संजीवनी टुडे

News

ARTO राधेश्याम यादव की जमानत अर्जी खारिज, संपत्ति की हो जाँच: हाईकोर्ट

Sanjeevni Today 04-12-2017 22:27:38

नई दिल्ली। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार में फंसे चंदौली के एआरटीओ राधेश्याम यादव की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। आरएस यादव की जमानत अर्जी खारिज करते हुए न्यायमूर्ति सुनीत कुमार ने अपने विस्तृत आदेश में कहा है कि याची ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर विवेचना को प्रभावित किया है। जांच अधिकारी ने सिर्फ खानापूर्ति की है।


राधेश्याम यादव 12 जून 2017 से जेल में बंद है। कोर्ट ने कहा है कि 62 हजार वेतन पाने वाले अधिकारी ने 500 करोड़ की नामी-बेनामी संपत्ति अर्जित कर ली है। कोर्ट ने आदेश की प्रति मुख्य सचिव और डीजीपी को पुनर्विवेचना करने के लिए भेजने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि याची के प्रभाव के चलते विवेचनाधिकारी ने विवेचना की खानापूरी की है। वह गवाहों को धमकी दे रहा है। यदि राधेश्याम को जमानत पर रिहा किया गया तो यह समाज के हित के खिलाफ होगा।

ये भी पढ़े: वीडियो वायरल पर बोले हार्दिक, कहा- बीजेपी कर रही है मुझे बदनाम करने की कोशिश

यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीत कुमार ने दिया है। कोर्ट ने कहा है कि विवेचना अपराध की हुई है, जबकि आरोपी की अकूत संपत्ति को इसमें शामिल नहीं किया गया। यह प्रदेश की आपराधिक न्याय व्यवस्था को गंभीर क्षति पहुंचाने वाला है। याची को एक ट्रक ड्राइवर से धमका कर रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने उसके खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है। चार सितंबर 2017 को कोर्ट ने संज्ञान भी लिया है। घटना की प्राथमिकी पुलिस ने ही दर्ज कराई है। याची पहले सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर नियुक्त किया गया। फिर वह परिवहन विभाग में इंस्पेक्टर प्रतिनियुक्ति पर तैनात हुआ और वह आरटीओ इंचार्ज बन गया है।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

 

Watch Video

More From national

Recommended