देश और दुनिया के इतिहास में 28 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं जानिए खीरे के स्वास्थ्यवर्द्धक और सौन्दर्यवर्द्धक गुण किशमिश स्वास्थ्य के लिए बड़ी ही लाभदायक लगातार ब्रैड के सेवन से स्वास्थ्य के लिए हानिकारक इस तरह करे प्याज का सेवन, होंगे अनेक फायदे रोजाना खाली पेट लहसुन खाने के फायदे जान दंग रह जाएंगे आप... अपहरण के बाद पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी अवैध शराब सहित तीन आरोपी गिरफ्तार स्वाइन फ्लू की दस्तक से हिल गया स्वास्थ्य विभाग व्यापार और घर में भी धर्म का पालन करना जरूरी मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरुक करने की जरुरत बच्चों के स्वास्थ्य की जांच करेगी मोबाइल हेल्थ टीम डॉ.पीके शर्मा ने कहा- स्वास्थ्य की तरह मिट्टी की जांच भी करवानी जरूरी प्रतापगढ़ जिले के कल्पेश राज सोनी को मिला ग्लोबल बिजनेस लीडरशिप अवार्ड राहुल जौहरी को एसजीएम से बाहर करने पर बीसीसीआई पदाधिकारियों को नोटिस SSC CGL 2017 के Admit Card जारी PM मोदी ने भारतीय महिला टीम से की मुलाकात, कहा- 125 करोड़ भारतीयों ने उठाया हार का बोझ ससुराल वालों की प्रताड़ना से परेशान युवक ने खाया जहर, मौत सभी पाठ्यपुस्तकें राज्य के SIRT द्वारा तैयार पाठ्यक्रम के अनुरूप हो: वासुदेव देवनानी सस्ते फ्लैट का झांसा देकर करोड़ों की ठगी करने वाला एक ग‌िरफ्तार
मीडिया को स्व-नियामक तंत्र विकसित करना चाहिए : पंजाब राज्यपाल
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 05:28:14 PM
1 of 1

चंडीगढ़। सूत्रों के अनुसार  पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बंदोर ने आज कहा कि सरकार के समक्ष जनता से जुड़े मुद्दों की ‘‘सही तस्वीर’’ पेश करने के लिए मीडिया को एक स्व-नियामक तंत्र विकसित करना चाहिए। क्षेत्रीय संपादकों के दो दिवसीय सम्मेलन के उद्घाटन पर आज उन्होंने कहा, ‘‘आम आदमी से जुड़े मुद्दों को उठाने एवं उनका हल तलाशने में मीडिया की भूमिका बेहद अहम है।’’ ‘पेड न्यूज’ का हवाला देते हुए बंदोर ने कहा कि इस तरह के खतरे पर लगाम लगाने के लिए मीडिया को सख्त कदम उठाने चाहिए। बदनोरे चंडीगढ़ केंद्र प्रशासित राज्य के प्रशासक भी हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

चंडीगढ़ में बुनियादी ढांचा में सुधार के लिए उन्होंने लोगों से सुझाव मांगे और यह भी कहा कि प्रशासन को इस तरह के सुझाव मुहैया कराने में मीडिया को अहम भूमिका निभानी चाहिए। पीआईबी के महानिदेशक एपी फ्रेक नरोन्हा ने कहा, ‘‘सरकार का मानना है कि विकास के उसके एजेंडा में मीडिया एक अहम भूमिका निभा सकता है।’’ दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान छह केंद्रीय मंत्रालयों - गृह मंत्रालय, महिला एवं बाल विकास, सड़क परिवार एवं राजमार्ग, उपभोक्ता मामले एवं जन वितरण, पूर्वोत्तर क्षेत्र के कृषि एवं किसान कल्याण तथा विकास ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय, त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम और चंडीगढ़ सहित उत्तर एवं पूर्वोत्तर राज्यों के संपादकों ने हिस्सा लिया था। वहां उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों में गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े : VIDEO: जतन था पेट भरने का किन्तु नसीब ऐसा की भर गई तिजोरी

यह भी पढ़े : ओह! तो महिलाएं इस वजह से भी करती हैं ऑर्गैजम का नाटक...!



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.