपी है और इस रिपोर्ट को लेकर कई आशंकाएं हैं। उन्होंने कहा की शुंगलू समिति की रिपोर्ट पर रोक लगायी जाये ताकि इस पर जल्दबाजी में कोई कार्रवाई नहीं की जा सके। 

केंद्र की ओर से सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने कहा कि रिपोर्ट कल ही जमा की गई है और इसमें क्या है यह किसी को नहीं पता है। पीठ ने कहा कि सभी मुद्दों पर पांच दिसंबर को विचार किया जाएगा। उपराज्यपाल नजीब जंग ने आप सरकार के फैसलों से संबंधित 400 फाइलों की जांच के लिए शुंगलू समिति का गठन 30 अगस्त को किया था। समिति के अध्यक्ष पूर्व नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक वी के शुंगलू थे।

 इसमें दो अन्य सदस्यों में पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी और पूर्व मुख्य सर्तकता आयुक्त प्रदीप कुमार शामिल थे। उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ दिल्ली सरकार की अपील पर सुनवाई से 15 नवंबर को शीर्ष अदालत के एक न्यायाधीश ने खुद को अलग कर लिया था। उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में उप राज्यपाल को प्रशासनिक प्रमुख बताते हुये कहा था कि सभी प्रशासनिक फैसलों में उनकी पूर्व अनुमति जरूरी है।

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 

 
 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.