वरुण धवन हुए निराश, नही मिला वोटर लिस्ट में नाम लौटना पड़ा बिना मतदान एक्ट्रैस श्रद्धा कपूर पहुंची वोट डालने, फोटो क्लिक करते फोटोग्राफर के साथ हुआ कुछ ऐसा... बन गए अल्ट्रामैन, 3 दिन में 517km दौड़ लगाकर रच डाला इतिहास मिलिंद सोमन ने ये खट्टी-मीठी बातें दिलाती है बड़ी बहन की याद..! यहां लुक नही है मायने, है एक-दूसरे से बिल्कुल अलग फिर भी है साथ, ऐसे है यह कपल..! 7वां वेतन आयोग: बढ़ेगा कर्मचारियों का महंगाई भत्ता और एचआरए..! यूपी चुनाव में सबसे खूबसूरत उम्मीदवार, जो है काफी चर्चा में, तस्वीरें वायरल यहां बीमारी से पीड़ित लोगों को किडनैप कर, उनकी बॉडी पार्ट्स से बनाई जाती हैं दवाइयां..! संभल मे दस वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म, पुलिस मामला दबाने मे जुटी मुख्यमंत्री को जब स्कूली बच्चों ने ’शिक्षक’ बनकर पढ़ाया... ट्रेन से कटकर वृद्ध की मौत गोमती नदी में डूबा छात्र, हंगामा नोटबंदी राष्ट्रहित में एक बड़ा फैसला : मनोज सिन्हा संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, दहेज हत्या का आरोप शेयर बाजार में आई तेजी, सेंसेक्स में 100 अंकों का उछाल सपा-बसपा ने राजनीति में फैलाया कीचड़, अब खिलेगा कमल: राजनाथ मुख्यमंत्री के साथ दिव्यांग बच्चों ने साझा किए अपने बड़े सपने एक साल में 82000 धनाढ्यों ने छोड़ा देश पुलिस व सीआरपीएफ ने डकैत को दबोचा विजय माल्या को भारत लाने की मुहिम तेज
पीएम ने किया तीन पनबिजली परियोजनाओं का लोकार्पण
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 01:12:10 PM
1 of 1

शिमला। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को मण्डी से तीन जल बिजली परियोजनाओं एनटीपीसी की कोलडैम ( 800 मेगावाट), एनएचपीसी की पार्वती (520 मेगावाट) और एसजेवीएनएल की 412 मेगावाट की रामपुर जल विद्युत परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित कीं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

श्री मोदी करीब 11 बजे वायु सेना के विशेष हेलीकाप्टर से मण्डी पहुंचे।मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने प्रधानमंत्री मोदी का मण्डी पहुंचने पर गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पीयुष गोयल, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नडडा, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, नेता विपक्ष प्रेम कुमार धूमल और मण्डी से स्थानीय सांसद रामस्वरूप शर्मा सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे।

एनटीपीसी ने दिसंबर 2003 में जिला बिलासपुर में सतलज नदी पर अपने पहले जल विद्युत उद्यम - कोलडैम जल विद्युत परियोजना का कार्यान्वयन आरंभ किया था। परियोजना की मुख्य विशेषताएं डाइवर्जन ढांचा, 167 मीटर ऊंचा रॉक फिल डैम, स्पिलवे, डिकेन्टिंग चैम्बर पावर हाउस और स्विचयार्ड है।

एनएचपीसी की पार्वती नदी पर परियोजनाएं हैं। पार्वती-3 पावर स्टेशन एक बहते पानी की योजना है जिसमें 43 मीटर ऊंचा रॉक फिल बाँध, भूमिगत पावर हाउस और 10.58 किलोमीटर लम्बा वाटर कंडक्टर सिस्टम है। 326 मीटर के कुल हेड का उपयोग चार वर्टिकल फ्रांसिस टरबाइन से 520 मेगावाट क्षमता का दोहन किया गया है।

तीसरी बिजली परियोजना एसजेवीएन की है। शिमला जिला के झाकड़ी में इसकी सबसे बड़ी 1500 मेगावाट की जलविद्युत परियोजना है। अब इसकी 412 मेगावाट का रामपुर जलविद्युत स्टेशन परियोजना को कमीशन किया गया है।

इन तीनों बिजली परियोजनाओं से हिमाचल प्रदेश, जम्मू व कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान व संघ शासित क्षेत्र चंडीगढ़ को बिजली सप्लाई की जाती है। सभी परियोजनाओं से उत्पादित बिजली का 12 प्रतिशत गृह राज्य हिमाचल प्रदेश को नि:शुल्क मिलेगी।

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश में जलविद्युत के क्षेत्र में 25 हजार मेगावाट से अधिक की संभावनाएं आंकी गई हैं। जिसमें से अभी तक 10 हजार मेगावाट तक का ही दोहन हो पाया है।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.