31 मार्च से आगे भी बढ़ सकता है जियो ऑफर Live INDvsENG : तीसरे दिन लंच तक भारत ने 2 विकेट के नुकसान पर बनाए 247 रन Boys Attention ! सीख ले ये वाले काम वरना छोड़ के चली जाएगी आपकी GF नोटबंदी: केंद्र सरकार ने SC से कहा- 10 से 15 दिनों में खत्‍म होंगी समस्‍याएं OMG ! अचानक से महिला के पेट में हुआ दर्द और दे दिया घोड़े के बच्चे को जन्म, पति अभी भी सदमे में ऐसा क्या किया इस एक्ट्रेस ने, जिससे बचने के लिये अर्जुन छिपे टायलेट में Girls Attention ! लिपिस्टिक लगाकर होंठों पर जीभ फेरना भी है जानलेवा... जाने क्यों अखिलेश यादव ने सपा नेता जावेद को बनाया सिंचाई विभाग का सलाहकार किसान महासम्मेलन आज, शामिल होंगे सीएम शिवराज मारुति सुजुकी ने UK में लॉन्च की यह नयी कार आज गुजरात मे डेयरी प्लांट का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी हिंद महासागर में भारत दबदबा बढ़ाने मॉरीशस जाएंगे पर्रिकर नोट बंदी के बाद ऐसे चल रहा है जिस्मफरोशी का धंधा! Live INDvsENG: मुरली विजय ने ठोका 8वां शतक, कोहली की धुंआधार पारी लाइट फ्लाईवेट में वापसी करेंगी एमसी मैरीकाम उत्तर भारत में छाया कोहरे का कहर 73 ट्रेन रद्द पश्चिम बंगाल में सेना की तैनाती पर पर्रिकर की चिट्ठी पर ममता का तीखा जवाब पाक ने फिर की नापाक हरकत, घुसपैठ की कोशिश को BSF ने किया नाकाम सोनिया मेरे तलाक के लिए जिम्मेदार नहीं हैं: कोमल पीवी सिंधू के साथ मुकाबले का बेसर्बी से इंतजार कर रही हैं कैरोलिना मारिन
पहले जनजातीय समारोह का आयोजन 25 अक्तूबर को होगा
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 03:50:13 PM
1 of 1

नई दिल्ली। सूत्रों के अनुसार आदिवासियों  के बीच एकत्व की भावना को जगाने के लिए सरकार यहां राष्ट्रीय जनजातीय समारोह का आयोजन करने जा रही है। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अक्तूबर को करेंगे। आदिवासी मामलों के मंत्री जुएल ओरम ने यहां संवाददाताओं को बताया कि इस समारोह में पंचायत :अधिसूचित क्षेत्रों तक विस्तार: कानून, वन अधिकार अधिनियम :एफआरए: और राजनीति में आरक्षण समेत कई मुद्दों पर कार्यशाला का आयोजन होगा।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

उन्होंने कहा, ‘‘समारोह आयोजित करने का विचार मोदीजी का था। आदिवासियों के बीच एकत्व की भावना को विकसित करने के लिए हम इसका आयोजन कर रहे हैं।’’ यह एक ऐसा मंच होगा जिसमें आदिवासी अपनी संस्कृति, अपनी प्रतिभा के विभिन्न पहलुओं को प्रदर्शित कर सकेंगे। इसमें कलाकृतियों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसके अलावा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां, खेल और अन्य क्षेत्रों में प्रतिभा का प्रदर्शन, चित्रकला और पारंपरिक उपचार विधियां भी इस कार्यक्रम का हिस्सा होंगे। इस चार दिवसीय समारोह में फग्गन सिंह कुलस्ते, किरण रिजिजू और विष्णु देव साई शरीक हो सकते हैं।

ओरम ने कहा, ‘‘मैंने सभी आदिवासी सांसदों, केंद्र तथा राज्य के आदिवासी मंत्रियों और पूर्व मंत्रियों से बात कर समारोह में उन्हें आमंत्रित किया है।’’ इस समारोह में देशभर से 1,600 आदिवासी कलाकार और करीब 15,000 आदिवासी प्रतिनिधि हिस्सा ले सकते हैं।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.