loading...
loading...
loading...
राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीरा कुमार ने किया नामांकन #ToiletEkPremKatha का पहला गाना HansMatPagli रिलीज इन अजीबोगरीब रेस्टोरेंट के बारें में सुनकर आपको भी आ जाएंगी हंसी मुंबई ब्लास्ट के दोषी मुस्तफा डोसा की हार्ट अटैक से मौत बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी के ममेरे भाई-भाभी की सड़क हादसे में मौत इस रेस्टोरेंट के बंद होने की वजह जानकर आप चौंक जाएंगे Video: सेंसर बोर्ड ने दी 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' के इस ट्रेलर को रिलीज़ की इजाजत आनंदपाल का शव लेने से परिजनों ने किया इंकार, अब पुलिस की निगरानी में होगा अंतिम संस्कार 31 अंक की बढ़ोतरी के साथ सैंसेक्स 30,989 अंक पर GST लॉन्च की तैयारी को लेकर संसद में आज होगा मेगा रिहर्सल इस पति ने अपनी पत्नी के साथ जो किया उसे सुनकर आप रह जाएंगे दंग मानसून मेगा सेल में Spice Jet दे रहा 699 रुपए में हवाई यात्रा करने का मौका श्वेता तिवारी की बेटी का ये हॉट फोटोशूट देख आप भी कहेंगे WOW GST को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल, 29 जून को होगी सुनवाई 'साथ निभाना साथिया' की गोपी बहु की तबियत ख़राब, हॉस्पिटल में हुइ एडमिट आपत्तिजनक हालत में पुलिस ने 35 लड़के-लड़कियों को किया गिरफ्तार नियम उल्लंघन मामले को लेकर 'लसिथ मलिंगा' पर लगा 6 महीने का प्रतिबंध 'द कपिल शर्मा शो' में कपिल का साथ देने आ रही है भारती सिंह पुजारी ने लड़की की आबरू को तार-तार करने की वारदात को दिया अंजाम 7वां वेतन आयोग: सरकारी कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोत्तरी पर 28 जून को लिया जा सकता है फैसला
उच्च शिक्षा मंत्री के निर्देश पर इंजीनियरिंग और व्यवसायिक कोर्सेज की फीस में की गई कटौती
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 07:43:16 AM
1 of 1

जयपुर। उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने इंजीनियरिंग और व्यवसायिक शिक्षा को और अधिक आकर्षक बनाने और छात्रों के हितों को ध्यान में रखते हुए कुछ कोर्सेज की फीस कम करने के निर्देश दिए थे, जिसकी अनुपालना में राज्य स्तरीय फीस कमेटी ने कुछ इंजीनियरिंग और व्यवसायिक कोर्सेज की फीस को 5 से 7 हजार रूपए तक कम करने का निर्णय लिया है। 

 

निर्देशानुसार राज्य स्तरीय फीस कमेटी ने मास्टर इन इंजीनियरिंग (एमई), एम टेक, बी टेक तथा बी आर्क की फीस को 70 हजार रूपए सालाना किया है जो कि पहले 77 हजार रूपए थी। इसी तरह एमबीए तथा एमसीए की फीस को भी 60 हजार 500 रूपए से घटाकर 55 हजार किया जा चुका है। 

माहेश्वरी ने कहा कि सरकार की मंशा है कि प्रदेश के युवा इंजीनियरिंग, कम्प्यूटर और बिजनेस शिक्षा को ज्यादा से ज्यादा अपनाए। इसी कोशिश में फीस कम करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के ज्यादातर छात्र ग्रामीण पृष्ठभूिम से आते हैं ऎसे में यह प्रयास उनके सपनों में नए रंग भरने जैसा होगा। 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.