वरुण धवन हुए निराश, नही मिला वोटर लिस्ट में नाम लौटना पड़ा बिना मतदान एक्ट्रैस श्रद्धा कपूर पहुंची वोट डालने, फोटो क्लिक करते फोटोग्राफर के साथ हुआ कुछ ऐसा... बन गए अल्ट्रामैन, 3 दिन में 517km दौड़ लगाकर रच डाला इतिहास मिलिंद सोमन ने ये खट्टी-मीठी बातें दिलाती है बड़ी बहन की याद..! यहां लुक नही है मायने, है एक-दूसरे से बिल्कुल अलग फिर भी है साथ, ऐसे है यह कपल..! 7वां वेतन आयोग: बढ़ेगा कर्मचारियों का महंगाई भत्ता और एचआरए..! यूपी चुनाव में सबसे खूबसूरत उम्मीदवार, जो है काफी चर्चा में, तस्वीरें वायरल यहां बीमारी से पीड़ित लोगों को किडनैप कर, उनकी बॉडी पार्ट्स से बनाई जाती हैं दवाइयां..! संभल मे दस वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म, पुलिस मामला दबाने मे जुटी मुख्यमंत्री को जब स्कूली बच्चों ने ’शिक्षक’ बनकर पढ़ाया... ट्रेन से कटकर वृद्ध की मौत गोमती नदी में डूबा छात्र, हंगामा नोटबंदी राष्ट्रहित में एक बड़ा फैसला : मनोज सिन्हा संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, दहेज हत्या का आरोप शेयर बाजार में आई तेजी, सेंसेक्स में 100 अंकों का उछाल सपा-बसपा ने राजनीति में फैलाया कीचड़, अब खिलेगा कमल: राजनाथ मुख्यमंत्री के साथ दिव्यांग बच्चों ने साझा किए अपने बड़े सपने एक साल में 82000 धनाढ्यों ने छोड़ा देश पुलिस व सीआरपीएफ ने डकैत को दबोचा विजय माल्या को भारत लाने की मुहिम तेज
SC ने मार्कंडेय काटजू से पूछा, बताओ सौम्या मर्डर केस में कौन है गलत
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 09:23:15 PM
1 of 1

नई दिल्ली।  सूत्रों के अनुसार  सुप्रीम कोर्ट के फैसले को गलत बताने पर जस्टिस मार्कंडेय काटजू को समन भेजा गया है। काटजू ने केरल के चर्चित सौम्या रेप-मर्डर केस में दोषी की फांसी की सजा रद्द करने पर ब्लॉग लिखकर फैसले को जजों की 'बड़ी गलती बताया था। इसी मामले में सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने समन किया है।  बेंच ने चैलेंज किया है कि काटजू कोर्ट में पेश होकर डिबेट करें, पता चल जाएगा कौन सही है? आप या कोर्ट। ऐसा पहली बार है कि पर्सनल ब्लॉग को लेकर पूर्व जज को नोटिस भेजा गया है। 

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

गौरतलब है कि...

काटजू अपने बयानों के कारण अक्सर चर्चा में रहते हैं। अपने ब्लॉग में सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस काटजू ने कोर्ट के फैसले को 'बड़ी गलती' बताया था। उन्होंने लिखा था, ''कानून की दुनिया में दशकों का तजुर्बा रखने वाले जजों से ऐसी उम्मीद नहीं थी। सौम्या के ट्रेन से कूदने की सुनी-सुनाई बात को सबूत मान लिया। जबकि उसे गोविन्दाचामी ने धक्का दिया था।'' किसी लॉ के स्टूडेंट से भी पूछो तो उसे पता होता है कि कोर्ट में सुने-सुनाए सबूतों पर भरोसा नहीं किया जाता है। लड़की की मौत सिर में गहरी चोट की वजह से हुई थी।'

जानिए सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने क्या कहा...
 

बेंच ने कहा कि हम कोर्ट के जज रहे जस्टिस काटजू का सम्मान करते हैं। इसीलिए चाहते हैं कि वह कोर्ट में आकर डिबेट करें कि कहां कमी रह गई। केरल सरकार और सौम्या की मां ने रिव्यू पिटीशन फाइल की है। जिस पर 11 नवंबर को सुनवाई होगी।  15 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने सबूतों की कमी के चलते दोषी गोविन्दाचामी को मर्डर केस में बरी कर दिया, उसे सिर्फ रेप का दोषी माना और 7 साल की सजा सुनाई।  गोविन्दाचामी ने जस्टिस रंजन गोगोई, पीसी पंत और यूयू ललित की बेंच में केरल हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ फांसी की सजा बदलने की गुहार लगाई थी।  इस फैसले के बाद सौम्या की मां ने कहा था, ''ये न्याय व्यवस्था की हार है। मेरी बेटी को इंसाफ नहीं मिला।''

 ट्रेन से फेंकने के बाद...
 1 फरवरी, 2011 को 23 साल की सौम्या पैसेंजर ट्रेन से शोरनुर जा रही थी। गोविन्दाचामी ने लेडीज डिब्बे में अकेली सौम्या के साथ लूटपाट की।  जब सौम्या ने इसका विरोध किया तो पहले उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंका। फिर खुद भी ट्रेन से कूद गया और लड़की के साथ रेप किया। अगले दिन रेलवे ट्रैक के किनारे सौम्या जख्मी हालत में मिली थी। 6 फरवरी को इलाज के दौरान त्रिशूर के हॉस्पिटल में उसकी मौत हो गई थी।  सौम्या कोच्चि के एक सुपरमार्केट में असिस्टेंट थी। वह अपनी सगाई के लिए घर लौट रही थी।

यह भी पढ़े : 30 साल तक बर्फ में दबे रहने के बावजूद भी जीवित निकला ये Toughest Animal

यह भी पढ़े : जानिये अपनी सेक्स लाइफ को कैसे बनाया जाये और भी इंटरेस्टिंग

यह भी पढ़े : इस महिला ने 1 मिनट में बदले इतने कपड़े, बनाया World Record

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.