गुजरात चुनाव: आंतरिक गुटबाजी और पीएएएस की वजह से कांग्रेस की सूची में विलंब बुन्देलखण्ड को औद्योगिक हब बनाएगी योगी सरकार: मौर्य बद्रीनाथ के कपाट शीतकाल के लिए बंद पद्मावती, आईएफएफआई विवाद पर हंसल मेहता निराश ISL 2017: गोवा एफसी ने 3-2 से चेन्नईयन एफसी को चटाई धूल व्हाट्सएप पर पोस्ट डालना अधिकारी को पड़ा महंगा, गवानी पड़ी कुर्सी गांव में हो रही है राजपाल यादव की बेटी की शादी, बैंक मैनेजर है दामाद करुणामय संसार बनाने के लिए भारत-चीन को मिलकर करना होगा काम: दलाई लामा एशियन कबड्डी चैंपियनशिप: पुरुष व महिला की टीमें घोषित, हिमालय के 4 खिलाडी शामिल विश्व शौचालय दिवस : स्वच्छ भारत मिशन ने मनाया शौचालय दिवस VVS लक्ष्मण की ड्रीम टेस्‍ट टीम घोषित, जानिए टीम के 11 सदस्य बरेली पुलिस ने अपराध होने से पहले आरोपियों को किया गिरफ्तार प्रति व्यक्ति औसत GDP के लिहाज से भारत ने लगाई छलांग, पहुंचा 126 वें स्थान पर अंडर-19 एशिया कप में पाक को हराकर अफगानिस्‍तान बना चैम्पियन जिम्बाब्वे: रॉबर्ट मुगाबे की पार्टी प्रमुख पद से की छुट्टी, एमर्सन नांगाग्वा संभालेंगे कमान सरहदी नागरिकों ने राजस्थान की तर्ज पर एंट्री टैक्स को माफ करने की मांग उठाई ऐसा होगा राजस्थान पुलिस परीक्षा का पैटर्न, पढ़िए पूरी खबर आमिर व सैफ अली खान के अलावा करीना कपूर भी है लव जिहाद का शिकार मार्च 2018 तक कोई नई नियुक्ति नहीं: एसोचैम कांग्रेस और पाटीदार नेताओं के बीच आरक्षण पर बनी सहमति, आज उम्मीदवारों की पहली लिस्ट
पीएम ने किया तीन पनबिजली परियोजनाओं का लोकार्पण
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 01:12:10 PM
1 of 1

शिमला। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को मण्डी से तीन जल बिजली परियोजनाओं एनटीपीसी की कोलडैम ( 800 मेगावाट), एनएचपीसी की पार्वती (520 मेगावाट) और एसजेवीएनएल की 412 मेगावाट की रामपुर जल विद्युत परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित कीं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

श्री मोदी करीब 11 बजे वायु सेना के विशेष हेलीकाप्टर से मण्डी पहुंचे।मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने प्रधानमंत्री मोदी का मण्डी पहुंचने पर गर्मजोशी से स्वागत किया। इस दौरान प्रधानमंत्री के साथ केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पीयुष गोयल, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नडडा, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, नेता विपक्ष प्रेम कुमार धूमल और मण्डी से स्थानीय सांसद रामस्वरूप शर्मा सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे।

एनटीपीसी ने दिसंबर 2003 में जिला बिलासपुर में सतलज नदी पर अपने पहले जल विद्युत उद्यम - कोलडैम जल विद्युत परियोजना का कार्यान्वयन आरंभ किया था। परियोजना की मुख्य विशेषताएं डाइवर्जन ढांचा, 167 मीटर ऊंचा रॉक फिल डैम, स्पिलवे, डिकेन्टिंग चैम्बर पावर हाउस और स्विचयार्ड है।

एनएचपीसी की पार्वती नदी पर परियोजनाएं हैं। पार्वती-3 पावर स्टेशन एक बहते पानी की योजना है जिसमें 43 मीटर ऊंचा रॉक फिल बाँध, भूमिगत पावर हाउस और 10.58 किलोमीटर लम्बा वाटर कंडक्टर सिस्टम है। 326 मीटर के कुल हेड का उपयोग चार वर्टिकल फ्रांसिस टरबाइन से 520 मेगावाट क्षमता का दोहन किया गया है।

तीसरी बिजली परियोजना एसजेवीएन की है। शिमला जिला के झाकड़ी में इसकी सबसे बड़ी 1500 मेगावाट की जलविद्युत परियोजना है। अब इसकी 412 मेगावाट का रामपुर जलविद्युत स्टेशन परियोजना को कमीशन किया गया है।

इन तीनों बिजली परियोजनाओं से हिमाचल प्रदेश, जम्मू व कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान व संघ शासित क्षेत्र चंडीगढ़ को बिजली सप्लाई की जाती है। सभी परियोजनाओं से उत्पादित बिजली का 12 प्रतिशत गृह राज्य हिमाचल प्रदेश को नि:शुल्क मिलेगी।

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश में जलविद्युत के क्षेत्र में 25 हजार मेगावाट से अधिक की संभावनाएं आंकी गई हैं। जिसमें से अभी तक 10 हजार मेगावाट तक का ही दोहन हो पाया है।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.