संजीवनी टुडे

News

प्रेसिडेंट इलेक्शन में मुझे राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने से रोका गया: अयूब अली

Sanjeevni Today 07-12-2017 06:44:00

नई दिल्ली। पार्टी प्रेसिडेंट इलेक्शन में राहुल अकेले वैलिड नॉमिनेटेड कैंडिडेट हैं। 11 दिसंबर को 3 बजे नाम वापस लेने का वक्त खत्म होने के बाद उनके निर्विरोध चुने जाने का एलान होगा। इसी बिच यूपी के कांग्रेस नेता अयूब अली ने दावा किया है कि पार्टी के प्रेसिडेंट इलेक्शन में उन्हें राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने से रोका गया। अयूब ने गुरुवार को मिडिया से कहा, ''मैं कांग्रेस सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी के चेयरमैन एम. रामचंद्रन के पास गया था। उनसे कहा कि प्रेसिडेंट पोस्ट के लिए इलेक्शन लड़ना चाहता हूं। वह काफी गुस्से में बोले- यहां सिर्फ एक कैंडिडेट हैं राहुल जी। यहां से बाहर निकल जाओ।'' 

नॉमिनेशन पेपर्स की स्क्रूटनी के बाद राहुल इकलौते वैलिड कैंडिडेट हैं। उन्होंने ने सोमवार को कांग्रेस हेडक्वार्टर में नॉमिनेशन फाइल किया था। अब 11 दिसंबर को 3 बजे नाम वापस लेने की समय सीमा खत्म होने के बाद राहुल के निर्विरोध चुने जाने का एलान होगा। वे इस पोस्ट पर पहुंचने वाले नेहरू-गांधी परिवार के छठे शख्स होंगे।

मंगलवार को स्क्रूटनी के बाद इलेक्शन अथॉरिटी के चेयरमैन और रिटर्निंग ऑफिसर मुलापल्ली रामचंद्रन ने बताया कि कांग्रेस प्रेसिडेंट इलेक्शन के लिए कुल 89 नॉमिनेशन पेपर्स मिले, सभी में राहुल गांधी का नाम है। उन्होंने कहा कि स्क्रूटनी के दौरान सभी पेपर्स वैलिड पाए गए। प्रेसिडेंट पोस्ट के लिए इलेक्शन प्रॉसेस में अब सिर्फ एक वैलिड कैंडिडेट राहुल गांधी हैं।

हर राज्य  से नॉमिनेशन पेपर्स मांगे गए

इसके पहले रविवार को पार्टी के सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी चेयरमैन मुलापल्ली रामचंद्रन और इसके मेंबर मधुसूदन मिस्त्री ने प्रेसिडेंट के इलेक्शन से जुड़ी प्रॉसेस को लेकर पार्टी हेडक्वार्टर में मीटिंग की। इस दौरान राज्यों के रिटर्निंग ऑफिसर्स को इलेक्शन प्रॉसेस की जानकारी दी गई थी। सभी स्टेट यूनिट के 10 डेलिगेट्स को नॉमिनेशन पेपर्स का एक-एक सेट भेजने को कहा गया था, जिसमें राहुल गांधी को प्रेसिडेंट बनाए जाने का प्रस्ताव हो।

 

Watch Video

More From national

Recommended