loading...
ग्रामीण पट्टा वितरण अभियान के तहत 8 हरिजन परिवारों को निःशुल्क मिला मालिकाना हक पांच साल बाद 30 रुपए प्रति लीटर की दर से बिकेगा पेट्रोल सहारनपुर में अगर दोषियों को आड़े हाथ नहीं लिया गया तो जाम कर देंगे दिल्ली: भीम सेना सीनियर सैकण्डरी कला वर्ग का परीक्षा परिणाम शनिवार को बेहद खूबसूरत दिखने वाली इस हसीना ने रची थी खौफनाक साजिश, मिली फांसी की सजा यहां हर महीने लगभग 25 जानवरों की हो जाती है मौत, जानिए वजह अब चुनाव में नामांकन के लिए कर सकते है ऑनलाइन आवेदन भारत में लश्कर के 21 आतंकियों के आने की खबर, हाई अलर्ट जारी एक साथ आईं इतनी लाशें, 40 क्विंटल लकड़ी और एक हजार से ज्यादा कंडे से जल उठा श्मशान नारायण मूर्ति ने आईटी सेक्टर में कर्मचारियों को नौकरी से हटाए जाने पर जताया दुख किसान कृषि के साथ पशुपालन कर 12 मास पाएं रोजगार : जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री केजरीवाल कभी भी सत्येंद्र जैन से पल्ला झाड़ सकते है: कपिल मिश्रा आंध्र प्रदेश में दिनदहाड़े शख्‍स की हत्या, विडियो बनाते रहे लोग पर्यटन का दूसरा नाम आकर्षण: यूनुस खान सहारा समूह अपने तीन विदेशी होटलों की बिक्री के लिए कर रहा है बातचीत अनोखी परम्परा: यहां पर गोरा बच्चा पैदा करने पर किया जाता है ये काम... चैंपियंस ट्रॉफी 2017 : भारत के क्रिकेट योद्धा पहुचें इंग्लैंड, पहली जंग 1 जून से भारतीय लापता सुखोई-30 विमान का मिला मलबा, 2 पायलट थे सवार बेटे ने वृद्ध मां का गला घोंटकर की हत्या आज से भारत में बनी मर्सिडीज कारें हो जाएगी 7 लाख रुपए सस्ती
सोए शेर थे मोदी, लोगों ने उन्हें उकसाकर जगाया: अमर सिंह
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 02:56:42 PM
1 of 1

लखनऊ। अमर सिंह की समाजवादी पार्टी में जब से वापसी हुई है, पार्टी में रोज नया विवाद जन्म ले रहा है। कभी अखिलेश उन्हें दलाल करार देते हैं, तो कभी रामगोपाल उन्हें मतलबी बताते हैं। बावजूद इसके अमर खुद को मुलायमवादी बताते हुए तमाम हमले को झेल रहे हैं। लेकिन परसों उनके सब्र का बांध टूटा और वे यह कह बैठे कि मैं किसी का गुलाम नहीं हूं कि सब कुछ सहता रहूंगा। उन्होंने नोटबंदी पर अलग स्टैंड लिया और मुलायम से मिलने भी पहुंचे, लेकिन मुलायम से मिलते ही उनका रुख नरम पड़ गया।

आखिर क्यों मुलायम से मिलते ही अमर का रवैया मुलायम हो जाता है? क्या है उनका अखिलेश से विवाद? इन तमाम बातों पर उन्होंने नवभारत टाइम्स के संवाददाता से बातचीत की। मुलायम सिंह यादव ने अपने मुलाकात पर स्पष्टीकरण देते हुए अमर सिंह ने कहा कि यह कोई खबर नहीं है। मैं उनसे मिलता रहता हूं, हां मैंने नोटबंदी का समर्थन किया है, जिसको लोग गलत ढंग से प्रचारित कर रहे हैं। मैंने उनसे इस बात में बात की। 

उन्होंने कहा कि मैं कोई ऐसी बात नहीं करता हूं जो मुलायम सिंह के मन की बात ना हो, उन्होंने सबसे कहा था कि हम कालेधन का अंत चाहते हैं। उन्होंने नोटबंदी पर नरेंद्र मोदी की तारीफ की और कहा मैं हृदय से उनका इस निर्णय के लिए अभिनंदन करता हूं। मोदी ने सबको एक मौका दिया है कालेधन से मुक्त होने का। लोगों ने उन्हें उकसाया भी है। कालेधन को लेकर, ऐसे में सोया शेर जाग गया है और दहाड़ रहा है और सामने आने वाले को खायेगा ही। 

अखिलेश यादव पर अमर सिंह ने कुछ भी टिप्पणी करने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि वे मेरे भाई मुलायम के बेटे हैं, लेकिन उन्होंने सीएम अखिलेश की खिंचाई की और कहा कि उनके राज्य में भ्रष्टाचार है। कांग्रेस के साथ गठबंधन पर अमर सिंह ने कहा कि पार्टी मेरी हैसियत जीरो है बट्टा सन्नाटा है। मैं बताना चाहता हूं कि मैं पार्टी का घोषित झंडूबाम हूं। पार्टी में मुलायम की भी बात नहीं सुनी जाती है। वे चाहते थे गठबंधन हो, लेकिन रामगोपाल नहीं चाहते थे, अखिलेश को भी लगता है कि उसने इतना विकास किया है जिससे सारी सीट उसे मिल जायेगी, तो गठबंधन नहीं हुआ।

यह भी पढ़े:2020 तक एड्स का रामबाण इलाज संभव, बनेगी जड़ से ख़त्म करने वाली दवा

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप
यह भी पढ़े:ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार
यह भी पढ़े:चीन की विष कन्‍याएं ISIS और ब्रिटेन के लिए बन रही खतरा ...जानिए कौन है ये

 



FROM AROUND THE WEB

1 comments

  • S.S.RAWAT   29/11/2016

    Dear sir, I think mostly news were old.

    (0)
Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.