नागरिकों को खुद को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होने की जरूरत स्वास्थ्य विभाग ने तीन निजी अस्पतालों पर छापा मारा शांति मानवता का मुख्य धर्म व युवा देश की रीढ़ की हड्डी हैं स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर के खिलाफ लगाए मुर्दाबाद के नारे स्वास्थ्य विभाग ने फूड प्वाइज¨नग की आशंका जताई पाक ने सीमा पर फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, 2 जवान शहीद वीडियो: योग टीचर पर कहर बनकर टुटा नारियल का पेड़, हुई मौत महिला हाॅकी विश्व लीग के सेमीफाइनल में पराजित होने के बाद भारत रही आठवें स्थान पर महिला SI ने चोर को पकड़ने के लिए बिछाया लव स्टोरी का जाल, भेजा जेल फेडरेशन स्क्वायर में भारत का राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगी ऐश्वर्या जेटली ने पॉलिटिकल फंडिंग को पारदर्शी व सिमित करने के लिए राजनीतिक दलों से मांगे सुझाव बिहार एसटीएफ टीम के हत्ये चढ़ा 50 हजार का इनामी दुर्गेश अरुण जेटली ने कहा है, स्वच्छ राजनीतिक फंडिंग की दिशा में काम कर रही सरकार सीन स्पाइसर के इस्तीफे के बाद ट्रंप प्रशासन के संचार निदेशक बने एंथनी कैग रिपोर्ट: चीन बढ़ा रहा है हिन्द महासागर में कदम, इंडियन नेवी में कई खामियां विदेशी छात्रा को देख युवक ने की ऐसी हैरान करने वाली हरकत... WWC Final: लार्ड्स में कपिल देव का इतिहास दोहराने उतरेंगी देश की बेटियां भगवान बांके बिहारी की शरण में पहुंचे गोविंदा, पूजा अर्चना कर लिया आशीर्वाद केरल: कांग्रेस विधायक एम. विन्सेंट रेप के आरोप में गिरफ्तार व्हाइट-सिल्वर लहंगे में सोनम ने किया रैंप वॉक, जीता सबका दिल
बलि प्रथा की अनुमति नहीं देता धर्म: योगगुरू बाबा रामदेव
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 10:27:05 AM
1 of 1

वीरगंज। योग गुरु बाबा रामदेव ने का कहना है की नेपाल में बलि प्रथा बंद होनी चाहिए। धर्म बलि प्रथा की अनुमति नहीं देता है। साथ ही उन्होंने कहा की कर्म को धर्म मानकर कार्य करने से देश का विकास संभव होगा। नेपाल का विकास योग, उद्योग, कृषि से संभव है। पतंजलि योगपीठ की स्थापना गांव-गांव में होगी, जहां लोगों को जड़ी-बूटी की खेती व स्वस्थ रहने के लिए योग कराया जाएगा। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। सोमवार को वह वीरगंज स्थित आदर्श नगर रंगशाला में आयोजित 5 दिवसीय योग शिविर के समापन समारोह के मौके पर बोल रहे थे। 

बाबा रामदेव ने कहा कि कोई भी धर्म हंसा का इजाजत नहीं देता है। बलि प्रथा अंधविश्वास है। ऐतिहासिक गढ़ीमाई मेला पांच वर्ष में एक बार लगता है, जहां करीब डेढ़ लाख पशुओं की बलि होती है। पक्षियों की गिनती संभव नहीं है। वह बलि रोकने के लिए मंदिर के पुजारी व प्रबुद्धजनों से बातचीत करेंगे। जरूरत पड़ी तो धरना भी देंगे। उनके मुताबिक भारत से प्रति वर्ष आयुर्वेदिक दवा नेपाल को दी जाती है। इसमें पतंजलि योगपीठ को प्रति वर्ष 50 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। नेपाल में उद्योग स्थापित होने से आयुर्वेदिक दवा सस्ती होगी और देश को काफी लाभ होगा।

यह भी पढ़े : लापरबाही के कारण बिल्ली की मौत, महिला ने डॉक्टर पर ठोका ढाई करोड़ का मुकदमा..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े : 68 की उम्र में कर रहा है 9वीं शादी वो भी 28 साल की लड़की से ... ऐसे शुरू हुई कहानी

यह भी पढ़े: गर्लफ्रैंड के गालों के रंग से जानिए वो कितनी लकी है आपके लिए..!

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.