बीजेपी की कार्यकारिणी बैठक में बोले पीएम मोदी मुकुल रॉय तृणमूल कांग्रेस से निलंबित, BJP में हो सकते हैं शामिल गडकरी 3 अक्टूबर को आंध्र प्रदेश में 4,468 करोड़ रुपये लागत की राजमार्ग परियोजनाओं का करेंगे शिलान्‍यास पीवी सिंधु को पद्म भषूण अवार्ड देने के लिए सिफारिश भेजी CBI कोर्ट के फैसले को राम रहीम ने हाईकोर्ट में दी चुनौती कंगारू टीम पर ढहा कहर, एश्टन एगर वनडे सीरीज से हुए बाहर वीडियो : राहुल गांधी ने गुजरात मे किया रोड शो, मोदी पर फिर साधा निशाना 'न्यूटन' को लेकर नया खुलासा- 'गणशत्रु' से मिलता-जुलता मूवी का पोस्टर रेलवे सुरक्षा बल 47 अतिरिक्‍त रेलवे स्‍टेशनों पर बाल सुरक्षा चलाएगा अभियान रोहिंग्या आतंकियों ने 28 हिन्दुओ को मारा, मिली सामूहिक कब्र: म्यांमार सेना वायुसेना प्रमुख हवाई में प्रशांत क्षेत्र के वायुसेना प्रमुखों की संगोष्‍ठी को संबोधित करेंगे टीम इंडिया ने की बादशाह कायम, ऐसा हुआ तो जल्द छिन सकता है नंबर 1 का ताज गुजरात मिशन पर बोले राहुल - इनके दिल में गरीबों का नहीं अमीरो का वास रेप केस में दिल्ली हाइकोर्ट ने महमूद फारूकी को किया बरी सीरीज हार पर स्मिथ ने कहा, एशेज श्रृंखला से पहले कुछ मैच में चाहता हूं विजय अखिलेश को मुलायम का आशीर्वाद, बोले अखिलेश - नेताजी जिंदाबाद, शिवपाल नदारद औरत ने बछड़े के साथ रचाई शादी, मानती है अपना पति 1.50 लाख रुपये तक की ये स्पोर्ट्स बाइक्स दिशा पाटनी ने करवाया हॉट फोटोशूट, देखें तस्वीरें यहां पर मिली विशालकाय मछली, देखने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़
शुंगलू रिपोर्ट पर जल्दबाजी में कोई कार्रवाई नहीं की जाए: SC
sanjeevnitoday.com | Monday, November 28, 2016 | 02:25:01 PM
1 of 1

नई दिल्ली। आप सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय से कहा कि शीर्ष अदालत में लंबित दिल्ली-केंद्र के बीच विवाद पर कोई फैसला आने तक शुंगलू समिति की रिपोर्ट पर कोई ‘‘जल्दबाजी में कार्रवाई’’ नहीं की जानी चाहिए। न्यायमूर्ति ए के सिकरी और ए एम सप्रे की पीठ ने कहा कि शुंगलू समिति के पहलू पर पांच दिसंबर को विचार किया जाएगा। इसी दिन मामले पर विस्तृत सुनवाई होनी है।

दिल्ली सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता गोपाल सुब्रमण्यम ने कहा कि शुंगलू समिति ने अपनी रिपोर्ट उप राज्यपाल को सौंपी है और इस रिपोर्ट को लेकर कई आशंकाएं हैं। उन्होंने कहा की शुंगलू समिति की रिपोर्ट पर रोक लगायी जाये ताकि इस पर जल्दबाजी में कोई कार्रवाई नहीं की जा सके। 

केंद्र की ओर से सॉलिसिटर जनरल रंजीत कुमार ने कहा कि रिपोर्ट कल ही जमा की गई है और इसमें क्या है यह किसी को नहीं पता है। पीठ ने कहा कि सभी मुद्दों पर पांच दिसंबर को विचार किया जाएगा। उपराज्यपाल नजीब जंग ने आप सरकार के फैसलों से संबंधित 400 फाइलों की जांच के लिए शुंगलू समिति का गठन 30 अगस्त को किया था। समिति के अध्यक्ष पूर्व नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक वी के शुंगलू थे।

 इसमें दो अन्य सदस्यों में पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी और पूर्व मुख्य सर्तकता आयुक्त प्रदीप कुमार शामिल थे। उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ दिल्ली सरकार की अपील पर सुनवाई से 15 नवंबर को शीर्ष अदालत के एक न्यायाधीश ने खुद को अलग कर लिया था। उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में उप राज्यपाल को प्रशासनिक प्रमुख बताते हुये कहा था कि सभी प्रशासनिक फैसलों में उनकी पूर्व अनुमति जरूरी है।

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 

 
 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.