राष्ट्रपति भवन राष्ट्रीय संस्थान है और सभी देशवासियों से सम्बद्ध : राष्ट्रपति PoK में लगे आजादी के नारे, कहा- पाक भेजता है आतंकी अजहर ने कहा- लोढ़ा समिति के सुझावों पर अमल नहीं एचसीए परिवार का शक्ति प्रभाव दांबुला वनडे: अभ्यास के दौरान धोनी-विराट में हुई टक्कर शक के चलते फौजी ने अपनी पत्नी को उतारा मौत के घाट द्रोणाचार्य अवार्ड की सूची से सत्यनारायण राजू का नाम ख़ारिज मुजफ्फरनगर में ट्रैन हादसा, कलिंग उत्कल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे उतरे पटरी से राजनीती के पितामह रहे सत्यमूर्ति का जन्मदिन आज ग्रीनपार्क स्टेडियम की बिजली गुल, खिलाडी हुए बेघर, बाहर गुजारी रात जब कैमरे के सामने असहज दिखे ‘दीपवीर’, जानिए यह थी वजह जन्मदिन विशेष : भारत के नवें राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा सिनसिनाटी ओपन: भारतीयों का सफर खत्म, सानिया मिर्जा-बोपन्ना हारे स्पेन आतंकी हमला में जारी हुए संदिग्धों के नाम, 14 की गई थी जान छेड़छाड़ का विरोध करना पड़ा भारी, बदमाश ने लड़की को मारे लात घुसे ओवैसी के पार्षदों और शिव सेना नेताओ में वंदे मातरम् को लेकर हाथापाई 2019 के वर्ल्ड कप में खेलने के लिए श्रीलंका टीम को जितने होंगे 2 मैच सुशांत और सारा की फिल्म 'केदारनाथ' का पहला मोशन पोस्‍टर रिलीज सृजन घोटाले में सहकारिता अधिकारी पंकज झा गिरफ्तार नडाल पराजित होने के बाद भी बनेंगे नंबर वन
PM से मिली कश्मीर की महबूबा, कहा - J-K के विशेष दर्जे पर कोई समझौता नहीं
sanjeevnitoday.com | Friday, August 11, 2017 | 06:24:53 PM
1 of 1

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आर्टिकल 35ए को लेकर चल रही बहस के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। पीएम से मिलने के बाद मुफ्ती ने कहा कि हमारे एजेंडे में यह तय था कि आर्टिकल 370 के तहत राज्य को मिल रहे स्पेशल स्टेटस में कोई बदलाव नहीं होगा। पीएम ने भी इस मुद्दे पर सहमति जताई है। उन्होंने कहा कि 35ए के हटने से राज्य में निगेटिव मैसेज जाएगा, जिससे राज्य में काफी असर पड़ेगा, हमारे राज्य में काफी विविधताएं हैं। मुफ्ती ने कहा कि अब 35ए के दोबारा चर्चा में आने से लोग फिर चिंतित हो रहे हैं। 

वहीं उन्होंने 35ए के मुद्दे पर कहा कि राज्य में स्थिति सुधर रही है, उसके लिए कई तरह के निर्णय लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि 35 ए के हटने से राज्य में निगेटिव मैसेज जाएगा, जिससे राज्य में काफी असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हमारे राज्य में काफी विविधताएं हैं। पिछले वर्ष राज्य में हालात काफी बिगड़े थे, अब 35ए के दोबारा चर्चा में आने से लोग फिर चिंतित हो रहे हैं। 

यह भी पढ़े: इन अजीबोगरीब तस्वीरों को देख आप भी रह जाएंगे हैरान

आपको बता दे कि इस धारा को दिल्ली के एनजीओ वी द सिटिजन्स ने सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी है, जिस पर केंद्र सरकार ने बीते महीने कहा कि इस धारा को असंवैधानिक घोषित करने के लिए इस मुद्दे पर पर्याप्त बहस करने की जरूरत है। एनजीओ ने दलील दी है कि राष्ट्रपति 1954 के आदेश से संविधान में संशोधन नहीं कर सकते और इसे एक अस्थायी प्रावधान माना जाना चाहिए। जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा गुरुवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी इस मामले को लेकर मिलीं। 

क्या है 35ए
साल 1954 में 14 मई को राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने एक आदेश पारित किया था। इस आदेश के जरिए संविधान में एक नया अनुच्छेद 35 A जोड़ दिया गया। आर्टिकल 370 के तहत यह अधिकार दिया गया है। जिसके तहत जम्मू एवं कश्मीर के नागरिकों को विशेष अधिकार एवं सुविधाएं दी गई हैं। साथ ही यह अनुच्छेद राज्य के नीति निर्माताओं को राज्य के लिए कानून बनाने की पूरी अजादी देता है, जिसे कानूनी तौर पर चुनौती भी नहीं दी जा सकती।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.