लॉटरी का झांसा देकर 5 लाख की ठगी देश और दुनिया के इतिहास में 24 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं नाशपाती के सेवन से होते है ये फायदे तुतला कर बोलते हैं तो करे आंवले का सेवन मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए लोगो को जागरूक किया पार्षद ने सेहत विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर क्षेत्र का दौरा किया किदवई में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फैसले से इलाकावासियों की खुशी आधी-अधूरी स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा के घटिया परिणाम पर मनोहर लाल ने जताई नराजगी सुमन महाराज ने कहा- क्षमा धर्म का प्राण और अराधना का सार है शिविर में डेढ़ सौ लोगों का स्वास्थ जांचा भारत को रूस बेचना चाहता है अपना सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान मिग-35 जूनियर पाइलेटों से भरवा रही है जमानती बांड जेट एयरवेज स्मैक बेचने के आरोप में दो तस्कर गिरफ्तार विश्व पैरा एथलीट: भारत एक स्वर्ण सहित पांच पदक के साथ रही टॉप 30 से बाहर भारत सरकार ‘मेक इन इंडिया के तहत बनाएगी सुपर कंप्यूटर WWC17: भारत के सपने हुए चकनाचूर, इंग्लैंड चौथी बार बनी वर्ल्ड चैंपियन मेलबर्न के फेडरेशन चौक पर भारतीय झंडा फहराएंगी ऐश्वर्या वर्ल्ड कप फाइनल LIVE: भारतीय महिला टीम लड़खड़ाई, वेदा के बाद गोस्वामी भी लोटी, score 208/7
वेतन दिवस: तय सीमा से कम नकदी ही उपलब्ध करा पा रहे बैंक..
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 03:50:20 PM
1 of 1

नई दिल्ली। नये करेंसी नोटों की तंगी झेल रहे बैंकों में आज वेतनभोगियों और पेंशनभोगियों को उस समय निराशा हुई जब उन्हें लंबी प्रतीक्षा के बाद तय सीमा से कम नकदी ही उपलब्ध हो पाई।

शाखाओं पर उमड़े खाताधारकों को शांत करने के लिये बैंक अपने पास उपलब्ध नकदी के अनुरूप थोड़ी थोड़ी राशि ही उपलब्ध करा पा रहे हैं। बैंकों ने हालांकि, एक तारीख को ध्यान में रखते हुये पर्याप्त व्यवस्था किये जाने का दावा किया लेकिन ज्यादातर बैंक शाखाओं में देखा गया कि उनके पास नकदी की तंगी बनी हुई है।

सार्वजनिक क्षेत्र के एक वरिष्ठ बैंक अधिकारी ने कहा कि बैंकों को नकदी की तंगी के चलते तय सीमा से कम राशि वितरित करने पर मजबूर होना पड़ रहा है। कुछ बैंक शाखाओं ने प्रति व्यक्ति 5,000 रपये तो कुछ ने 10,000 और 12,000 रपये तक ही अपने ग्राहकों को नकद वितरण किया है।

उल्लेखनीय है कि रिजर्व बैंक ने खाताधारकों को सप्ताह में 24,000 रपये नकद देने की सीमा तय की है। एटीएम आज भी बड़ी संख्या में खाली रहे। नोटबंदी की घोषणा के 24 दिन बाद भी एटीएम में पर्याप्त नकदी नहीं मिल पा रही है।

बैंकों ने हालांकि, 80 प्रतिशत एटीएम को नये नोटों के अनुरूप ढाले जाने का दावा किया है लेकिन इसके बावजूद एटीएम से नकदी नहीं मिल रही है। दूसरी तरफ 2,000 रपये का नोट हाथ में होने के बाद बाजार में खरीदारी नहीं हो पा रही है क्योंकि छोटी मुद्रा उपलब्ध नहीं है।

एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने कल दावा किया था कि वेतन बांटने के लिये विशेष प्रबंध किये जा रहे हैं। बैंकों में अतिरिक्त नकदी भेजी जा रही है। लेकिन जमीन पर स्थिति कुछ अलग ही तस्वीर पेश कर रही है। 

यह भी पढ़े: नोटबंदी से परेशान व्यक्ति ने मुंडवाया सिर, जला दिए 23000

यह भी पढ़े: 300 मेहमानों के बीच पसंद नही आया सांभर तो तोड़ दी शादी

यह भी पढ़े: नन्ही सी जान को नया जीवन दिया सलमान ने, इलाज के लिए दिए 1 करोड़

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.