loading...
loading...
loading...
राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीरा कुमार ने किया नामांकन #ToiletEkPremKatha का पहला गाना HansMatPagli रिलीज इन अजीबोगरीब रेस्टोरेंट के बारें में सुनकर आपको भी आ जाएंगी हंसी मुंबई ब्लास्ट के दोषी मुस्तफा डोसा की हार्ट अटैक से मौत बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी के ममेरे भाई-भाभी की सड़क हादसे में मौत इस रेस्टोरेंट के बंद होने की वजह जानकर आप चौंक जाएंगे Video: सेंसर बोर्ड ने दी 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' के इस ट्रेलर को रिलीज़ की इजाजत आनंदपाल का शव लेने से परिजनों ने किया इंकार, अब पुलिस की निगरानी में होगा अंतिम संस्कार 31 अंक की बढ़ोतरी के साथ सैंसेक्स 30,989 अंक पर GST लॉन्च की तैयारी को लेकर संसद में आज होगा मेगा रिहर्सल इस पति ने अपनी पत्नी के साथ जो किया उसे सुनकर आप रह जाएंगे दंग मानसून मेगा सेल में Spice Jet दे रहा 699 रुपए में हवाई यात्रा करने का मौका श्वेता तिवारी की बेटी का ये हॉट फोटोशूट देख आप भी कहेंगे WOW GST को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल, 29 जून को होगी सुनवाई 'साथ निभाना साथिया' की गोपी बहु की तबियत ख़राब, हॉस्पिटल में हुइ एडमिट आपत्तिजनक हालत में पुलिस ने 35 लड़के-लड़कियों को किया गिरफ्तार नियम उल्लंघन मामले को लेकर 'लसिथ मलिंगा' पर लगा 6 महीने का प्रतिबंध 'द कपिल शर्मा शो' में कपिल का साथ देने आ रही है भारती सिंह पुजारी ने लड़की की आबरू को तार-तार करने की वारदात को दिया अंजाम 7वां वेतन आयोग: सरकारी कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोत्तरी पर 28 जून को लिया जा सकता है फैसला
दलित नेता रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 07:32:34 AM
1 of 1

नई दिल्ली। राष्ट्रपति पद के लिए किसी सर्वमान्य उम्मीदवार की पहचान पर NDA ने अपने उम्मीदवार का एलान करते हुए दलित नेता रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया  है । आज बीजेपी की बैठक में उनके नाम पर फैसला हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने रामनाथ कोविंद की उम्मीदवारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी बात की है। 

 

पीएम मोदी ने तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव से भी बात की जिसके बाद उन्होंने कोविंद के नाम पर सहमति बनी है। वहीं बीजेपी की बैठक के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉनफ्रेंस करके रामनाथ कोविंद के नाम का एलान किया। उन्होंने कहा कि विपक्ष को इस नाम के बारे में जानकारी दे दी गई है और उम्मीद है कि कोविंद के नाम पर सहमति बन जाएगी।


भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चुने जाने के बावजूद उन्होंने वकालत के पेशे में ही बने रहना पसंद किया। लेकिन, राष्ट्रपति पद के लिए उनके चयन का कारण उनका दलित नेता होना ही है, जिसे भाजपा बहुत महत्व देती है। 2012 में उत्तर प्रदेश के चुनाव में राजनाथ सिंह ने दलित क्षेत्रों में अभियान के लिए उनकी मदद ली थी। 


ये 1991 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए फिर 1994 और 2000 में उत्तरप्रदेश से राज्यसभा के लिए चुने गए। कोविंद लगातार 12 वर्ष तक राज्यसभा सांसद रहे। कोविंद कई संसदीय समितियों के सदस्य रहे। कोविंद बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रह चुके हैं, वो बीजेपी दलित मोर्चा और अखिल भारतीय कोली समाज के अध्यक्ष भी रहे। 8 अगस्त 2015 को उनकी बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्ति हुई। रामनाथ कोविंद वकील से लेकर राजनेता तक की भूमिकाओं में हमेशा कमजोर वर्ग के हक की लड़ाई लड़ते रहे हैं।

एनडीए में कोविंद के नाम पर सहमति बनाने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि रामनाथ कोविंद एक बेहतर राष्ट्रपति साबित होंगे। संविधान और कानून पर उनकी गहरी पकड़ा है, इससे देश को फायदा होगा। वो गरीबों और पिछड़ों की आवाज बनेंगे।

वहीं कांग्रेस ने कोविंद के नाम पर अपने पत्ते नहीं खोले हैं। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि पार्टी विपक्ष के दूसरे नेताओं से बात के बाद ही कोविंद के नाम पर फैसला लेगी। उधर शिवसेना का भी कहना है कि पार्टी बैठक के बाद ही कोविंद के नाम पर अपना रुख साफ करेगी।

लेफ्ट पार्टियों CPM और CPI ने राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद के नाम का विरोध किया है। CPM के मुताबिक कोविंद के नाम का चुनाव सर्वसम्मति से नहीं हुआ है।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.