गुजरात चुनाव: आंतरिक गुटबाजी और पीएएएस की वजह से कांग्रेस की सूची में विलंब बुन्देलखण्ड को औद्योगिक हब बनाएगी योगी सरकार: मौर्य बद्रीनाथ के कपाट शीतकाल के लिए बंद पद्मावती, आईएफएफआई विवाद पर हंसल मेहता निराश ISL 2017: गोवा एफसी ने 3-2 से चेन्नईयन एफसी को चटाई धूल व्हाट्सएप पर पोस्ट डालना अधिकारी को पड़ा महंगा, गवानी पड़ी कुर्सी गांव में हो रही है राजपाल यादव की बेटी की शादी, बैंक मैनेजर है दामाद करुणामय संसार बनाने के लिए भारत-चीन को मिलकर करना होगा काम: दलाई लामा एशियन कबड्डी चैंपियनशिप: पुरुष व महिला की टीमें घोषित, हिमालय के 4 खिलाडी शामिल विश्व शौचालय दिवस : स्वच्छ भारत मिशन ने मनाया शौचालय दिवस VVS लक्ष्मण की ड्रीम टेस्‍ट टीम घोषित, जानिए टीम के 11 सदस्य बरेली पुलिस ने अपराध होने से पहले आरोपियों को किया गिरफ्तार प्रति व्यक्ति औसत GDP के लिहाज से भारत ने लगाई छलांग, पहुंचा 126 वें स्थान पर अंडर-19 एशिया कप में पाक को हराकर अफगानिस्‍तान बना चैम्पियन जिम्बाब्वे: रॉबर्ट मुगाबे की पार्टी प्रमुख पद से की छुट्टी, एमर्सन नांगाग्वा संभालेंगे कमान सरहदी नागरिकों ने राजस्थान की तर्ज पर एंट्री टैक्स को माफ करने की मांग उठाई ऐसा होगा राजस्थान पुलिस परीक्षा का पैटर्न, पढ़िए पूरी खबर आमिर व सैफ अली खान के अलावा करीना कपूर भी है लव जिहाद का शिकार मार्च 2018 तक कोई नई नियुक्ति नहीं: एसोचैम कांग्रेस और पाटीदार नेताओं के बीच आरक्षण पर बनी सहमति, आज उम्मीदवारों की पहली लिस्ट
मीडिया को स्व-नियामक तंत्र विकसित करना चाहिए : पंजाब राज्यपाल
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 05:28:14 PM
1 of 1

चंडीगढ़। सूत्रों के अनुसार  पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बंदोर ने आज कहा कि सरकार के समक्ष जनता से जुड़े मुद्दों की ‘‘सही तस्वीर’’ पेश करने के लिए मीडिया को एक स्व-नियामक तंत्र विकसित करना चाहिए। क्षेत्रीय संपादकों के दो दिवसीय सम्मेलन के उद्घाटन पर आज उन्होंने कहा, ‘‘आम आदमी से जुड़े मुद्दों को उठाने एवं उनका हल तलाशने में मीडिया की भूमिका बेहद अहम है।’’ ‘पेड न्यूज’ का हवाला देते हुए बंदोर ने कहा कि इस तरह के खतरे पर लगाम लगाने के लिए मीडिया को सख्त कदम उठाने चाहिए। बदनोरे चंडीगढ़ केंद्र प्रशासित राज्य के प्रशासक भी हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

चंडीगढ़ में बुनियादी ढांचा में सुधार के लिए उन्होंने लोगों से सुझाव मांगे और यह भी कहा कि प्रशासन को इस तरह के सुझाव मुहैया कराने में मीडिया को अहम भूमिका निभानी चाहिए। पीआईबी के महानिदेशक एपी फ्रेक नरोन्हा ने कहा, ‘‘सरकार का मानना है कि विकास के उसके एजेंडा में मीडिया एक अहम भूमिका निभा सकता है।’’ दो दिवसीय कार्यक्रम के दौरान छह केंद्रीय मंत्रालयों - गृह मंत्रालय, महिला एवं बाल विकास, सड़क परिवार एवं राजमार्ग, उपभोक्ता मामले एवं जन वितरण, पूर्वोत्तर क्षेत्र के कृषि एवं किसान कल्याण तथा विकास ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय, त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम और चंडीगढ़ सहित उत्तर एवं पूर्वोत्तर राज्यों के संपादकों ने हिस्सा लिया था। वहां उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों में गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।

यह भी पढ़े : VIDEO: जतन था पेट भरने का किन्तु नसीब ऐसा की भर गई तिजोरी

यह भी पढ़े : ओह! तो महिलाएं इस वजह से भी करती हैं ऑर्गैजम का नाटक...!



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.