राशिफल : 20 सितंबर : कैसा रहेगा आपके लिए बुधवार का दिन, जानने के लिए क्लिक करें देश और दुनिया के इतिहास में 20 सितंबर की महत्वपूर्ण घटनाएं सर्वे: अस्वस्थ जीवनशैली है यौन रोग का कारण... खाद्य पदार्थो में मिलावट को कैसे पता करें, जानिए... बुधवार के दिन गणेश जी की पूजा करने से होती है सभी मनोकामनाएं पूर्ण दोस्तों से अलग होने पर उदास मन को ऐसे करे फ्रेश.... अधिक चाय पीना सेहत के लिए हानिकारक इन बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है कुट्टू का आटा बालो को जब वाश करते समय रखें इन बातों का ख्याल तो इस कारण नहीं होती लड़कियों की शर्ट में पॉकेट शारीरिक कमजोरी को दूर करती है ये घरेलू चीजें सेहत के बहुत फायदेमंद है रात में नहाना अपने बालों को नया लुक देने के लिए यूज करे हेयर चॉक काम के दौरान तनाव सेहत के लिए खतरनाक एशियाई शेरनी महक का ऑपरेशन सफलतापूर्वक हुआ सम्पन्न एम एस सुब्बुलक्ष्मी एक अपूर्व और प्रतिष्ठित शख़्सियत थीं जिन्होंने सबको मंत्रमुग्ध कियाः उप राष्ट्रपति आस्ट्रेलिया दौरे: भारतीय महिला हॉकी टीम-ए का एलान, प्रीति करेगी कप्तानी फिल्म 'बागी-2' के लिए गंजे हुए टाइगर श्रॉफ बर्खास्तगी के बाद फिर दिखाने शुरू किए अपने तेवर : प्रदीप शर्मा अन्तर्राष्ट्रीय टैक्सटाईल एवं अपैरल फेयर ’’वस्त्र’’ में आयोजित होगा जयपुर डिजाइनर्स फेस्टिवल
मार्शल अर्जन सिंह के निधन पर राष्ट्रीय शोक को लेकर बवाल
sanjeevnitoday.com | Sunday, September 17, 2017 | 05:29:51 PM
1 of 1

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के एकलौते मार्शल अर्जन सिंह के निधन पर केंद्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय शोक की घोषणा न किए जाने पर सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने सवाल उठाए हैं। येचुरी ने रविवार को ट्वीट कर कहा कि जब मिलिट्री के सबसे सीनियर ऑफिसर का निधन हुआ, तो केंद्र सरकार को राष्ट्रीय शोक की घोषणा करनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ, क्यों?

यह भी पढ़े : बेटे की खातिर मां ने "निगला" सांप का जहर... फिर भी नहीं बचा उसकी सकी मौत!

एयर मार्शल अर्जन सिंह, 'स्लो स्टेप मार्च', डॉ. कलाम,कलाम सर,,एपीजे अब्दुल कलाम, पार्थिव शरीर, अंतिम दर्शन, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, latest National news, Hindi news

98 वर्षीय मार्शल अर्जन को दिल का दौरा पड़ने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वे 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के समय भारतीय सेना के प्रमुख थे जिसमें भारत की विजय में वायु सेना का योगदान अतुलनीय माना जाता है। वह स्विजरलैंड में भारत के राजदूत और केन्या में उच्चायुक्त पद पर रहे थे। उन्हें 1965 के युद्ध में बेहतरीन नेतृत्व करने के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। मार्शल अर्जन के अंतिम संस्कार का स्थान उनके पुत्र के आने के बाद तय होगा। उनके पुत्र अमेरिका में रहते हैं और उनके आज दोपहर बाद तक यहां पहुंच जाने की संभावना है।

यह भी पढ़े : भूल से मां के प्रेमी के बगल में जाकर सो गई बेटी फिर क्या हुआ जानिए...

बता देें कि अर्जन सिंह ने 1965 में पाकिस्तान के साथ हुई जंग में अहम भूमिका निभाई थी। वह भारतीय वायुसेना के अध्यक्ष बनने वाले सबसे कम उम्र के अधिकारी भी थे। 98 साल के मार्शल ऑफ इंडियन एयरफोर्स अर्जन सिंह भारत के ऐसे तीसरे सैन्य अधिकारी थे जिन्हें 2002 में राष्ट्रपति भवन में 85 साल की आयु में मार्शल ऑफ इंडियन एयरफोर्स का सम्मान दिया गया। उनके अलावा 1971 की जंग के नायक एसएचएफ जे मानेकशा और भारत के पहले थल सेनाध्यक्ष के एम करियप्पा को फाइव स्टार रैंक से सम्मानित किया गया है। इन दोनों सैन्य अधिकारियों को फील्ड मार्शल रैंक मिला है।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.