आरोपी फलाहारी बाबा के आश्रम से मिली सीडी और महिलाओं के आभूषण वीडियो: इन लड़कियों का ऐसा डांस देख आप भी रह जाएंगे दंग यूपी: सपा का 8वां राज्य सम्मेलन शुरू, नरेश उत्तम बने नए प्रदेश अध्यक्ष ईरान ने अमेरिका की चेतावनी को किया नजर अंदाज 23 सितम्बर को कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत 55.51 डॉलर रही मुंबई में पेट्रोल की कीमतों में हो रही वृद्धि के खिलाफ शिवसेना का प्रदर्शन, दो सांसद हिरासत में परिवार के साथ काजोल ने की दुर्गा पूजा, देखें तस्वीरें वीडियो: लड़का सरेआम कर रहा लड़की की पिटाई, इंसानियत को शर्मसार प्रद्युम्न मर्डर केसः CBI की टीम पहुंची रेयान स्कूल, शुरू हुई इनवेस्टिगेशन वीडियो: नई नवेली दुल्हन के इस डांस को देख आप चौंक जाएंगे वीडियो: पूनम पांडे की इन HOT अदाओं ने सोशल मीडिया पर मचाया तहलका वर्तमान आर्थिक हालात पर नहीं थी नोटबंदी की आवश्यकता: मनमोहन सिंह #LIVE वाराणसी: PM मोदी बोले- 2022 तक हर बेघर को देंगे घर इस तरह के पेड़ों को देख आप भी रह जाएंगे हैरान नहर में मिला माँ-बेटी का शव, असलियत आई सामने केरल के खेल मंत्री ने फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप का किया उद्घाटन अनोखा मंदिर: यहां फर्श पर सोते ही प्रेग्नेंट हो जाती हैं औरतें IT विभाग: छापेमारी में आयकर अधिकारी से पहले पहचान पत्र और वारंट की करे जांच Box Office: संजय दत्त की कमबैक फिल्म 'भूमि' ने की धीमी शुरआत, कमाए इतने करोड़ LIVE वाराणसी: PM नरेंद्र मोदी बोले- वोट बैंक के लिए काम करना कुछ लोगों का स्वभाव
बलि प्रथा की अनुमति नहीं देता धर्म: योगगुरू बाबा रामदेव
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 10:27:05 AM
1 of 1

वीरगंज। योग गुरु बाबा रामदेव ने का कहना है की नेपाल में बलि प्रथा बंद होनी चाहिए। धर्म बलि प्रथा की अनुमति नहीं देता है। साथ ही उन्होंने कहा की कर्म को धर्म मानकर कार्य करने से देश का विकास संभव होगा। नेपाल का विकास योग, उद्योग, कृषि से संभव है। पतंजलि योगपीठ की स्थापना गांव-गांव में होगी, जहां लोगों को जड़ी-बूटी की खेती व स्वस्थ रहने के लिए योग कराया जाएगा। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। सोमवार को वह वीरगंज स्थित आदर्श नगर रंगशाला में आयोजित 5 दिवसीय योग शिविर के समापन समारोह के मौके पर बोल रहे थे। 

बाबा रामदेव ने कहा कि कोई भी धर्म हंसा का इजाजत नहीं देता है। बलि प्रथा अंधविश्वास है। ऐतिहासिक गढ़ीमाई मेला पांच वर्ष में एक बार लगता है, जहां करीब डेढ़ लाख पशुओं की बलि होती है। पक्षियों की गिनती संभव नहीं है। वह बलि रोकने के लिए मंदिर के पुजारी व प्रबुद्धजनों से बातचीत करेंगे। जरूरत पड़ी तो धरना भी देंगे। उनके मुताबिक भारत से प्रति वर्ष आयुर्वेदिक दवा नेपाल को दी जाती है। इसमें पतंजलि योगपीठ को प्रति वर्ष 50 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। नेपाल में उद्योग स्थापित होने से आयुर्वेदिक दवा सस्ती होगी और देश को काफी लाभ होगा।

यह भी पढ़े : लापरबाही के कारण बिल्ली की मौत, महिला ने डॉक्टर पर ठोका ढाई करोड़ का मुकदमा..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े : 68 की उम्र में कर रहा है 9वीं शादी वो भी 28 साल की लड़की से ... ऐसे शुरू हुई कहानी

यह भी पढ़े: गर्लफ्रैंड के गालों के रंग से जानिए वो कितनी लकी है आपके लिए..!

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.