loading...
loading...
loading...
नरोत्तम मिश्र को EC ने किया अयोग्य घोषित, जा सकते है हाईकोर्ट T20 क्रिकेट: जेसन रॉय के नाम हुआ ये शर्मनाक वर्ड रिकॉर्ड दर्ज एक जुलाई से देश में जीएसटी लागू होने पर व्यापारियों ने पूछे सवाल इस लेडी टीचर ने स्‍टूडेंड और टीचर के पवित्र रिश्ते को किया कलंकित, स्‍टूडेंड से बनाये शारीरिक संबंध वीडियो: राखी सावंत ने अम्बानी को अपने पाप धोने का बताया रास्ता वीडियो: युवक ने की भीड़ के सामने औरत की निर्ममता से पिटाई इस साल चाइना में रिलीज होगी 'सुल्तान', क्या दे पाएगी 'दंगल' को टक्कर? एक ऐसा गांव जिसकी परम्परा को सुनकर आप भी रह जाएंगे दंग चीन में भूस्खलन में दबे लोगो की संख्या बढ़कर हुई 141 सरकार, ट्राई के बीच नीतिगत मुद्दों पर विचार विमर्श पुलिस में होना चाहता था भर्ती, फिजीकल टेस्ट की तैयारी करते वक्त हुई मौत बुलंदशहर में 'लेडी पुलिस सिंघम' ने नियम तोड़ने पर BJP नेता को लगाई फटकार OMG: जुहू का अपना घर छोड़ गोरेगांव के होटेल में शिफ्ट हो गए है शाहिद ये है दुनिया के सबसे खतरनाक ब्रिज, यहां चलना खतरे से नहीं है खाली शहीद पिता को मुखाग्नि देते वक़्त खूब रोया 1 साल का बेटा Snapdeal दे रहा है इन ऑफर्स पर भरी डिस्काउंट महिला को प्यार का झांसा देकर लुटे एक करोड़ रुपए कर्नाटक लोक सेवा आयोग ने निकाली टीचर की भर्ती, आज ही करे ऑनलाइन आवेदन राष्ट्रपति चुनावों की तैयारियों को लेकर रविवार को लखनऊ पहुंचेंगे कोविंद डॉलर के मुकाबले रुपए में हुई 7 पैसे की बढ़ोतरी
108 साल की बुजुर्ग औरत के सिर का ऑपरेशन, गिनीज बुक में होगा दर्ज
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 12:40:39 PM
1 of 1

जयपुर। राजस्थान की राजधानी पिंक सिटी यानी जयपुर चिकित्सा के क्षेत्र में नए आयाम छू रहा है। हाल में यहां के IBS अस्पताल में 108 वर्षीय बुजुर्ग महिला के सिर का ऑपरेशन कर दो क्लॉट को निकाला गया है। अब इस दुर्लभ केस को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज कराने के लिए डॉ कमल भिजवाएंगे।

 

कोमा में थी महिला
कोमा में जा चुकी 108 वर्षीय रमोली देवी को बाइलेट्रल एक्यूट क्रॉनिक सबड्यूरल एनाटोमा डिजीज थी। IBS अस्पताल के वरिष्ठ न्यूरोसर्जन डॉ कमल गोयल ने इस 108 वर्षीय महिला का ऑपरेशन बिना एनीस्थीसिया के बेहोश किए ही किया। ऑपरेशन के बाद अब रमोली देवी बिल्कुल स्वस्थ हैं। डॉ गोयल ने बताया कि इस दुर्लभ केस को गिनीज बुक रिकॉर्ड में 103 वर्ष की महिला के जोडों का ऑपरेशन दर्ज है। 

4 अक्टूबर को हुआ ब्रेन हेमरेज
करौली निवासी रमोली देवी को 4 अक्टूबर को ब्रेन हेमरेज हुआ था। जहां से उन्हें एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां कुछ इलाज के बाद उन्हें घर भेज दिया गया। 6 अक्टूबर को वे फिर बेहोश हो गई। रमोली देवी के चार बेटियां हैं और उनकी सबसे छोटी बेटी ने ही उनका इलाज जयपुर के IBS अस्पताल में करौली से लाकर कराया। बेटी के पति मोहर लाल जो कि रियाध में सर्विस करते हैं वे भी रियाध से जयपुर आए और अपनी सास की तिमारदारी की। जो इस बात का भी सबूत है कि आज के दौर में जो लोग केवल बेटे की चाहत में बेटियों की भू्रण हत्या कराते हैं वे यह देख लें कि किस प्रकार एक बेटी और उसके जमाता ने अपनी मां का इलाज खुद कराया और मां को 108 वर्ष की उम्र में भी स्वस्थ कर दिया। 

अब है बेहतर स्वास्थ्य
रमोली देवी की याददाश्त भी दुरूस्त है और वे कहानी किस्से भी खूब सुनाती हैं। खुद रमोली देवी ने ETV को किस्से सुनाए। आज के इस दौर में अब बेटियां बेटों से कम नहीं पडती हैं। 108 वर्ष की उम्र में अपनी मां की तिमारदारी के लिए विदेश जाने के बजाय यहीं रहकर इलाज कराना और फिर डॉ कमल गोयल द्वारा बिना बेहोश किए इस दीर्घायु में किसी बुजुर्ग महिला ऑपरेशन कर उन्हें बिल्कुल स्वस्थ कर देना किसी आश्चर्य से कम नहीं है।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.