आखिर क्या हुआ भारत के विराट को, बरसे अंपायर पर.. ये शो वापस लाएगा मशहूर ITEM GIRL राखी सावंत ! शिक्षा आर्थिक संवृद्धि की पहली शर्त : मनमोहन सिंह निम्मो का पहला लुक जारी, जरूर देखे जूनियर और सीनियर हाकी में एकरूपता चाहते हैं कोच IPL 2017 में नहीं होंगे KKR के गेंदबाजी कोच वसीम अकरम केरल के CM को हुई असुविधा के लिए MP के शीर्ष अधिकारियों को खेद शशिकला को संभालनी चाहिए अन्नाद्रमुक की कमान : पन्नीरसेल्वम HOCKEY: इंग्लैंड भी नही रोक सका भारत का विजयी अभियान, 5-3 से परास्त BIRTHDAY PARTY: स्टनिंग लुक में नजर आई नव्या पिस्टल दिखाकर महिला से मारपीट और गैंगरेप पर्रिकर ने मॉरीशस को पूर्ण सहयोग का दिया आश्वासन ऐसा क्या कारण था जो कटप्पा ने बाहुबली को मारा तेलंगाना में करीब 82 लाख रूपये के नए नोट जब्त पंजाब: बेरवाला गांव के जंगल में मिली मिसाइल,मचा हड़कंम एयर इंडिया फंसे यात्रियों को निकालने के लिए आज रात दो उड़ानें करेगी संचालित नहीं मिली एम्बुलेंस, मजबूरन हाथ रिक्शे से लाना पड़ा शव life Ok शो ‘बहू हमारी रजनीकांत’ बंद नहीं होगा भारत को तीन साल में मिलेगी राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप: वायुसेनाध्यक्ष खेल मंत्री ने सोनीपत में नए कुश्ती हाल का उद्घाटन किया..
अब आप आधार से भी जल्द ही कर सकेंगे पेमेंट
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 12:21:39 PM
1 of 1

नई दिल्ली। देश भर में पैसों के लेन-बाद के नोटबंदी देन में हो रही दिक्कतों को लेकर अब सरकार ने आधार कार्ड से जुड़े एक ऐसे एप को विकसित कर रही है। इसके लिए न तो आपको एटीएम जाने की जरूरत पड़ेगी और न ही पेटीएम जैसी किसी निजी कंपनी के एप को डाउनलोड करना पड़ेगा। आप इसके साथ ही एप के इस जरिए जो भी लेन-देन करेंगे वह सरकार की नजर में होगा और आपके खाते में जमा राशि भी सुरक्षित रहेगी। इस एप के विकसित होने के बाद आपको डेबिट कार्ड के इस्तेमाल करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।

हाल ही में मीडिया में आई खबरों के मुताबिक सरकार इस समय एक ऐसा आम मोबाइल फोन पप बनाने पर काम कर रही है, जिसका इस्तेमाल दुकानदार, कारोबारी और आम उपभोक्ता आधार-आधारित भुगतान के लिए कर सकेंगे। खास बात यह है कि इस एप के आ जाने के बाद आपको डेबिट कार्ड, पिन और पासवर्ड आदि को याद रखने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। इस मोबाइल एप में हैंडसेट में आधार-आधारित भुगतान प्रणाली का इस्तेमाल तभी किया जा सकता है, जब इसमें ग्राहक की बायोमीट्रिक जानकारी का प्रमाण आ जाएगा।

विशिष्ट पहचान प्राधिकार की योजना आधार के जरिए बायोमीट्रिक ऑथेंटिकेशन क्षमता को बढ़ाकर 40 करोड़ प्रतिदिन किया जा रहा है भारतीय। यदि ऐसा हो गया, तो सरकार कैशलेस अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को हासिल करने में इस प्लेटफॉर्म के रूप में इसका इस्तेमाल कर सकेगी। यूआईडीएआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अजय भूषण पांडेय ने कहा कहा कि यूआईडीएआई अपनी बायोमीट्रिक जानकारी के प्रमाणन की क्षमता को बढ़ाकर 40 करोड़ प्रतिदिन करेगा। 

साथ ही उनका कहना है कि हम लेन-देन के इस तरीके बारे में लोगों के बीच जागरूकता फैलायेंगे। हम अपनी प्रमाणन क्षमता को बढ़ाकर 40 करोड़ करेंगे। उन्होंने बताया कि बीते बुधवार को 1.31 करोड़ आधार आधारित बायोमीट्रिक प्रमाणन किये गये। वहीं, नीति आयोग के कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने बताया कि सरकार कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा देने और नकदी में सौदों को हतोत्साहित करने की दिशा में काम कर रही है।

यह भी पढ़े : Golden Rock ! आज भी अद्भुत तरीके से लटका हुआ ये पत्थर, दुनिया के लिए आज भी चमत्कार

यह भी पढ़े : विचित्र तरह के बच्चो का हो रहा जन्म, डॉक्टर खुद हैरान

यह भी पढ़े : गांव में दिखे अजीबोगरीब पैरों के निशान, बना डर का माहौल..!

यह भी पढ़े : जवाब नहीं ! चोरी के डर से घर को बना डाला लोहे का पिंजरा



0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.