जयललिता: संध्या से अम्मा बनने तक का सफर.. मैं संभवत पढ़ाकू हूं, अक्षय बेहद स्मार्ट हैं: ट्विंकल खन्ना तेलंगाना: मेडिकल पेपर लीक मामले में बिहार के 3 लोग गिरफ्तार गौरी खान की लंदन इवेंट की तस्वीरें देख शाहरुख के भी होश उड़ जाएंगे Video डांसर की मौत: सच सामने होते हुए भी आरोपियों को नहीं पकड़ पायी पुलिस, परिजनों ने पुलिस पर लगाया आरोप श्रद्धा कपूर हर महीने कर रही हैं लाखों खर्च, जानिए क्यों मोदी के खिलाफ चुनाव याचिका पर जज ने शुरू किया फैसला लिखाना इसलिए थी जयललिता और मोदी की नजदीकियां नोटबंदी से परेशान श्रमिकों ने घंटों तक सड़क को जाम रखा करीना कपूर ने अनिल कपूर को दी ये धमकी! हेरबर्ट: जो टीमें नाकाम रही, सही संयोजन न बना पाना रहा है! मुंबई। गोदी से निकलते वक्त झुका नौसैन्य पोत बेतवा, दो कर्मियों की मौत, 15 घायल नाभा जेल ब्रेकः एक और गिरफ्तार, नौ दिसम्बर तक पुलिस रिमांड अदिति अशोक ने एलपीजीए में खेलने के आंशिक अधिकार हासिल किए कार में आग लगने से चार दोस्तों की झुलसने से मौत एक ही घर से उठी 9 अर्थियां, सिहर उठे लोग मौद्रिक नीति की समीक्षा कल , रेपो रेट कम हो सकती है जम्मू में यूडीपी अध्यक्ष को गोली मारी, आरोपी फरार भारत के पारिख ने गिलक्रिस्ट को हराकर उलटफेर किया Video: बठिंडा में डांसर की मौत के मामले में एक युवक गिरफ्तार
मीडिया को स्व-नियामक तंत्र विकसित करना चाहिए : पंजाब राज्यपाल
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 05:28:14 PM
1 of 1

चंडीगढ़। सूत्रों के अनुसार  पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बंदोर ने आज कहा कि सरकार के समक्ष जनता से जुड़े मुद्दों की ‘‘सही तस्वीर’’ पेश करने के लिए मीडिया को एक स्व-नियामक तंत्र विकसित करना चाहिए। क्षेत्रीय संपादकों के दो दिवसीय सम्मेलन के उद्घाटन पर आज उन्होंने कहा, ‘‘आम आदमी से जुड़े मुद्दों को उठाने एवं उनका हल तलाशने में मीडिया की भूमिका बेहद अहम है।’’ ‘पेड न्यूज’ का हवाला देते हुए बंदोर ने कहा कि इस तरह के खतरे पर लगाम लगाने के लिए मीडिया को सख्त कदम उठाने चाहिए। बदनोरे चंडीगढ़ केंद्र प्रशासित राज्य के प्रशासक भी हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

चंडीगढ़ में बुनियादी ढांचा में सुधार के लिए उन्होंने लोगों से सुझाव मांगे और यह भी कहा कि प्रशासन को इस तरह के सुझाव मुहैया कराने में मीडिया को अहम भूमिका निभानी चाहिए। पीआईबी के महानिदेशक एपी फ्रेक नरोन्हा ने कहा, ‘‘सरकार का मानना है कि विकास के उसके एजेंडा में मीडिया एक अहम भूमिका निभा सकता है।’’ दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान छह केंद्रीय मंत्रालयों - गृह मंत्रालय, महिला एवं बाल विकास, सड़क परिवार एवं राजमार्ग, उपभोक्ता मामले एवं जन वितरण, पूर्वोत्तर क्षेत्र के कृषि एवं किसान कल्याण तथा विकास ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय, त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम और चंडीगढ़ सहित उत्तर एवं पूर्वोत्तर राज्यों के संपादकों ने हिस्सा लिया था। वहां उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों में गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े : VIDEO: जतन था पेट भरने का किन्तु नसीब ऐसा की भर गई तिजोरी

यह भी पढ़े : ओह! तो महिलाएं इस वजह से भी करती हैं ऑर्गैजम का नाटक...!



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.