आज का राशिफल (21 जनवरी 2017) कोयलाकर्मियों की पेंशन पर असमंजस जारी, आज होगी निर्णायक बैठक OMG: यहां पर बिल्लियों को दी जाती है सरकारी नौकरी! जानिये कम सैलेरी में कैसे करे बचत... धोनी ने युवराज के क्रिकेट करियर के तीन महत्वपूर्ण साल कर दिए खराब: योगराज सिंह OMG: पानी के प्रैशर से चलती यह 200 साल पूरानी चक्की... छपेमारी के दौरान 4384 लीटर अवैध शराब बरामद बादल परिवार ने 10 वर्ष के शासन में लूट लिया पंजाब: नवजोत सिंह सिद्दू विवाहिता की हत्या के आरोप में को ससुरालियों को जेल शनिवार को इस विधि से की गई पूजा से शनिदेव होंगे प्रसन्न..! आल्टो कार- टाटा 207 में भिड़ंत, दो की मौत UP विधानसभा चुनाव: सपा ने की 209 उम्मीदवारों की सूची जारी, शिवपाल यादव और आजम खान भी मैदान में एलएफडब्ल्यू फिनाले में जलवे बिखेरेंगी करीना किशोर ने फंदा लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया आज भारतीय क्रिकेटर ऋषि धवन फैशन डिज़ाइनर दीपाली चौहान से रचाएंगे सगाई ! दीपिका पादुकोण संग थिरके जेम्स कॉर्डन जन धन खाताधारकों को 2 लाख रु का बीमा मिलने की पूरी उम्मीद राहत फतेह अली खान के गीत में नजर आएंगे कुनाल रांची का विवेकानंद तिवारी भारत अंडर-19 क्रिकेट टीम में शामिल किशोरी की गला काटकर हत्या
अब आप आधार से भी जल्द ही कर सकेंगे पेमेंट
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 12:21:39 PM
1 of 1

नई दिल्ली। देश भर में पैसों के लेन-बाद के नोटबंदी देन में हो रही दिक्कतों को लेकर अब सरकार ने आधार कार्ड से जुड़े एक ऐसे एप को विकसित कर रही है। इसके लिए न तो आपको एटीएम जाने की जरूरत पड़ेगी और न ही पेटीएम जैसी किसी निजी कंपनी के एप को डाउनलोड करना पड़ेगा। आप इसके साथ ही एप के इस जरिए जो भी लेन-देन करेंगे वह सरकार की नजर में होगा और आपके खाते में जमा राशि भी सुरक्षित रहेगी। इस एप के विकसित होने के बाद आपको डेबिट कार्ड के इस्तेमाल करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।

हाल ही में मीडिया में आई खबरों के मुताबिक सरकार इस समय एक ऐसा आम मोबाइल फोन पप बनाने पर काम कर रही है, जिसका इस्तेमाल दुकानदार, कारोबारी और आम उपभोक्ता आधार-आधारित भुगतान के लिए कर सकेंगे। खास बात यह है कि इस एप के आ जाने के बाद आपको डेबिट कार्ड, पिन और पासवर्ड आदि को याद रखने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। इस मोबाइल एप में हैंडसेट में आधार-आधारित भुगतान प्रणाली का इस्तेमाल तभी किया जा सकता है, जब इसमें ग्राहक की बायोमीट्रिक जानकारी का प्रमाण आ जाएगा।

विशिष्ट पहचान प्राधिकार की योजना आधार के जरिए बायोमीट्रिक ऑथेंटिकेशन क्षमता को बढ़ाकर 40 करोड़ प्रतिदिन किया जा रहा है भारतीय। यदि ऐसा हो गया, तो सरकार कैशलेस अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को हासिल करने में इस प्लेटफॉर्म के रूप में इसका इस्तेमाल कर सकेगी। यूआईडीएआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडेय ने कहा कहा कि यूआईडीएआई अपनी बायोमीट्रिक जानकारी के प्रमाणन की क्षमता को बढ़ाकर 40 करोड़ प्रतिदिन करेगा। 

साथ ही उनका कहना है कि हम लेन-देन के इस तरीके बारे में लोगों के बीच जागरूकता फैलायेंगे। हम अपनी प्रमाणन क्षमता को बढ़ाकर 40 करोड़ करेंगे। उन्होंने बताया कि बीते बुधवार को 1.31 करोड़ आधार आधारित बायोमीट्रिक प्रमाणन किये गये। वहीं, नीति आयोग के कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने बताया कि सरकार कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा देने और नकदी में सौदों को हतोत्साहित करने की दिशा में काम कर रही है।

यह भी पढ़े : Golden Rock ! आज भी अद्भुत तरीके से लटका हुआ ये पत्थर, दुनिया के लिए आज भी चमत्कार

यह भी पढ़े : विचित्र तरह के बच्चो का हो रहा जन्म, डॉक्टर खुद हैरान

यह भी पढ़े : गांव में दिखे अजीबोगरीब पैरों के निशान, बना डर का माहौल..!

यह भी पढ़े : जवाब नहीं ! चोरी के डर से घर को बना डाला लोहे का पिंजरा



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.