डब्ल्यूएचओ की टीम ने स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया शिविर में 225 लोगों का स्वास्थ जांचा स्वास्थ्य केंद्र मंडकौला में पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन चातुर्मास धर्म ध्यान करने का मौसम है कालीचरण सराफ ने अरबन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उद्घाटन किया राजपुताना प्रीमियर लीक में मैच फिक्सिंग/ स्पोर्ट्स फिक्सिंग गैंग का पर्दापास कर 14 गिरफ्तार एंव 38 लाख 47 हज़ार रुपये जब्त जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य सेवा 555 के डिपो प्वाइंट का उद्घाटन किया राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदा को मुख्यमंत्री वंसुधरा राजे ने दी बधाई राजस्थान राज्य का धौलपुर होगा चिल्ड्रन फे्रन्डली जिला: मनन चतुर्वेदी बर्थडे स्पेशल: नसीरुद्दीन शाह ने अपने ख्वाबों को सच कर दिखाया, जानिए पर्सनल लाइफ से जुड़े फैक्ट्स LIVE महिला वर्ल्ड कप: ऑस्ट्रेलिया ने 18 ओवर में 3 विकेट के नुकसान पर बनाये 92 रन उदयपुर-हरिद्वार रेल सेवा सोमवार 24 जुलाई से होगी प्रारंभ: सी.पी.जोशी खुशखबरी: अभिनेत्री सनी लियोनी बनीं मां, जानें क्या है बच्चे का नाम... LIVE महिला वर्ल्ड कप: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को तीसरा झटका दिया विद्यार्थियों की वैज्ञानिक प्रतिभा के विकास हेतु होगा विज्ञान मेलों का आयोजन कैमूर के जंगल में ले जाकर किया किशोरी का गैंगरेप, एक गिरफ्तार LIVE महिला वर्ल्ड कप: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका दिया तेज धुप और लू के कारण शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए जानिए ये आसान उपाय उत्तर प्रदेश: कांवड़ियों के शिविर पर गिरी आकाशीय बिजली jio आने के बाद हर तिमाही में हो रहा है Airtel को 550 करोड़ रुपये का नुकसान
राष्ट्रगान पर उच्चतम न्यायालय के आदेश का स्वागत है, लेकिन क्या इससे देशभक्ति बढ़ेगी: ओवैसी
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 07:36:58 PM
1 of 1

नई दिल्ली। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलीमीन :एआईएमआईएम: के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने आज उच्चतम न्यायालय के इस आदेश का स्वागत किया कि देश भर के सिनेमाघरों को फिल्म की शुरूआत से पहले राष्ट्रगान निश्चित तौर पर बजाना होगा। हालांकि, ओवैसी ने सवाल किया कि क्या इससे देशभक्ति की भावना मजबूत करने में मदद मिलेगी।

ओवैसी ने कहा..
संसद के बाहर पत्रकारों से बातचीत में ओवैसी ने कहा कि राष्ट्रीय सम्मान का अपमान रोकथाम कानून, 1971 और राष्ट्रगान के बाबत केंद्रीय गृह मंत्रालय का परामर्श नागरिकों से यह नहीं कहता कि राष्ट्रगान के वक्त खड़े होना जरूरी है। ओवैसी ने सरकार को सुझाव दिया कि वह कानून में संशोधन कर परामर्श का पुनरीक्षण करे।

राष्ट्रीय सम्मान का अपमान रोकथाम कानून भारत के संविधान, राष्ट्रगान, राष्ट्रध्वज और देश के मानचित्र की बेअदबी या अपमान को प्रतिबंधित करता है।

ओवैसी ने सवाल किया..
‘‘यह :आदेश: ठीक है और इसका पालन करना है। लेकिन सवाल है कि क्या राष्ट्रगान के वक्त लोगों का खड़ा होना जरूरी है ? क्या इससे देशभक्ति या राष्ट्रवाद बढ़ाने में मदद मिलेगी ?’’ पिछले महीने गोवा के एक सिनेमाघर में राष्ट्रगान गाते वक्त खड़े नहीं होने पर एक दिव्यांग व्यक्ति की पिटाई की घटना की तरफ इशारा करते हुए ओवैसी ने जानना चाहा कि ‘‘इस बाबत क्या किया जा सकता है।’’ हैदराबाद के सांसद ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि बच्चों को बहुत कम उम्र से ही राष्ट्रगान के बारे में सिखाया जाना चाहिए..सरकार को 1971 के कानून में संशोधन और गृह मंत्रालय के परामर्श को ठीक करने की जरूरत है। मैं देशभक्ति के पक्ष में हूं।’’

यह भी पढ़े: अगर आपको गुस्सा आता है, तो आप स्वस्थ हैं।

यह भी पढ़े: ये है एंटी डैंड्रफ कंघी, खरीदने के लिए लोगों की जमा हुई भीड़

यह भी पढ़े: यहां की महिलाओ की सुंदरता के आगे बड़ी-बड़ी हस्तियां और मॉडल्स भी है फ़ैल

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.