रिलायंस जियो का धन धना धन पैक हुआ महंगा 399 की जगह देने होंगे 459 राष्ट्रपति कोविंद ने दीपावली की पूर्व संध्या पर देशवासियों को दी बधाई वीडियो : PM मोदी ने सेना के जवानों के साथ मनायी दिवाली मैरिलैंड के बिजनेस पार्क में हुई गोलीबारी में एक संदिग्ध बंदूकधारी गिरफ्तार कंधार में सेना के कैंप पर तालिबान ने किया आत्मघाती हमला, भारत ने दी कड़ी प्रतिक्रिया भारत से हमारी ऐसी दोस्ती 100 साल तक चले : अमेरिका मंदिर में दिया जलाने गये बालक को जिंदा जलाया... ईपीएफओ ने यूएएन को ऑनलाईन से आधार जोड़ने की नई सुविधा दी इस कुत्तें की कीमत जानकर आपके उड़ जाएंगे होश भ्रष्टाचार केस : नवाज शरीफ और उनकी बेटी-दामाद पर आरोप तय, हो सकती है जेल पिछले 80 सालों से दुकान में बंद है दुल्हन का मोम का पुतला यहां मन्नत पूरी होने पर श्रद्धालु कराते हैं बेड़नियों का नाच भारत में ही नहीं विश्व के इन देशो में भी मनाया जाता है दिवाली की त्यौहार पुराने सेकंड हैंड सोफे ने बना दिया लखपति, जानिए कैसे? दीपावली विशेष : जानिए, मां लक्ष्मी और गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि इस्लामिक स्टेट ने चोर को दी ऐसी खौफनाक सजा, देखें फोटोज विद्युत एमनेस्टी योजना : 31 दिसम्बर तक बकाया राशि एकमुश्त जमा कराने पर ब्याज व पेनल्टी में छूट अब एक और बाबा पर लगा अवैध सम्बन्ध का आरोप, उठाया ये खौफनाक कदम... रंजिश के चलते औरत को अगवा कर किया गैंगरेप, फिर प्राइवेट पार्ट... भाजपा की महिला नेता ने अपने ही पति पर लगाया अननैचुरल सैक्स का आरोप
दलित नेता रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 07:32:34 AM
1 of 1

नई दिल्ली। राष्ट्रपति पद के लिए किसी सर्वमान्य उम्मीदवार की पहचान पर NDA ने अपने उम्मीदवार का एलान करते हुए दलित नेता रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया  है । आज बीजेपी की बैठक में उनके नाम पर फैसला हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने रामनाथ कोविंद की उम्मीदवारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी बात की है। 

 

पीएम मोदी ने तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव से भी बात की जिसके बाद उन्होंने कोविंद के नाम पर सहमति बनी है। वहीं बीजेपी की बैठक के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉनफ्रेंस करके रामनाथ कोविंद के नाम का एलान किया। उन्होंने कहा कि विपक्ष को इस नाम के बारे में जानकारी दे दी गई है और उम्मीद है कि कोविंद के नाम पर सहमति बन जाएगी।


भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चुने जाने के बावजूद उन्होंने वकालत के पेशे में ही बने रहना पसंद किया। लेकिन, राष्ट्रपति पद के लिए उनके चयन का कारण उनका दलित नेता होना ही है, जिसे भाजपा बहुत महत्व देती है। 2012 में उत्तर प्रदेश के चुनाव में राजनाथ सिंह ने दलित क्षेत्रों में अभियान के लिए उनकी मदद ली थी। 


ये 1991 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए फिर 1994 और 2000 में उत्तरप्रदेश से राज्यसभा के लिए चुने गए। कोविंद लगातार 12 वर्ष तक राज्यसभा सांसद रहे। कोविंद कई संसदीय समितियों के सदस्य रहे। कोविंद बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रह चुके हैं, वो बीजेपी दलित मोर्चा और अखिल भारतीय कोली समाज के अध्यक्ष भी रहे। 8 अगस्त 2015 को उनकी बिहार के राज्यपाल के पद पर नियुक्ति हुई। रामनाथ कोविंद वकील से लेकर राजनेता तक की भूमिकाओं में हमेशा कमजोर वर्ग के हक की लड़ाई लड़ते रहे हैं।

एनडीए में कोविंद के नाम पर सहमति बनाने के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि रामनाथ कोविंद एक बेहतर राष्ट्रपति साबित होंगे। संविधान और कानून पर उनकी गहरी पकड़ा है, इससे देश को फायदा होगा। वो गरीबों और पिछड़ों की आवाज बनेंगे।

वहीं कांग्रेस ने कोविंद के नाम पर अपने पत्ते नहीं खोले हैं। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि पार्टी विपक्ष के दूसरे नेताओं से बात के बाद ही कोविंद के नाम पर फैसला लेगी। उधर शिवसेना का भी कहना है कि पार्टी बैठक के बाद ही कोविंद के नाम पर अपना रुख साफ करेगी।

लेफ्ट पार्टियों CPM और CPI ने राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद के नाम का विरोध किया है। CPM के मुताबिक कोविंद के नाम का चुनाव सर्वसम्मति से नहीं हुआ है।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.