B' day special: सिमी ग्रेवाल ने मनाया 70वां जन्मदिन, जामनगर के महाराजा से था अफेयर क्यों नहीं आ रहे है ATM से 200 रुपये के नोट? ये रहा जवाब कादर खान ना बोलते ना चलते, तस्वीर वायरल BSF ने सुचेतगढ़ इलाके से पाकिस्तानी घुसपैठिये को किया गिरफ्तार इस शिव मंदिर की मूर्तियों को छूने से डरते है लोग उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच कभी भी हो सकता है परमाणु युद्ध : किम इन यॉन्ग हर महीने लाखों रुपए कमाती है 8 साल की ये लड़की मुख्यमंत्री राजे ने की, अजमेर से अन्नपूर्णा रसोई के दूसरे चरण की शुरुआत बच्चो के ट्विटर पर बने फर्जी अंकाउट को लेकर भड़के सचिन इस अनोखी शादी के बारें में जानकर आप भी रह जाएंगे दंग! Park में खेलते हुए लड़के को मिला दुनिया का दुर्लभ ब्राउन डायमंड B'day special: 47वें जन्मदिन पर कुंबले को नहीं किया कोहली ने विश संतोषी की मां कोईली देवी ने कहा -"मेरी बेटी भूख से मर रही थी और वो आधार मांग रहे थे" अनोखा गांव: यहां पर सिर्फ प्लास्टिक की बोतलों से बने हुए है घर ट्रक ड्राइवर ने 35 ओवर के मैच में 40 छक्के जड़कर बनाया तिहरा शतक पनामा पेपर लीक मामले को सामने लाने वाली पत्रकार की हुई मौत ताजमहल भारतीय मजदूरों के खून-पसीने से बना है: CM योगी 21 और 22 अक्टूबर 2017 को मनाई जाएगी युगावतार बहाउल्लाह के जन्म की 200वी वर्षगांठ विराट-अनुष्का की ये तस्वीर देख थम जाएंगी आप की निगाहे कैदी ने हाथ की नस काटकर जान देने का किया प्रयास
पहले जनजातीय समारोह का आयोजन 25 अक्तूबर को होगा
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 03:50:13 PM
1 of 1

नई दिल्ली। सूत्रों के अनुसार आदिवासियों  के बीच एकत्व की भावना को जगाने के लिए सरकार यहां राष्ट्रीय जनजातीय समारोह का आयोजन करने जा रही है। इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अक्तूबर को करेंगे। आदिवासी मामलों के मंत्री जुएल ओरम ने यहां संवाददाताओं को बताया कि इस समारोह में पंचायत :अधिसूचित क्षेत्रों तक विस्तार: कानून, वन अधिकार अधिनियम :एफआरए: और राजनीति में आरक्षण समेत कई मुद्दों पर कार्यशाला का आयोजन होगा।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

उन्होंने कहा, ‘‘समारोह आयोजित करने का विचार मोदीजी का था। आदिवासियों के बीच एकत्व की भावना को विकसित करने के लिए हम इसका आयोजन कर रहे हैं।’’ यह एक ऐसा मंच होगा जिसमें आदिवासी अपनी संस्कृति, अपनी प्रतिभा के विभिन्न पहलुओं को प्रदर्शित कर सकेंगे। इसमें कलाकृतियों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसके अलावा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां, खेल और अन्य क्षेत्रों में प्रतिभा का प्रदर्शन, चित्रकला और पारंपरिक उपचार विधियां भी इस कार्यक्रम का हिस्सा होंगे। इस चार दिवसीय समारोह में फग्गन सिंह कुलस्ते, किरण रिजिजू और विष्णु देव साई शरीक हो सकते हैं।

ओरम ने कहा, ‘‘मैंने सभी आदिवासी सांसदों, केंद्र तथा राज्य के आदिवासी मंत्रियों और पूर्व मंत्रियों से बात कर समारोह में उन्हें आमंत्रित किया है।’’ इस समारोह में देशभर से 1,600 आदिवासी कलाकार और करीब 15,000 आदिवासी प्रतिनिधि हिस्सा ले सकते हैं।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.